पाकिस्तान के गुरुद्वारों में दर्शन के लिए गए भारतीय सिखों का जत्था फंसा, उच्चायोग संपर्क में

नई दिल्लीः बैसाखी के मौके पर गुरुद्वारों के दर्शन के लिए पाकिस्तान पहुंचा श्रद्धालुओं का जत्था हसनाबदल गुरुद्वारा पंजा साहिब नहीं पहुंच पाया. पाकिस्तान में जारी प्रदर्शन के कारण यह जत्था फंस गया और आगे नहीं जा सका. हसनाबदल गुरुद्वारा पंजा साहिब नहीं पहुंच पाने के कारण इन श्रद्धालुओं को लाहौर के गुरुद्वारा डेरा साब लाया गया है. भारतीय उच्चायोग लगातार श्रद्धालुओं से संपर्क बनाए हुए हैं. वहीं पाकिस्तान से इन कहा है कि इन श्रद्धालुओं के लिए बेहतर इंतजाम किए जाएं.

व्यवधान को लेकर भारतीय उच्चायोग ने बताया है कि श्रद्धालुओं को पंजा साहिब पहुंचना था, लेकिन वो बंद रास्तों के चलते वहां नहीं जा सके. भारतीय उच्चयोग श्रद्धालुओं से संपर्क में है.सूत्रों ने बताया है कि तहरीक-ए-लाबिक पाकिस्तान के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं इस कारण श्रद्धालुओं की आवाजाही संभव नहीं है.

टीएलपी का विरोध प्रदर्शन

बता दें कि पाकिस्तान की पुलिस ने टीएलपी के बड़े नेता को गिरफ्तार कर लिया है. अपने नेता की गिरफ्तारी के विरोध में समर्थक देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन कर रहे हैं. इस कारण कई सड़कें बाधित हो गई है.

भारतीय सिखों का ये जत्था पाकिस्तान के अलग अलग सिख तीर्थस्थलों पर जाएगा जिसमें ननकाना साहिब भी शामिल हैं. पाकिस्तान जाने से पहले इन सभी यात्रियों की कोरोना जांच की गई थी. जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही इन्हें वहां भेजा गया.

सोमवार को हुए थे रवाना

सभी यात्री सोमवार को पाकिस्तान के लिए रवाना हुए थे. श्रद्धालुओं का यह जत्था 22 अप्रैल को भारत लौट आएगा. इस बात की जानकारी शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी यानि एसजीपीसी के सेक्रेटरी मोहिंदर सिंह आहिल ने दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!