लॉकडाउन से पहले सब्जी-फल की मारामारी:​​​​​​​मंडियों में भीड़; आलू 50 रुपए, गिलकी 100 रुपए तक बिकी; सब्जी और फल दो से तीन गुना महंगे हुए

प्रदेश के सभी शहरी क्षेत्रों में आज शाम 6 बजे से 60 घंटे तक लॉकडाउन लग रहा है। इसके पहले लोग सब्जी, फल और किराने की खरीदारी के लिए बाजार और मंडियों में उमड़ पड़े। इंदौर, रतलाम, छिंदवाड़ा में सब्जियां 2 से 3 गुना तक महंगी बिक रही हैं। इंदौर में गिलकी 100 रुपए किलो तक बिकी। रतलाम में आलू के दाम 50 रुपए किलो तक पहुंच गए। उधर, छिंदवाड़ा में सेब 240 रुपए किलो तक बिका।

शुक्रवार सुबह से ही सब्जी मंडी में भीड़ उमड़ पड़ी। लोग सब्जी खरीदने सुबह 5 बजे से ही मंडी पहुंचने लगे थे। सुबह 7 बजते-बजते पूरा मंडी परिसर खचाखच भर चुका था। खरीदारों को देख रेट डबल से ट्रिपल हो गए। जो गिलकी एक दिन पहले तक 40 से 50 रुपए किलो बिक रही थी। वह बढ़कर 100 रुपए तक पहुंच गई। 10 रुपए बिकने वाला टमाटर 20 तो नींबू 100 से 120 रुपए किलो तक बिका। आलू-प्याज की तो हालत ऐसी थी कि कट्टे खुलते ही खत्म हो जाते।

सुबह से ही सब्जी की खरीदारी के लिए लोगों में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। आलू 50 से 60 रुपए किलो, टमाटर 40 रुपए किलो और हरी सब्जियां 80 से 120 रुपए किलो तक मिल रही हैं। वहीं, आम 100 रुपए किलो, तरबूज और खरबूज 30 रुपए किलो तक मिल रहे हैं। राशन की सामग्री में भी शक्कर और दालों के भाव में तेजी आ गई है। बहरहाल शहर में लोगों के बीच खरीदारी को लेकर मची अफरा-तफरी को रोकने के लिए प्रशासन ने राशन, फल-सब्जी, दूध के वितरण को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!