राफेल विवाद: भारतीय कंपनी ने आरोपों को बताया निराधार- कहा, दासौ को की थी राफेल के मॉडल की आपूर्ति

नई दिल्ली, । भारत की एक कंपनी ने मंगलवार को कहा कि उसने राफेल लड़ाकू विमान के 50 मॉडलों की आपूर्ति इसके निर्माता दासौ एविएशन को की थी। इससे एक दिन पहले फ्रांस के मीडिया में विमान सौदे की एक खबर आने पर नए सिरे से विवाद पैदा हो गया था।

फ्रांसीसी प्रकाशन मीडियापार्ट ने देश की भ्रष्टाचार-रोधी एजेंसी की एक जांच का हवाला देते हुए बताया कि दासौ एविएशन ने विमान के 50 मॉडलों के लिए डिफसिस सॉल्यूशंस को लगभग 10 लाख यूरो का भुगतान किया था, जिन्हें उपहार के रूप में दिया जाना था। मीडिया की खबर में कहा गया है कि एजेंसी फ्रांसेसे एंटिकॉरप्शन (एएफए) के निरीक्षकों को इस बात का कोई सुबूत नहीं दिया गया कि ये मॉडल बनाए गए थे।

डिफसिस सॉल्यूशंस ने मंगलवार को एक बयान और टैक्स इनवॉइस जारी करते हुए कहा कि आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। कंपनी ने एक बयान में कहा, यह दावा पूरी तरह से निराधार, बेबुनियाद और भ्रामक है, जिसमें यह कहा गया है कि डिफसिस ने कभी भी राफेल विमानों के 50 मॉडल की आपूíत नहीं की। कंपनी ने कहा कि रक्षा कंपनी से प्राप्त खरीद आर्डर के आधार पर राफेल विमानों के 50 मॉडल दासौ एविएशन को पहुंचाए गए थे।

कंपनी ने कहा, ऐसी आपूर्ति से संबंधित डिलीवरी चालान, ई-वे बिल और जीएसटी रिटर्न संबंधित अधिकारियों के साथ विधिवत दाखिल किए गए हैं। मीडियापार्ट ने अपनी खबर में कहा, दासौ समूह एएफए को यह दिखाने के लिए कि एक भी दस्तावेज मुहैया नहीं करा पाया कि ये मॉडल मौजूद थे और इनकी आपूíत की गई थी, एक तस्वीर भी नहीं। निरीक्षकों को संदेह है कि यह एक फर्जी खरीद थी, जिसे गुप्त वित्तीय लेन-देन को छिपाने के लिए तैयार किया गया था।

राहुल बोले, कर्म किए-कराए का बहीखाता, कोई बच नहीं सकता

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे में एक बिचौलिये को भुगतान किए जाने के दावे संबंधी फ्रांसीसी मीडिया की खबर को लेकर सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा, कर्म किए-कराए का बहीखाता और इससे कोई बच नहीं सकता।

साजिश रचकर यूपी से पंजाब गया था मुख्तार, जेल में सजाता था दरबार

बाहुबली मुख्तार अंसारी को आज सुबह साढ़े चार बजे कड़ी सुरक्षा के बीच पंजाब से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल लाया गया है. मुख्तार अंसारी को जेल की बैरक नंबर 16 में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है. यूपी में मुख्तार अंसारी पर 52 मुकदमे दर्ज हैं. जिसमें से सबसे बड़ा मामला बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या का है. जानिए मुख्तार अंसाली यूपी से पंजाब की जेल कैसे पहुंचा. साथ ही जानिए वह कैसे साजिश बनाकर अपराध को अंजाम देता था.

साजिश रचकर यूपी से पंजाब गया मुख्तार

योगी सरकार में होती ताबड़तोड़ कार्रवाइयों से त्रस्त माफिया मुख्तार अंसारी खुद को यूपी की बांदा जेल में सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा था, तब उसने बड़ी तरकीब से वहां से निकलने का प्लान बनाया. जनवरी 2019 में मुख्तार के नाम से पंजाब के 6390407709 नंबर से पंजाब के बिल्डर उमंग को फोन किया गया. बिल्डर ने आरोप लगाया कि उनसे 10 करोड़ की रंगदारी मांगी गई है और रंगदारी ना देने पर जान से मारने की धमकी भी.

इसके बाद पंजाब पुलिस ने मोहली में मामला दर्ज कर लिया और केस दर्ज होते ही प्रोडक्शन वारंट लेकर पंजाब से पुलिस टीम यूपी पहुंच गई और ये तक नहीं जानने की कोशिश कि मुख्तार ने फोन किया था या नहीं? आवाज का नमूना तक नहीं मिलाया गया. बांदा कोर्ट से परमीशन ली गई और यूपी पुलिस ने बिना सोचे-समझे 21 जनवरी 2019 को मुख्तार को पंजाब जाने दिया. मुख्तार को रोकने की दलीलें तब यूपी पुलिस ठीक से नहीं दे पाई. 24 जनवरी 2019 को मुख्तार को मोहाली कोर्ट में पेश किया गया और उसके बाद मुख्तार अंसारी का नया ठिकाना पंजाब की रोपड़ जेल बन गई.

जेल में रहते हुए भी अपना दरबार सजाया करता था मुख्तार

मुख्तार पिछली सरकारों में यूपी के जेल में रहते हुए भी अपना दरबार सजाया करता था. जेल में रहते हुए मोबाइल रखना तो मुख्तार के लिए बहुत मामूली बात थी. यहां तक कि जिस दिन साल 2005 में बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की गाजीपुर में हत्या हुई, उस वक्त भी गाजीपुर जेल में बंद मुख्तार के पास मोबाइल था और फैजाबाद जेल में बंद अपने सहयोगी माफिया अभय सिंह को हत्या की जानकारी दे रहा था.

दरअसल बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय चोटी रखा करते थे और मुख्तार अपने सहयोगी अभय सिंह को ये बताते हुए पाया कि कृष्णानंद राय की हत्या कर उनकी चोटी काट ली गई. हालांकि सबूतों के अभाव में मुख्तार अंसारी को कृष्णानंद राय की हत्या के मामले में निचली अदालत से बरी किया जा चुका है. कृष्णानंद राय की हत्या का मामला अब इलाहाबाद हाईकोर्ट में लंबित है.

यूपी भेजने पर पंजाब पुलिस लगाती थी अड़ंगा!

यूपी सरकार ने मुख्तार को वापस लाने की कुछ नहीं तो कम से कम 40 बार कोशिश की होगी लेकिन पंजाब सरकार की सरपरसत्ती में हर बार अड़ंगा लगा दिया जाता था. दर्जनों बार पंजाब पुलिस ने मुख्तार को मेडिकली अनफिट बताकर यूपी नहीं भेजा. कभी सुगर तो कभी बीपी, तो कभी डॉन को डिप्रेशन का शिकार बताया गया.

अकेले यूपी में ही मुख्तार अंसारी पर 52 मुकदमे दर्ज हैं. जिसमें से सबसे बड़ा मामला बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या का है. इसके अलावा हत्या, रंगदारी से लेकर कई मामलों में मुख्तार पर केस है. एक मार्च 2006 का एक और ऑडियो टेप इस बात की पुष्टि करता है कि जेल में बैठकर कर ही वो अपने शॉर्प शूटर मुन्ना बजरंगी से एक हत्या की बात कर रहा था.

बैरक नंबर 15 बना मुख्तार का नया ठिकाना

इसी साल 26 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार को यूपी भेजने का फैसला सुनाया था. इसके बाद यूपी पुलिस पंजाब पहुंची और आज मुख्तार को बांदा जेल लाया गया. मुख्तार को बैरक नंबर 15 में रखा गया है. मुख्तार के लिए जेल में खास सेल बनाई गई है. मुख्तार के खाने की जांच को लेकर भी खास निर्देश दिए गए हैं.

जानिए भारत के अगले मुख्य न्यायाधीश नियुक्‍त हुए जस्‍ट‍िस रमणा के बारे में, किसान परिवार में लिया जन्‍म, की है ये पढ़ाई

24 अप्रैल 2021 की सुबह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जस्टिस नातुलापति वेंकट रमणा को सीजेआई पद की शपथ दिलाएंगे. इस समारोह के फौरन बाद जस्टिस रमणा सुप्रीम कोर्ट आकर पद संभालेंगे. कठ‍िन परिस्‍थ‍ित‍ियों में भी हार न मानने वाले जस्‍ट‍िस रमणा की कहानी सभी को प्रेरित करने वाली है. आइए जानें उनके बारे में ये खास बातें…

जस्टिस नातुलापति वेंकट रमणा का जन्‍म 27 अगस्त, 1957 को आंध्र प्रदेश में कृष्णा जिले के पुन्नावरम गांव में हुआ था. उनके घर में किसानी का पेशा था. बचपन से ही पढ़ाई में खास रुचि रखने वाले  जस्टिस नाथुलापति वेंकट रमणा ने विज्ञान और कानून में स्नातक की उपाधि हासिल की.

इसके बाद उन्होंने आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट, केंद्रीय प्रशासनिक ट्राइब्यूनल और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की. सुप्रीम कोर्ट में उनका कार्यकाल 26 अगस्त, 2022 तक है. यानी वो दो साल से भी कम समय के लिए CJI के पद पर रहेंगे, लेकिन उनके जीवन के लिए यह वाकई ऐतिहासिक पल होगा.

10 फरवरी 1983 को एनवी रमणा ने वकील के तौर पर करियर शुरु किया.  27 जून 2000 को वो आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के स्थायी न्यायाधीश नियुक्त हुए.  उन्होंने 10 मार्च 2013 से 20 मई 2013 तक आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के तौर पर काम किया. न्यायाधीश रमणा को दो सितंबर 2013 में दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर पदोन्नत किया गया. 17 फरवरी 2014 को वो दिल्ली उच्च न्यायालय से उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त हुए.

उनका CJI के रूप में नियुक्ति का वारंट जारी हो चुका है. 48 वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ लेंगे. वरिष्ठता के मामले में फिलहाल वो मौजूदा चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे के बाद सुप्रीम कोर्ट में दूसरे स्थान पर है. यानी जस्टिस एनवी रमणा सुप्रीम कोर्ट में सीजेआई के बाद सबसे सीनियर जज हैं. वह आंध प्रदेश हाई कोर्ट के पहले ऐसे जज होंगे जो सीजेआई बनेंगे.

सुप्रीम कोर्ट के जज के रूप में जस्टिस रमणा को उनके कई ऐतिहासिक फैसलों के लिए भी जाना जाता है. इसी साल वह उस खंडपीठ का भी हिस्सा थे जिसने घर में एक होम मेकर के काम के महत्व को समझाया था. वे उस खंडपीठ का हिस्सा भी थे जिसने जम्मू-कश्मीर में 4 जी मोबाइल इंटरनेट की अनुमति देने की मांग के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन किया. उन्‍होंने जम्मू-कश्मीर प्रशासन से दूरसंचार और इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाने से संबंधित सभी आदेशों की समीक्षा करने के लिए भी कहा था.

ऐसे होती है सीजेआई की नियुक्‍त‍ि

इसकी नियुक्‍त‍ि प्रक्र‍िया में चीफ जस्टिस अपने रिटायरमेंट के एक महीना पहले सिफारिश भेजते हैं, जिसमें सबसे वरिष्ठ जस्टिस का नाम भेजा जाता है. इसलिए ही चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने अपने उत्तराधिकारी और देश के 48वें मुख्‍य न्यायाधीश के तौर पर न्यायमूर्ति एन वी रमणा के नाम की सिफारिश की थी. अब जिस पर मुहर लग चुकी है.  

देश में कोरोना वैक्सीनेशन ने पकड़ी रफ्तार, अब तक 8.40 करोड़ से अधिक दी गई खुराक

नई दिल्लीः देशभर में कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर बढ़ता दिख रहा है. वर्तमान में कोरोना एक्टिव संक्रमितों की संख्या 8 लाख के पार पहुंच गई है. फिलहाल कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देशव्यापी कोरोना वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है. जिसके तहत अभी तक कुल तीन चरणों में कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है. फिलहाल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार देशभर में अभी तक 8 करोड़ 40 लाख से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैं.

अब तक लगी 8.40 करोड़ से अधिक वैक्सीन

कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को अहम जानकारी दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अभी तक देसभर में कोविड-19 रोधी टीके की 8.40 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है. मंत्रालय ने बताया कि 89 लाख 60 हजार 966 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक और 53 लाख 77 हजार 11 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है. अब तक अग्रिम मोर्चे के 97 लाख 30 हजार 304 कर्मियों को पहली खुराक और 42 लाख 68 हजार 788 कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है.

अब तक तीन चरणों में हुआ वैक्सीनेशन का काम

फिलहाल भारत में 16 जनवरी 2021 से शुरू हुआ कोरोना वैक्सीनेशन अभियान अपने तीसरे चरण में पहुंच गया है. देशभर में अभीतक 8 करोड़ 40 लाख से ज्यादा कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है. देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी के दिन हुई थी. इसके बाद से लेकर अभी तक तीन चरणों में कोरोना वैक्सीनेशन का कमा किया जा रहा है. पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को शामिल किया गया था.

बता दें कि देशभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 27 लाख 99 हजार 746 के पार पहुंच गया है. वहीं अभी तक 1 लाख 66 हजार 208 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई है. देशभर में तकरीबन 1 करोड़ 17 लाख 89 हजार 759 लोग इलाज के बाद ठीक होकर घर भेजे जा चुके हैं. वहीं वर्तमान में कोरोना एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 8 लाख 43 हजार के पार पहुंच गया है.

PM मोदी आज परीक्षा पे चर्चा के तहत छात्रों और अभिभावकों को करेंगे संबोधित, शाम को 7 बजे होगा प्रसारण

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम सात बजे ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम के तहत छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद करेंगे. इस संबंध में प्रधानमंत्री ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करके जानकारी दी है. पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि हमारे बहादुर एग्जाम वॉरियर्स, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ विभिन्न विषयों पर कई मजेदार सवाल और यादगार चर्चा. सात अप्रैल को शाम सात बजे देखिए ‘परीक्षा पे चर्चा’.

प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें वह कह रहे हैं, ‘हम बीते एक साल से कोरोना के साये में रह रहे हैं और इसकी वजह से मुझे व्यक्तिगत रूप से आपसे मिलने का मोह छोड़ना होगा और नए फॉरमेट में परीक्षा पे चर्चा के पहले डिजिटल संस्करण में आपके साथ रहूंगा.’ उन्होंने छात्रों से कहा कि वे परीक्षा को अवसरों के तौर पर देखें न कि जीवन के सपनों के अंत के तौर पर.

बच्चों के साथ दोस्त के तौर पर बातचीत करेंगे पीएम
वीडियो में यह भी बताया गया है कि प्रधानमंत्री बच्चों के साथ दोस्त के तौर पर बातचीत करेंगे और इसके साथ ही डिजिटल कार्यक्रम में शिक्षकों और अभिभावकों से भी संवाद करेंगे. मोदी इस बात की भी चर्चा करते हैं कि लोग या माता-पिता क्या कहेंगे इसका दबाव भी कई बार बोझ बन जाता है.

वीडियो में प्रधानमंत्री यह भी कह रहे हैं कि यह परीक्षा पे चर्चा है लेकिन यहां चर्चा सिर्फ परीक्षा तक सीमित नहीं होगी. इस बार परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम डिजिटल माध्यम से किया जा रहा है. गत फरवरी महीने में शिक्षा मंत्रालय ने इसकी घोषणा की थी.

प्रधानमंत्री मोदी साल 2018 से परीक्षा से पहले छात्रों से चर्चा करते रहे हैं. पहली बार इसका आयोजन दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में हुआ था. ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम के जरिए वह हर साल छात्रों से संवाद करते हैं और उन्हें परीक्षा के तनाव को दूर करने के उपाय सुझाते हैं.

8वीं पास ‘हैकर’, लड़की को कर रहा था ब्लैकमेल 


वह सिर्फ आठवीं तक पढ़ा है और पेशे से कूलर मिस्त्री है. 20 साल के इस मिस्त्री ने सोशल मीडिया पर पूरा जाल बिछा रखा था


भोपाल: मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक हैकर को पकड़ा गया है. कारस्तानी तो उसकी चौंकाने वाली है ही लेकिन जब उसकी पढ़ाई के बारे में पुलिस को पता चला तो सबके होश उड़ गए. असल में वह सिर्फ आठवीं तक पढ़ा है और पेशे से कूलर मिस्त्री है. 20 साल के इस मिस्त्री ने सोशल मीडिया पर पूरा जाल बिछा रखा था.


पुलिस के अनुसार पहले उसने 11वीं में पढ़ रही एक 17 साल की युवती से सोशल साइट पर दोस्ती की. इसके बाद वह लगातार उससे चैट करता रहा. इसी बीच पूरी तैयारी के साथ उसने लड़की की आईडी हैक कर ली. लड़की के चेहरे को साफ्टवेयर पर एडिट कर के आपत्तिजनक फोटो और वीडियो में जोड़ दिया.

इसके बाद से वह उसे ब्लैकमेल करने लगा. उसने मांग की कि वह उसे 50 हजार रुपए दे वरना उसकी तस्वीरें वह सार्वजनिक कर देगा. उसने नाम बदल कर दोस्ती की थी और तस्वीरों के साथ जाली वीडियो भी तैयार की थी. वह अपनी ऐसी तस्वीरें देख कर दंग रह गई थी. फिर उसने हिम्मत कर के अपनी मां को इस बारे में पूरी सूचना दी.


परिजनों ने इसे गंभीरता से लिया और सीधे स्थानीय थाने पहुंच गए. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी. इसके बाद इस जांच में साइबर सेल के जांच अधिकारी भी जुट गए. कुछ ही समय में पुलिस असली अपराधी तक पहुंच गई. इसके बाद मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. पता चला कि वह कूलर बनाने का काम करता है और साथ ही मोबाइल का एक्सपर्ट भी है.

पुलिस अब यह भी जांच कर रही है कि कहीं अन्य लड़कियों को भी तो इसने इसी तरह शिकार नहीं बनाया. उसके सोशल मीडिया अकाउंट आदि खंगाले जा रहे हैं.

7 अप्रैल 2021 : जानें बुधवार का राशिफल

मेष
आज का दिन परेशानियों से भरा रहेगा। कार्यस्थल पर आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। आपको जोखिम से जुड़े कार्य करते सम सावधानी रखनी होगी। किसी से मतभेद हो सकते हैं। तनाव पर काबू रखना जरूरी है। पारिवारिक जिम्मेदारियों की अनदेखी न करें। वाहन चलाते समय सतर्क रहें। वाणी पर नियंत्रण रखें। कारोबार में लाभ होगा। सेहत ठीक रहेगी।

वृष
आपका आज का दिन शानदार रहेगा। किसी काम को पूरा करने में बुजुर्गों की सलाह आपके लिए लाभदायक साबित होगी। नौकरीपेशा वर्ग के लिए आज का दिन सफलतादायक रहेगा। किसी काम को पूरा करने में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी। धन लाभ का अवसर मिलेंगे। युवाओं को आज कामयाबी मिल सकती है। दंपत्ति खुश रहेंगे। कर्ज चुका सकते हैं।

मिथुन
आज का दिन बेहद शानदार रहेगा। कुछ नए काम को शुरू कर सकते हैं। विद्यार्थियों की दिक्कत दूर होगी। हालांकि आज पढ़ाई में मन नहीं लगेगा। अनावश्यक खर्च न करें। निवेश को टालें। उधार से मुक्ति मिल सकती है। मित्रों आपको सहयोग मिलेगा। वैवाहिक जीवन में मधुरता बनी रहेगी। सेहत पर ध्‍यान देने की आवश्यकता है। कारोबार में प्रगति होगी।

कर्क
आज का दिन आपके लिए ठीक है। किसी नए प्रोजेक्ट में काम करने को मिल सकता है। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। दूसरों की सहायता करेंगे। शत्रुओं की वजह से आपको नुकसान हो सकता है। सेहत की खराबी के चलते आपके कुछ काम प्रभावित होंगे।।आज आपके अपने व्यवहार पर काबू रखना होगा। बातचीत करते समय सावधान रहें। कामकाजी लोगों को खुशखबरी मिलेगी।

सिंह
आज आप आत्मविश्वास से भरे रहेंगे। आज मानसिक रूप से मजबूत रहेंगे। संबंधियों की ओर से कोई अच्छी खबर मिल सकती है। मित्रों के साथ अच्छा वक्त बिताने का मौका मिलेगा। जीवनसाथी को घुमाने ले जा सकते हैं। आज का दिन बेहद सुखद रहेगा। बुजुर्गों का ख्याल रखें। दफ्तर में किसी से अनबन हो सकती है। शत्रु पक्ष हावी हो सकता है। सतर्क रहें। कुसंगति से दूर रहें।

कन्या
आज का दिन आपके लिए बेहतर रहेगा। शुभ सूचना मिलेगी। आज आप खर्च पर नियंत्रण रख पाएंगे। कारोबार स्थिति सही रहेगी। व्यापार में कुछ नया होगा। कुछ तनाव भी रह सकता है। विद्यार्थियों के लिए आज का दिन शुभ होगा। नौकरी में परिवर्तन कर सकते हैं। धार्मिक यात्रा पर जाएंगे। निवेश कर सकते हैं। किसी की मदद करेंगे। सेहत ठीक रहेगी। खानपान का ध्यान रखें।

तुला
आज का दिन आपके लिए मिलाजुला रहेगा। धन लाभ होगा। स्वास्थ्य में सुधार आएगा। आर्थिक स्थिति सुधरेगी। सामाजिक कार्यों में सफलता मिलेगी। काम के सिलसिले में की गई कोशिश सफल रहेगी। कारोबारी यात्रा सफल होगी। बाहरी खानपान से दूर रहें। आपकी वजह से किसी की दिक्कत दूर होगी। पैतृक संपत्ति में आपको लाभ होगा। रिश्तेदारों से मुलाकात होगी।

वृश्चिक
आज का दिन आपके लिए शानदार रहेगा। युवाओं कोनई जानकारी मिलेगी आपकी सेहत में सुधार होगा। प्रसन्न रहेंगे। किसी मित्र से काफी दिनों बाद मुलाकात होगी। रिश्तेदारों के यहां जा सकते हैं। मित्रों की मदद से सार्वजनिक कार्यों में हिस्सा लेंगे। जरूरतमंदों की मदद करें। विवाहित लोगों का जीवन सुखद रहेगा। आज धार्मिक कार्यों का हिस्सा बन सकते हैं।

धनु
आज का दिन सफलतादायक रहेगा। आर्थिक लाभ होने की संभावना है। कारोबार को लेकर नई योजना बनाने के लिए आज का दिन अच्छा है। ऑफिस में आज ज्यादा जिम्मेदारी रहेगी। दिनभर कार्य की व्यस्तता के तनाव हो सकता है। दंपत्तियों के लिए आज का दिन अच्छा रहेगा। घूमने जाने का अवसर मिलेगा। आज खर्च ज्यादा हो सकता है। वाणी पर संयम रखें।

मकर
आज अनावश्यक खर्च में कमी आएगी। छात्रों के लिए आज का दिन शुभ है। काम में मन लगेगा। दफ्तर का माहौल अच्छा रहेगा। आपके व्यवहार से सभी प्रभावित रहेंगे। कारोबारियों को नए मौके मिलेंगे। नई योजना बना सकते हैं। धन संबंधी दिक्कत दूर होगी। सेहत ठीक रहेगी। बुजुर्गों का आशीर्वाद मिलेगा। यात्रा करते समय सावधान रहें। अपरिचितों से दूरी बनाकर रखें।

कुंभ
आज का दिन शुभ रहेगा। कारोबार में उम्मीद के मुताबिक सफलता मिलेगी। नई योजना बनेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। रूके हुए कार्य बनेंगे। आपके काम की सराहना होगी। निवेश कर सकते हैं। मित्रों से पूरी मदद मिलेगी। परिवार के सहयोग से आयोजनों में कामयाबी मिलेगी। आपसे कोई मदद मांगने आ सकता है। आज खर्च ज्यादा होगा। रिश्तेदारों से मुलाकात होगी।

मीन
आज का दिन आपके लिए शानदार रहेगा। युवाओं को सफलता मिलेगी। आमदनी बढ़ेगी। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। कारोबार की दिक्कतों से आप कुछ चिंतित हो सकते हैं।वैवाहिक जीवन सुखद रहेगा। संतान पक्ष से खुशखबरी मिलेगी। आज आप सकारात्मक रहेंगे। कैरियर आगे बढ़ेगा। व्यापार में प्रगति होगी। दिनचर्या में बदलाव ला सकते हैं।

घर में आप कितना पैसा Cash रख सकते हैं, जानिये क्‍या कहता है नियम



घर में कैश रखने की लिमिट तय नहीं है। लेकिन, घर में रखे कैश का सोर्स बताना जरूरी है।

केंद्र सरकार लगातार देश में डिजिटल पेमेंट को बढ़ाने की कोशिश कर रही है। डिजिटल इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। इस कड़ी में लगातार कैश ट्रांजैक्शन से जुड़े नियम सख्त होते जा रहे है। आज के समय में सभी लेन-देन के लिए डिजिटल पेमेंट करना ही ज्यादा सुविधाजनक और सुरक्षित है। कैश के जरिए बड़े लेन-देन करने पर आप कभी भी मुसीबत में फंस सकते हैं। हालांकि, घर में कैश रखने की लिमिट तय नहीं है। लेकिन, घर में रखे कैश का सोर्स बताना जरूरी है। यहां हम आपको कैश में लेन-देन से जुड़े सभी नियमों की जानकारी दे रहे है।

बैंक में सेविंग अकाउंट को लेकर नियम बदले

एक बार में 50,000 रुपए से ज्यादा कैश जमा करने या निकालने पर पैन कार्ड नंबर देना जरूरी है। कैश में पे-ऑर्डर या डिमांड ड्राफ्ट भी बनवा रहे हैं तो पे ऑर्डर-DD के मामले में भी पैन नंबर देना होगा।

टैक्स एक्सपर्ट्स के अनुसार मार्च 2020 में करीब 24-25 लाख करोड़ रुपये चलन में थे। वहीं, जनवरी 2021 में ये बढ़कर 27 लाख करोड़ रुपये के करीब पहुंच गए। इसके बाद इनकम टैक्स नियमों को सख्त किया गया और कई प्रतिबंध भी लगाए गए है।

(1) 20 हजार रुपये से ऊपर कैश में लोन नहीं लिया जा सकता है।

(2) मेडिकल खर्च में 5000 रुपये से ज्यादा कैश में खर्च करने पर टैक्स में छूट नहीं मिलेगी।

(3) 50 हजार रुपये से ऊपर की रकम फॉरेन एक्सचेंज में नहीं बदली जाएगी।

(4) कैश में 2000 रुपये से ज्यादा का चंदा या दान नहीं दिया जा सकता है।

(5) बिजनेस के लिए 10 हजार रुपये से ऊपर कैश में खर्च करने पर रकम को आपके मुनाफे की रकम में जोड़ी जाएगी।

(6) 2 लाख रुपये से ऊपर कैश में कोई खरीदारी नहीं की जा सकती।

(7) बैंक से 2 करोड़ रुपये से ज्यादा कैश निकालने पर टीडीएस लगेगा।