नौगाम में भाजपा नेता के घर पर आतंकी हमला, सुरक्षाकर्मी शहीद; 2 दिन पहले सोपोर में पार्षदों पर फायरिंग हुई थी

श्रीनगर के नौगाम में भाजपा नेता अनवर खान के घर पर गुरुवार को आतंकी हमला हुआ। हमले में वहां तैनात एक सुरक्षाकर्मी घायल हो गया। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उनकी मौत हो गई। अनवर बारामूला के जिला महासचिव हैं और साथ ही उन्हें कुपवाड़ा का प्रभारी भी बनाया गया है। इस हमले के बाद आतंकियों की तलाश के लिए इलाके की घेराबंदी कर दी गई है।

दो दिन पहले सोपोर नगर पालिका दफ्तर पर आतंकी हमला हुआ था
इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के सोपोर इलाके में सोमवार को आतंकियों ने नगर परिषद के ऑफिस में फायरिंग की थी। हमले के समय ऑफिस में पार्षदों की मीटिंग चल रही थी। गोली लगने से पार्षद रियाज अहमद की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं पार्षद शम्सुद्दीन ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। हमले में एक पुलिसकर्मी शफाकत अहमद भी शहीद हुए थे।

4 पुलिसकर्मी सस्पेंड किए गए थे
कश्मीर के iG विजय कुमार ने घटनास्थल पर मौजूद 4 पुलिसकर्मी (PSO) को सस्पेंड करने का निर्देश SSP सोपोर को दिया था। उन्होंने कहा कि ये चारों पुलिसकर्मी आतंकियों पर ठीक से जवाबी कार्रवाई नहीं कर पाए।

पिछले महीने श्रीनगर में पुलिस पार्टी पर खुलेआम फायरिंग हुई थी
इससे पहले पिछले महीने श्रीनगर में एक आतंकी ने पुलिस पार्टी पर खुलेआम फायरिंग की थी। इसमें 2 जवान शहीद हो गए थे। घटना बागत एरिया के बारजुल्ला में हुई थी। हमला एक दुकान पर लगे CCTV कैमरे में कैद हो गया था।

हत्या:रेलवे अधिकारी के बेटे ने घर के सामने खड़े व्यक्ति की चाकू से हमला कर की हत्या, बोला गली से निकलने पर घूरता था, इसलिए मार दिया

भोपाल।राजधानी के बागसेवनिया थाना क्षेत्र में एक युवक ने घर के सामने खड़े शख्स पर चाकू से ताबड़तोड़ वार हत्या कर दी। दोनों ही कृष्णा आर्केट कॉलोनी में रहते थे। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसके गली से निकलने पर मृतक घूरता था, इसलिए हमला किया। मृतक की पहचान अनिल शिंदे (42) निवासी कृष्णा आर्केट के रूप में हुई है। वहीं, आरोपी की पहचान हितेश सरिया (24) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी को रात को ही गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अनिल शिंदे (42) कृष्णा आर्केट बागसेवनिया में परिवार के साथ रहते थे। कृष्णा आर्केट में ही हितेश सरिया भी रहता था। वह प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है। हितेश के पिता रेलवेे में इंजीनियर है। वह इटारसी में पदस्थ है। गुरुवार रात 11 बजे हितेश ने अनिल शिंदे पर चाकू से हमला कर दिया। चाकू अनिल के हाथ, सीने और पीठ में लगा। शोर शराबा सुनकर घर के लोगाें के साथ पड़ोसी भी बाहर आए, जिनको देखकर हितेश भागने लगा। इस बीच चाकू के सामने का भाग अनिल की पीठ में ही रह गया और हैंडल हितेश के हाथ में आ गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत घायल को अस्पताल पहुंचायाजहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पड़ोसियों की निशानदेही पर पुलिस ने आरोपी हितेश को देररात ही गिरफ्तार कर लिया। हितेश ने पूछताछ में बताया कि अनिल उसे गली से निकलने पर घूरता था। इसलिए उसे मार दिया। पुलिस के अनुसार उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं लग रही है। वह ठीक से कोई जवाब नहीं दे रहा है। उसने चाकू का हैंडल नाले में फेंकने की जानकारी दी है। फिलहाल पुलिस ने केस दर्ज कर मामले में जांच कर दी है।

नशे में धुत्त पड़ोसी बन गया हैवान, महिला को बंधक बना कर किया दुष्कर्म

ग्वालियर/आधी रात को अचानक बेटे की तबीयत खराब हो गई। पति बेटे को लेकर डॉक्टर के पास गया था। इसी समय नशे में धुत पड़ोसी घर में घुस आया। घर में अकेली महिला को बंधक बनाकर मारपीट की और दुष्कर्म किया। घटना मंगलवार-बुधवार दरमियानी रात खजांची बाबा की दरगाह के पास की है। सुबह पीड़ित महिला अपने पति, सास व ससुर के साथ थाना पहुंची और शिकायत की है। कंपू थाना पुलिस ने बंधक बनाकर दुष्कर्म, मारपीट का मामला दर्ज किया है।

कंपू थाना क्षेत्र स्थित खजांची बाबा की दरगाह निवासी 20 वर्षीय महिला अपने पति और एक साल के बच्चे के साथ रहती है। मंगलवार रात महिला के बच्चे की अचानक तबीयत खराब हो गई। इस पर उसका पति रात 12 बजे बच्चे को लेकर डॉक्टर को दिखाने निकला था। घर पर महिला अकेली थी। इसी समय वहां नशे में धुत पड़ोस में रहने वाला पप्पी शाह पहुंच गया। वह जबरदस्ती घर में घुस आया और महिला का हाथ पकड़ लिया। महिला ने उसे समझाया कि उसके बेटे की तबीयत ठीक नहीं है और वह काफी टेंशन में है। पति भी अभी घर पर नहीं है। इस पर पप्पी ने उससे मारपीट शुरू कर दी। दरवाजा बंद कर महिला से दुष्कर्म किया। आरोपी महिला के पति के आने से पहले महिला को बेटे का कत्ल करने की धमकी देकर भाग गया। घटना की सूचना रात को ही महिला ने पति के घर लौटने पर दी। बेटे की तबीयत खराब होने पर रात को वह थाना नहीं पहुंचे। बुधवार सुबह थाना आए और मामले की शिकायत की है। पुलिस ने महिला की शिकायत पर आरोपी पप्पी शाह पर बंधक बनाकर दुष्कर्म, मारपीट का मामला दर्ज कर लिया है।

भाजपा नेताओं वैक्सीनेशन सेंटर पर लगाई हैल्प डैस्क, विवेक शेजवलकर सहित कई वरिष्ठ नेता रहे मौजूद

ग्वालियर। वैक्शीनेशन के लिए 45 से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने का काम शुरू होने के साथ ही यहंा ग्वालियर के वैक्सीनेशन सेंटर के बाहर भारतीय जनता पार्टी द्वारा हैल्प डैस्क लगाई गई जहंा संासद विवेक शेजवलकर, पूर्व मंत्री माया सिंह, पूर्व विधायक मुन्नााल गोयल सहित अन्य वरिष्ठ भाजपा नेता मौजूद रहे और लोगों को वैक्सीनेशन के फायदे तेा बताए ही साथ ही वैक्सीनेशन सेंटर में कोरोना से बचाव का टीका लगवाने पहंुच रहे लेागों का स्वागत भी किया।

सुपरस्टार रजनीकांत को मिलेगा 51वां दादा साहेब फाल्के पुरस्कार, जावड़ेकर ने किया ऐलान

दक्षिण फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत ((Rajinikanth)  को फिल्मी दुनिया का सबसे बड़ा सम्मान ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड ((51st Dadasaheb Phalke Award) मिलेगा. केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी. है. 71 साल के रजनीकांत को 51वां दादा साहब फाल्के अवॉर्ड 3 मई को दिया जाएगा.

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इस साल दादा साहेब फाल्के पुरस्कारों का ऐलान देरी से हुआ है. बीते ही हफ्ते राष्ट्रीय पुरस्कारों की भी घोषणा हुई थी. दादा साहेब फाल्के भारतीय सिनेमा की दुनिया की प्रतिष्ठित सम्मान है.

इस बाबत एक ट्वीट में जावड़ेकर ने कहा – ‘भारतीय सिनेमा के इतिहास के सबसे महान अभिनेताओं में से एक के लिए दादासाहेब फाल्के पुरस्कार 2019 की घोषणा करने पर बहुत खुश हूं. अभिनेता, निर्माता और पटकथा लेखक के रूप में उनका (रजनीकांत) योगदान प्रतिष्ठित रहा है. मैं ज्यूरी आशा भोसले, सुभाष घई, मोहनलाल, शंकर और बिस्वास चटर्जी का शुक्रिया अदा करता हूं.’

रजनीकांत अपनी दमदार एक्टिंग के साथ ही अपनी अलग स्टाइल के लिए जाने जाते हैं. उनका सिगरेट को फ्लिप करने का अंदाज, सिक्का उछालने का तरीका और घूमाकर चश्मा पहनने का स्टाइल लोगों को खूब पसंद आता है. फैन्स के बीच एक बात खूब चर्चा में रहती है कि जो काम कोई नहीं कर सकता, वो थलाइवा यानी रजनीकांत कर सकते हैं. देश ही नहीं विदेशों में भी रजनीकांत के स्टाइल की कॉपी की गई.

बेंगलुरू से ताल्लुक रखते हैं रजनीकांत

रजनीकांत का असली नाम शिवाजी है. उनका जन्म 12 दिसंबर 1950 को बेंगलुरू के मराठी परिवार में हुआ था. गरीब परिवार में जन्मे रजनीकांत ने अपनी मेहनत और कड़े संघर्ष की बदौलत टॉलीवुड में ही नहीं बॉलीवुड में भी काफी नाम कमाया. साउथ में तो रजनीकांत को थलाइवा और भगवान कहा जाता है. राव गायकवाड़ है.

‘अपूर्वा रागनगाल’ थी पहली फिल्म

रजनीकांत ने 25 साल की उम्र में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की. उनकी पहली तमिल फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ थी. इस फिल्म में उनके साथ कमल हासन और श्रीविद्या भी थीं. 1975 से 1977 के बीच उन्होंने ज्यादातर फिल्मों में कमल हासन के साथ विलेन की भूमिका ही की. लीड रोल में उनकी पहली तमिल फिल्म 1978 में ‘भैरवी’ आई. ये फिल्म काफी हिट रही और रजनीकांत स्टार बन गए.

इन पुरस्कारों से हो चुके सम्मानित

रजनीकांत को 2014 में 6 तमिलनाड़ु स्टेट फिल्म अवॉर्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है. इनमें से 4 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और 2 स्पेशल अवॉर्ड्स फॉर बेस्ट एक्टर के लिए दिए गए थे. उन्हें साल 2000 में पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया था. 2014 में 45वें इंटरनेश्नल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में रजनीकांत को सेंटेनरी अवॉर्ड फॉर इंडियन फिल्म पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर से भी सम्मानित किया गया था.

ऐन वक्त पर रद्द कर दिया राजनीति में आने का प्लान

रजनीकांत तमिलनाडु की चुनावी राजनीति में भी कदम रखने वाले थे, लेकिन बीते साल दिसंबर में उन्होंने फैसला किया था कि वह चुनावी राजनीति से बाहर ही रहेंगे. साल 2018 में यह पुरस्कार सदी के महानायक अमिताभ बच्चन और साल 2017 में भूतपूर्व बीजेपी नेता और अभिनेता विनोद खन्ना को दिया गया था.

एक चम्‍मच सेब का सिरका कम कर सकता है पेट की चर्बी, जानिए ये फैट बर्न में कैसे मददगार है

एप्पल साइडर विनेगर (apple cider vinegar) का उपयोग हजारों वर्षों से एक स्वास्थ्य टॉनिक के रूप में किया जाता रहा है। कई शोधों से पता चलता है कि इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं कि एप्पल साइडर विनेगर को अपने आहार में शामिल करने से आपको वजन कम करने में भी मदद मिल सकती है? सोच रही हैं कैसे? तो चलिए हम आपको बताते हैं।

यहां हम आपको बता रहे हैं कि एप्पल साइडर विनेगर को डाइट में शामिल करने से आपकी वेट लॉस जर्नी कैसे आसान हो सकती है। 

एप्पल साइडर विनेगर का मुख्य सक्रिय घटक एसिटिक (Acetic) एसिड है। इसे एथेनोइक एसिड (ethanoic acid) के रूप में भी जाना जाता है। यह एक खट्टे स्वाद और मजबूत गंध का एक कार्बनिक यौगिक है।

एप्पल साइडर विनेगर के लगभग 5-6% में एसिटिक एसिड होता है। इसमें पानी और अन्य एसिड की मात्रा भी होती है, जैसे मैलिक एसिड। एप्पल साइडर विनेगर के एक चम्मच (15 ML) में लगभग 3 कैलोरी होती हैं और वस्तुतः कोई कार्ब नहीं होता।

एसिटिक एसिड एक शॉर्ट-चेन फैटी एसिड होता है, जो आपके शरीर में एसीटेट और हाइड्रोजन में घुल जाता है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एप्पल साइडर विनेगर में एसिटिक एसिड कई तरीकों से वजन घटाने को बढ़ावा दे सकता है:

ब्लड शुगर लेवल को कम करता है

चूहों पर हुए एक अध्ययन में, एसिटिक एसिड ने रक्त से चीनी लेने के लिए लीवर और मांसपेशियों की क्षमता में सुधार किया।

इंसुलिन का स्तर घटाता है

एक अध्ययन में, एसिटिक एसिड ने ग्लूकागन के लिए इंसुलिन के अनुपात को भी कम कर दिया, जो वसा जलाने में मदद कर सकता है।

चयापचय में सुधार करता है

एसिटिक एसिड के संपर्क में आने वाले चूहों के एक अन्य अध्ययन में एंजाइम एएमपीके (AMPK) में वृद्धि देखी गई, जो वसा जालने को बढ़ावा देता है और लीवर में वसा और चीनी के उत्पादन को कम करता है।

वसा के भंडारण को कम करता है

मोटापे को ट्रीट करने के लिए, एसिटिक एसिड या एसीटेट (acetate) ने डायबिटीज वाले चूहों में, उनका वजन बढ़ने से बचाया और पेट की वसा भंडारण और लीवर की वसा को कम करने वाले जीन की अभिव्यक्ति को बढ़ाया।

भूख को दबाता है

एक अन्य अध्ययन से पता चलता है कि एसीटेट आपके मस्तिष्क के केंद्रों को दबा सकता है, जो भूख को नियंत्रित करते हैं, जिससे भोजन का सेवन कम हो सकता है।

वसा को जलाता है

चूहों के एक अध्ययन में उन्‍हें उच्च वसा वाला आहार खिलाया गया, जो एसिटिक एसिड के साथ पूरक होता है। जिसमें वसा जलाने के लिए जिम्मेदार जीन में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। इससे शरीर में वसा का निर्माण कम होता है।

क्या मनुष्यों में भी इसके समान परिणाम देखने को मिले

एक मानव अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि एप्पल साइडर विनेगर वजन और शरीर में वसा पर प्रभावशाली प्रभाव डालता है। 12 सप्ताह के इस अध्ययन में, 144 मोटे जापानी वयस्कों ने हर दिन 1 बड़ा चम्मच (15 मिली) सिरका, 2 चम्मच (30 मिली) सिरका या एक प्लेसबो ड्रिंक का सेवन किया।

उनसे कहा गया था कि वे अपने शराब के सेवन को प्रतिबंधित करें, लेकिन पूरे अध्ययन में अपने सामान्य आहार और गतिविधि को जारी रखें। जिन लोगों ने प्रति दिन 1 बड़ा चम्‍मच (15 मिलीलीटर) सिरका का सेवन किया था, उन्हें औसतन निम्नलिखित लाभ मिले:

1.2 किग्रा वजन घटाशरीर में वसा के प्रतिशत में 0.7% की कमी आईकमर की परिधि में 0.5 इंच की कमीट्राइग्लिसराइड्स में 26% की कमी 

क्‍या रहा निष्‍कर्ष 

इस अध्ययन के अनुसार, एप्पल साइडर विनेगर के 1 या 2 बड़े चम्मच को अपने आहार में शामिल करने से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है। यह आपके शरीर के वसा प्रतिशत को भी कम कर सकता है, जिससे आप पेट की चर्बी कम कर सकते हैं और अपने रक्त ट्राइग्लिसराइड्स को कम कर सकते हैं।

अब जानिए कैसे करना है डाइट में शामिल

अपने आहार में एप्पल साइडर विनेगर को शामिल करने के कई तरीके हैं। एक आसान तरीका यह है कि इसे सलाद के ड्रेसिंग के रूप में जैतून के तेल के साथ इस्तेमाल किया जाए। यह पत्तेदार साग, खीरे और टमाटर के साथ विशेष रूप से स्वादिष्ट साबित होता है।

इसके अलावा इसका उपयोग सब्जियों का अचार बनाने के लिए भी किया जा सकता है, या आप इसे पानी में मिलाकर पी सकती हैं।

UP: एक साथ इतना कैश देख चोर को पड़ा हार्ट अटैक, अस्‍पताल लेकर भागा साथी; इलाज में दो लाख खर्च

बिजनौर, । ऐसी घटना आपने पहले शायद कभी नहीं सुनी होगी, जब पहली बार चोरी में हाथ आजमाने गए चोर को उम्मीद से ज्यादा रकम देखकर हार्ट अटैक पड़ गया हो। यह अजीबोगरीब घटना देहात कोतवाली क्षेत्र में हुई। बुधवार को चोरी की इस घटना का राजफाश हुआ तो पता चला कि दो चोरों ने हजारों की नकदी के चक्कर में चोरी की लेकिन वहां मिल गए लाखों। जब यह रकम नौसिखिए चोर ने देखी तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं और उसे दिल का दौरा पड़ गया। बाद में उसके चोर साथी ने उसका इलाज भी चोरी के रुपयों से ही कराया। घटना का राजफाश हुआ तब यह सच्चाई सामने आई।

 दरअसल, कस्बा तिराहे पर पित्तनहेड़ी जिया निवासी उरूज हैदर का जनसुविधा केंद्र है। 16 फरवरी को चोरों ने केंद्र से नकदी, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस के साथ ही 13 लाख रुपये चोरी कर लिए थे। इसकी रिपोर्ट देहात कोतवाली में दर्ज कराई गई थी। वारदात के राजफाश के लिए पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले लेकिन चोरों की शिनाख्त नहीं हो सकी। इसके बाद पुलिस ने जिले के शातिर चोर नौशाद को संदेह के आधार पर पकड़ लिया। इसके बाद परत दर परत खुलती चली गई। बुधवार को एसपी डा. धर्मवीर सिंह ने चोरी का राजफाश करते हुए बताया कि नगीना थाना क्षेत्र के आलेअलीपुर उर्फ किरतपुर गांव निवासी नौशाद व एजाज को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से चोरी के तीन लाख 70 हजार रुपये, दो तमंचे और घटना में प्रयुक्त एक बाइक मिली है। बताया कि नौशाद शातिर चोर है, जबकि एजाज ने पहली बार चोरी में हाथ आजमाया था। हालांकि आरोपितों ने पूछताछ में केंद्र से साढ़े सात लाख की रकम मिलने की बात कही है। बकौल एसपी, घटना के बाद नकदी भरा बैग लेकर सभी नौशाद के घर पहुंचे। वहां मोटी रकम देखकर एजाज को हार्टअटैक आ गया। नौशाद तुरंत उसे किराये की गाड़ी से नगीना के एक अस्पताल में ले गया। इसके बाद उसे बिजनौर में शास्त्री चौक रोड स्थित हास्पिटल में भर्ती कराया गया। वहां तीन दिन तक उसका इलाज चला, जिसमें चोरी किए गए करीब दो लाख खर्च हुए। देहात कोतवाली इंस्पेक्टर लव सिरोही के मुताबिक आरोपित एजाज ने बताया कि उसे 40-50 हजार रुपये मिलने की उम्मीद थी। लाखों की रकम देखकर उसका रक्तचाप बढ़ गया। दूसरी ओर, नौशाद ने कुछ रुपयों का जुआ खेल लिया। पुलिस ने दोनों आरोपितों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है। नौशाद पर चोरी व धोखाधड़ी के 12 मुकदमे दर्ज हैं।

भारत अब इजरायल-UAE जैसे देशों को बेच रहा हथियार, अमेरिका को भी खरीददार बनाने की कोशिश

रक्षा मंत्रालय कई देशों से हथियारों की खरीद करता है। अच्छी खबर यह है कि इनमें से कई देश अब भारत से भी छोटे हथियार खरीदने लगे हैं। रक्षा मंत्रालय की एक रिपोर्ट के अनुसार, आयुध फैक्टरियों द्वारा इजरायल, स्वीडन, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ब्राजील, बांग्लादेश, बुलगारिया आदि देशों को हथियारों की बिक्री की जा रही है। यूएई ने सर्वाधिक खरीद की है। इसके अलावा फ्रांस समेत यूरोप के कुछ देशों एवं अमेरिका को भी हथियारों की बिक्री के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

हालांकि, जो हथियार इन देशों को बेची जा रही हैं, वह उतनी उच्च क्षमता के नहीं हैं जो हम उनसे खरीदते हैं। फिर भी आयुध फैक्टरियों के लिए इन देशों को हथियारों की बिक्री फायदे का सौदा साबित हो रही है। इन देशों को सबसे ज्यादा 155 एम.एम. की तोपें बेची गई हैं जो डीआरडीओ द्वारा विकसित की गई हैं तथा आयुध फैक्टरियों द्वारा निर्मित की जा रही हैं। बता दें कि भारत इजरायल, स्वीडन, यूएई समेत कई देशों के हथियारों का खरीदार रहा है।

दरअसल, आयुध फैक्टरियां पहले हथियारों का निर्यात नहीं करती थीं, बल्कि सैन्य एवं सुरक्षा बलों को आपूर्ति तक ही सीमित रहती थीं। लेकिन 2015-16 से उन्हें निर्यात की अनुमति प्रदान की गई। तब छह करोड़ के हथियार उन्होंने निर्यात किए थे। 2019-20 में निर्यात 140 करोड़ पहुंच गया और 2020-21 में 225 करोड़ के करीब पहुंचने का अनुमान है।

मंत्रालय के अनुसार मौजूदा समय में आयुध फैक्टरियों के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है कि वह अपना कुल आय का एक चौथाई राजस्व निर्यात से हासिल करें। आयुध फैक्टरी बोर्ड को 2025 तक 30 हजार करोड़ का राजस्व अर्जित करने का लक्ष्य दिया गया है तथा इस अवधि तक वह अपने निर्यात को 7500 करोड़ तक पहुंचाने की योजना पर कार्य कर रहा है। इसके लिए आयुध फैक्टरियों को अत्याधुनिक बनाया जा रहा है तथा निर्माण में आटोमेशन को बढ़ाया जा रहा है। इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में उनके द्वारा निर्मित हथियारों की मांग में इजाफा होगा।

सांसद अफजाल अंसारी बोले, मुख्तार डंके की चोट पर यूपी आएगा, उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता

एक तरफ मुख्तार अंसारी की जान को खतरा बताते हुए उनकी पत्नी ने राष्ट्रपति से लेकर तमाम लोगों को पत्र लिखा है। दूसरी तरफ बाहुबली विधायक के सांसद भाई अफजाल अंसारी का कहना है कि मुख्तार डंके की चोट पर यूपी आएगा और उसका कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता। इससे पहले बुधवार की सुबह ही मोहाली की कोर्ट में व्हीलचेयर पर मुख्तार अंसारी की पेशी हुई। उम्मीद जताई जा रही थी कि कोर्ट से ही मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। सूत्रों ने यूपी पुलिस की वहां मौजूदगी की बात भी कही लेकिन मुख्तार को पेशी के बाद दोबारा रोपड़ जेल भेज दिया गया। 

सांसद अफजाल अंसारी ने मुख्तार की पत्नी अफशां के पत्र को लेकर कहा कि उनकी चिंताएं जायज हैं। पांच बार मुख्तार अंसारी पर हमले हुए हैं। उन्हें मारने की कोशिश करने वालों के खिलाफ मुकदमे चल रहे हैं। इसमें खुद मुख्तार अंसारी गवाह हैं। उन्होंने कहा कि बृजेश सिंह, त्रिभुवन सिंह, सुशील सिंह के खिलाफ अगर मुख्तार ने गवाही दे दी तो उनका भविष्य चौपट हो जाएगा। कई अधिकारी भी षडयंत्र रच रहे हैं। ऐसे अधिकारियों पर से मुकदमे वापस लिये जा रहे हैं। 

अफजाल अंसारी ने कहा कि मुख्तार को लाइये। मुकदमा चलाइये, इससे किसको इनकार है। कोरोना के कारण तमाम कोर्ट में विचाराधीन बंदी को फिजिकली पेशी से रोक है। सभी की वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी हो रही है। क्या मुख्तार अंसारी की पेशी नहीं हो सकती है। अफजाल अंसारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार को यूपी भेजने का आदेश दिया है। उसे किस तरह से यूपी लाया जाएगा, इस पर तो कुछ नहीं कहा है। मजाक है क्या कि गाड़ी पलट जाएगी। न्यायालय के आदेश पर उनको यूपी भेजा जाएगा। उसका बाल भी बांक नहीं किया जा सकता। 

अफजाल ने कहा कि जब ऊपर से दिन पूरा हो जाएगा तो कोई बचा नहीं पाएगा। लेकिन जब तक ऊपर से दिन पूरा नहीं होगा, कोई मार नहीं सकेगा। मुख्तार डंके की चोट पर यूपी आएगा। उसके खिलाफ जो भी मुकदमे हैं सभी का ट्रायल होगा और बेदाग बरी होगा। उसके बरी होने पर जनता ही राह में फूल बिछाएगी।

पत्नी ने जान को खतरा जताते हुए लिखा है खत
विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी ने बुधवार को राष्ट्रपति को पत्र लिखकर अपने पति को पंजाब से उत्तर प्रदेश लाने के दौरान उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने का आदेश देने की गुहार लगाई है। अफशां अंसारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखे पत्र में कहा है कि उनके पति मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं और उच्चतम न्यायालय ने गत 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से दो सप्ताह के अंदर बांदा जेल भेजने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि उनके पति एक मामले में चश्मदीद गवाह है जिसमें भाजपा के विधान परिषद सदस्य माफिया बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह अभियुक्त हैं। अफशां के अनुसार, ”यह दोनों अभियुक्त सरकारी तंत्र की कथित मिलीभगत से अंसारी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं, लिहाजा इस बात का खतरा महसूस हो रहा है कि पंजाब की जेल से बांदा लाए जाते वक्त रास्ते में फर्जी मुठभेड़ की आड़ में अंसारी की हत्या की जा सकती है।