1 लाख से लेकर 3 करोड़ तक की कीमत, आखिर इतने महंगे क्‍यों होते हैं फाइटर पायलट्स के हेलमेट

किसी भी फाइटर जेट को उड़ाना शायद हर युवा का सपना होता है. वायुसेना में शामिल होकर कुछ युवा अपने इस सपने को पूरा भी करते हैं. लेकिन यह सपना इतनी आसानी से पूरा नहीं होता. इसे पूरा करने में कई तरह की मुश्किलों को सामना भी करना पड़ता है. एक बेहतरीन फाइटर पायलट किसी भी देश की सेना के लिए किसी बेशकीमती संपत्ति की तरह होता है.

क्‍या आप जानते हैं कि एक फाइटर जेट से लेकर इसके पायलट के लिए आने वाले हेलमेट तक में किसी भी देश की सरकार को काफी धनराशि का निवेश करना पड़ता है. फाइटर जेट के एक हेलमेट की कीमत 3 लाख रुपए से लेकर 3 करोड़ रुपए तक है. जानिए आखिर क्‍यों फाइटर जेट का हेलमेट महंगा होता है और इसकी क्‍या खासियते होती हैं.

F-35 का हेलमेट सबसे महंगा

अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन की तरफ से तैयार फाइटर जेट एफ-35 जो कि एक ज्‍वॉइन्‍ट स्‍ट्राइक फाइटर है, दुनिया का अब तक का सबसे महंगा एयरक्राफ्ट प्रोग्राम है. इस जेट के प्रोग्राम पर तीन लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा की रकम खर्च हो रही है. अब जब जेट इतना महंगा है तो फिर इसका हेलमेट भी सबसे महंगा ही होगा. अब आपको हम जो कीमत बताने जा रहे हैं उसमें आप एक सुपरकार भी खरीद सकते हैं. एफ-35 के हेलमेट की कीमत करीब 3 करोड़ रुपए है. जी हां, इतनी कीमत में आप एक फरारी कार तक खरीद सकते हैं.

किसी वर्कस्‍पेस की तरह होते हैं हेलमेट

राफेल और सुखोई जैसे जेट के हेलमेट की कीमत भी एक लाख रुपए के आसपास है. यूएस एयरफोर्स के चीफ ऑफ स्‍टाफ जनरल मार्क ए की मानें तो फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलट के लिए ये सिर्फ एक हेलमेट नहीं होता है बल्कि वर्कस्‍पेस की तरह है. साल 2015 में उन्‍होंने बताया था कि हेलमेट किसी भी वॉर जोन की परिकल्‍पना होती है.

फाइटर पायलट जो हेलमेट पहनते हैं वो उन्‍हें हर स्थिति के प्रति जागरूक रखने का काम करते हैं. एफ-35 के हेलमेट में माउंटेड डिस्‍प्‍ले सिस्‍टम हैं जिसकी वजह से पायलट्स को हर स्थिति की जानकारी मिलती रहती है. उन्‍हें अपने मिशन को पूरा करने के लिए हर जरूरी खबर उनका हेलमेट देगा. एयरस्‍पीड से लेकर हीडिंग, ऊंचाई, टारगेट की इनफॉर्मेशन से लेकर हर तरह की वॉर्निंग भी हेलमेट पर डिस्‍प्‍ले होगी.

हेलमेट में होते हैं माइक्रोफोन तक

किसी भी फाइटर पायलट के हेलमेट सिर की सुरक्षा का सबसे बड़ा साधन होता है. फाइटर जेट किसी भी समय अचानक टर्न ले सकता है और ऐसे में हेलमेट सिर पर लगने वाली भयानक चोट के खतरे से बचाता है. अगर पायलट को एयरक्राफ्ट से निकलने की जरूरत है तो हेलमेट विंड ब्‍लास्‍ट से उसे बचाता है. हेलमेट की वजह से पायलट पर जेट और बाहर के शोर का कोईअसर नहीं पड़ता है. किसी भी फाइटर पायलट के हेलमेट में माइक और हेडफोन होते हैं जो उसे हर पल की जानकारी देते रहते हैं.

हेलमेट में ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की व्‍यवस्‍था

कई हेलमेट ऐसे होते हैं जो सन वाइजर से लैस होते हैं तो ऐसे में पायलट को जेट उड़ाते समय सनग्‍लासेस की जरूरत नहीं पड़ती है. इस समय जो हेलमेट आ रहे हैं वो माउंटेड डिस्‍प्‍ले, नाइट विजन सपोर्ट और इस तरह की कई टेक्निक से लैस हैं. ये हेलमेट इस तरह से डिजाइन किए गए हैं कि पायलट किसी भी डायरेक्‍शन में आसानी से देख सकता है. आम हेलमेट से अलग फाइटर पायलट के हेलमेट में ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की भी पूरी व्‍यवस्‍था रहती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *