छापामार कार्यवाही में नकली दूध बनाते पकड़े गए मिलावट खोर, की बड़ी संख्या में अमानक सामग्री बरामद

भिण्ड । मिलावटखोरी करने वाली डेरियों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने बड़ी सफलता हाँसिल की है। हजारों लीटर दूध किया बरामद। मंगलवार देर शाम पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह के निर्देशन में डीएसपी हेडक्वार्टर मोती लाल कुशवाहा ने अपने दल के साथ हरिओम दूध डेयरी पर छापामार कार्यवाही करते हुए वहाँ से माल्टोस पावडर सहित बड़ी माना मात्रा में अमानक सामग्री जप्त की गई है। वही 25000 लीटर नकली दूध भी पकड़ने की खबर है। डेयरी पर छापा मारने के बाद पुलिस ने फूड विभाग के अधिकारियों को बुलाया और जानकारी के अनुसार कार्रवाई देर रात तक की जाती रही।
डीएसपी मोतीलाल कुशवाहा के बताया अभी एक ताला बन्द गोदाम को खोला जाना है जिसमे बड़ी मात्रा में नकली दूध बनाने की अमानक सामग्री मिलने की संभावना प्रबल है। यहाँ बता दें ज़िला पुलिस ने मिलावट खोरी पर अंकुश लगाने के लिए ताबड़तोड़ कार्यवाहियां की जा रहा है। विगल दिनों अटेर रोड पर लक्ष्मी डेयरी से भी बड़ी मात्रा में अमानक सामग्री पुलिस ने बरामद की थी जिससे नकली दूध बनाया जाता था । पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह कहते हैं कि प्रदेश में मिलावट खोरी पर अंकुश लगाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी संवेदनशील व गंभीर है। इसी के मद्देनजर निर्देषों का पालन करते हुए किसी भी कीमत पर मिलावट खोरी बर्दाश्त नहीं करूंगा।

मिलावट खोरी का कड़े एक्शन मंहगा पड़ा था। कलेक्टर को,,,,
तकरीबन 15 दिन पहले गोहद कस्बे में जब नकली मसाले बनाने की सामग्री फ़ूड विभाग जिला प्रशासन की टीम ने पकड़ी थी । इत्तेफाकन वह व्यापारी सत्ता पक्ष पार्टी से ताल्लुक रखने वाला निकला था। नेताओं की लाख सिफारिश के बाद भी कार्रवाई नहीं रुक सकी थी। नतीजतन कुछ दिन बाद तत्कालीन कलेक्टर डॉ वीरेंद्र सिंह रावत का स्थानांतरण कर दिया गया था। फिर हुआ था चर्चाओं का बाजार गर्म कि कलेक्टर का स्थानांतरण मिलावट माफिया के द्वारा ही करवाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *