शिल्पी चौपाल में 16 मार्च को जुटेंगें शिल्पकला के महारथी

ग्वालियर- – ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा शहर के हर वर्ग के लिये कई विकास कार्य किये जा रहे है, क्षेत्रीय कला और कलाकारों को भी एक बेहतर मंच प्रदान कराना भी स्मार्ट सिटी के मुख्य उद्देश्यो में से है। इसी उदेश्य को लेकर ग्वालियर स्मार्ट सिटी द्वारा मोतीमहल स्थित रीजनल आर्ट एंड क्राफ्ट सेंटर पर 16 मार्च मंगलवार को शाम 5 बजे एक चौपाल का आयोजन किया जायेगा। इस चौपाल मे आर्ट एंड क्राफ्ट से जुडे शिल्प कलाकार सहित इस क्षेत्र में कार्य कर रही शासकीय संस्थायो के प्रतिनिधियो सहित इस क्षेत्र के विषय विशेषज्ञ भी भाग लेंगें। चैपाल के माध्यम से शिल्प कलाकारो की समस्याओं और उनके निदान सहित उनको आत्मनिर्भर बनाने को लेकर मंथन किया जायेगा।

स्मार्ट सिटी सीईओ श्रीमती जयति सिंह ने जानकारी देते हुये बताया कि शिल्पी चौपाल के माध्यम से लोगों को शिल्प कला के प्रति जागरुक करना है। इसका प्रमुख उदेश्य शिल्पकारों को उनकी कला का सही दाम, जागरुक बनाने और उनके द्वारा उत्पादित कलाकृतियों को बेहतर विपणन एवं बाजार व्यवस्था आदि के बारे में आवश्यक जानकारी देना है। इस चौपाल मे हस्तशिल्प एवं हथकरघा विभाग के अधिकारी सहित अन्य विषय विशेज्ञय भी भाग लेगे। यह एक ओपन कार्यक्रम होगा। जिसमे इस क्षेत्र से संबंधित कोई भी व्यक्ति भाग ले सकेगा, साथ ही इस कार्यक्रम के माध्यम से शिल्प कलाकारो को किस तरह बेहतर मंच और आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। उसको लेकर भी सुझाव लिये जा सकेगे। श्रीमती सिंह नें इस क्षेत्र से जुडे सभी लोगो से अपील की है कि वह ज्यादा से ज्यादा इस चौपाल का हिस्सा बने।

रीजनल आर्ट एंड क्राफ्ट सेंटर पर अपनी कला को निखारतें हैं कलाकार

गौरतलब है कि क्षेत्रीय आर्ट और क्राफ्ट को अधिक ऊचाईयों पर पहुंचाने व इनके प्रचार-प्रसार के लिए शहर के मोती महल परिसर में स्थित रीजनल आर्ट एंड क्राफ्ट सेंटर को स्मार्ट सिटी द्वारा नए सिरे से संवारने का काम किया गया है। इस सेंटर के विकसित होने से न केवल क्षेत्रीय स्टोन आर्ट व वुडन आर्ट के कलाकारो को नई पहचान मिल सकेगी बल्कि सेंटर पर कलाकार अपनी कला को प्रदर्शित भी कर सकेगे। सेंटर पर कलाकार पर्यटकों एवं ग्वालियराइट्स को शिल्प कला हेतु ओपन मंच भी उपलब्ध कराया गया है। परिसर में नई अत्याधुनिक मशीनो के स्थापन के साथ ही इस पूरे परिसर का भी सोन्द्रीयकरण किया गया है। वर्तमान में भी इस सेंटर पर मूर्तियाँ तरासने का कार्य किया जा रहा है। सेंटर में स्वामी विवेकानंद, भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल, संविधान निर्माता डॉ. भीमराव और सदी के महानायक अमिताभ बच्चन की प्रतिमाएं इत्यादी तैयार की गई है। जो लोगो के लिये आकर्षण का केन्द्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *