ममता बनर्जी पर हमला या हादसा? मौके पर मौजूद चश्मदीदों ने बताया मुख्यमंत्री को कैसे लगी चोट

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम के बिरुलिया गांव में चुनाव प्रचार के दौरान घायल हो गईं. ममता बनर्जी के बाएं पैर में चोट लगी है और उन्हें कोलकाता के SSKM अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ममता बनर्जी ने इसे हमला बताया है और आरोप लगाया कि साजिश के तहत उन्हें चोट पहुंचाई गई.

किसी ने नहीं दिया धक्का: चश्मदीद

हादसे के समय मौके पर मौजूद छात्र सुमन मैती ने बताया, ‘जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी यहां पहुंचीं, तब उनको देखने के लिए भीड़ जमा हो गई और लोग उन्हें घेरकर खड़े हो गए. इस दौरान उन्हें गर्दन और पैर पर चोट लगी. इस दौरान किसी ने उन्हें धक्का नहीं दिया. उनकी कार धीरे-धीरे चल रही थी.’

कैसे बंद हुआ था कार का दरवाजा?

नंदीग्राम के बिरुलिया में हादसे के समय मौजूद एक अन्य चश्मदीद चितरंजन दास ने बताया, ‘मैं वहां मौजूद था, वह (ममता बनर्जी) अपनी कार के अंदर बैठी थीं, लेकिन दरवाजा खुला था. दरवाजा एक पोस्टर से टकराने के बाद बंद हो गया. किसी ने धक्का नहीं दिया और न ही मारा. उस समय दरवाजे के पास कोई नहीं था

ममता बनर्जी का आरोप

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि जब वो अपने कार के पास खड़ी थीं तो 4-5 लोगों ने उन्हें धक्का दे दिया और उनके पैर में चोट लग गई. उन्होंने आरोप लगाया कि घटना के समय वहां कोई स्थानीय पुलिस मौजूद नहीं थी. ये उनके खिलाफ साजिश है और किसी ने जानबूझकर उनका पैर कुचला.

ममता के इलाज में लगी डॉक्टरों की टीम

बता दें कि नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान घायल होने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ग्रीन कॉरिडोर के बनाकर कोलकाता लाया गया. उन्हें SSKM अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत स्थिर है. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि बनर्जी के इलाज के लिए पांच वरिष्ठ डॉक्टरों की एक टीम बनाई गई है. इस टीम में एक हृदय रोग विशेषज्ञ, एक इंडोक्रायनोलोजिस्ट, जनरल सर्जरी के डॉक्टर, एक हड्डी रोग विशेषज्ञ और एक मेडिसिन डॉक्टर हैं.

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में होगी वोटिंग

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे. पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *