हिंदू महाभा का ऐलान चाहे कुछ भी हो जाए 14 मार्च को गोडसे यात्रा निकालेंगे, देश का बच्चा-बच्चा गोडसे को जानेगा

हिंदू महासभा ने ग्वालियर से दिल्ली तक गोडसे यात्रा निकालने की ठान ली है। हिमस नेताओं का कहना है कि चाहे कुछ भी हो जाए अब देश का बच्चा-बच्चा गोडसे को जानेगा और उन्होंने यह कदम क्यों उठाया उसके पीछे क्या बजह थी यह भी युवाओं को पता लगेगी। गोडसे यात्रा के लिए गुरुवार को हिंदू महासभा ने अनुमति मांगी है। हिंदू महासभा की ओर से प्रदेश महामंत्री विनोद जोशी ने अनुमति के लिए ONLINE आवेदन कर दिया है। दो दिन में प्रशासन भी इस पर अपना रूख स्पष्ट कर देगा।

अखिल भारत हिन्दू महासभा 14 मार्च को गोडसे यात्रा निकालने जा रही है जो ग्वालियर में हिमस के कार्यालय दौलतगंज से शुरू होगी और सड़क मार्ग से होते हुए दिल्ली में हिन्दू महासभा भवन मंदिर मार्ग पर राष्ट्रीय नेताओं की भागीदारी के साथ पूरी होगी। हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने बताया कि यात्रा के माध्यम से नाथूराम गोडसे के बारे में लोगों को बताया जाएगा। ग्वालियर से दिल्ली तक पूरे रास्ते गोडसे के ज्ञान को बांटा जाएगा। यह निर्णय दो दिन पहले हुई कार्यकर्ताओं की बैठक में लिया गया है। हिंदू महासभा की गोडसे यात्रा निकालने का मकसद सिर्फ इतना है कि देश का बच्चा-बच्चा गोडसे के बारे में जाने। क्योंकि अभी तक लोग उनके सही साहित्य से अनजान हैं। इसलिए यह यात्रा निकालना और भी ज्यादा जरूरी है। इसके लिए गुरुवार को हिमस की ओर से प्रदेश महामंत्री विनोद जोशी ने ONLINE आवेदन यात्रा की अनुमति के लिए कर दिया है। अब इस पर प्रशासन को फैसला लेना है।हिंदू महासभा के तेवर देखकर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन भी लगातार उनकी हर हरकत पर नजर रखे हुए है। जिला प्रशासन को आशंका है कि गोडसे यात्रा से माहौल खराब हो सकता है। इसलिए वह लगातार हिमस नेताओं को रोकने का प्रयास करेगा। इससे पहले भी गोडसे मंदिर की स्थापना, गोडसे की ज्ञान शाला बनने के बाद प्रशासन हरकत में आया था और उसे बंद कराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *