झूठ का पुलिंदा और आंकड़ों का मायाजाल MP बजट : कमलनाथ

भोपाल। वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा ने कोरोना काल के बाद पहला बजट पेश किया. यह पहली बार है जब बजट कागजों पर नहीं बल्कि टेबलेट के जरिए पेश किया गया.कोरोना संक्रमण के चलते इस बार विधानसभा में बजट डिजिटली पेश हुआ. बजट में जहां सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य पर जोर देने की कोशिश की. वहीं प्रदेश सरकार के बजट पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने तंज कसते हुए इस बजट को झूठ का पुलिंदा बताया है.

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि आज पेश मध्यप्रदेश सरकार का बजट झूठ का पुलिंदा, दिशाहीन,निराशाजनक और सिर्फ आंकड़ों का मायाजाल है. उम्मीद थी कि इस बजट में पेट्रोल-डीज़ल की क़ीमतों से जनता को राहत प्रदान करने के लिये वैट में सरकार कमी करेगी, पंजीयन शुल्क में कमी होगी. कांग्रेस सरकार की किसान..

दूसरे ट्वीट में लिखा क़र्ज़ माफ़ी योजना को आगे बढ़ाया जाएगा. रोज़गार के नये अवसर को लेकर ठोस कार्ययोजना होगी, बदहाल शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में ठोस कार्ययोजना होगी. प्रदेश में बढ़ती बहन-बेटियों से दरिंदगी की घटनाओं को रोकने के लिये ठोस कार्ययोजना होगी.

शासकीय कर्मचारियों के लिये डीए व डीआर देने की बात होगी. कोरोना काल में ध्वस्त अर्थव्यवस्था को देखते हुए उद्योग-व्यवसाय को राहत प्रदान करने के लिये कारगर उपाय होंगे,लेकिन सब कुछ नदारद? आश्चर्यजनक है कि 15 वर्ष सत्ता में रहने वाली बीजेपी सरकार आज भी हर घर में नल से पानी देने की जल जीवन मिशन योजना की बात कर रही है , इंदौर- भोपाल मेट्रो ट्रेन के लिये अपर्याप्त राशि , एक तरफ़ सरकारी स्कूलों को बंद करने की तैयारी. वहीं 15 वर्ष बाद भी सर्व सुविधायुक्त स्कूल व स्कूलों के विकास के झूठे सपने, किसानी-खेती के लिये कुछ नहीं.

युवाओ के लिये कुछ नहीं. रोज़गार के लिये कुछ नहीं,एमएसएमई के लिये कुछ नहीं, प्रदेश में निवेश बढ़ाने को लेकर कोई कार्ययोजना नहीं, प्रति व्यक्ति घटी आय व विकास दर को बढ़ाने को लेकर कोई ठोस उपाय नहीं ? पुरानी योजनाओं को ही वापस शामिल कर गुमराह करने का प्रयास इस बजट में किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *