कांग्रेस का एमपी बन्द, सुबह से सड़क पर उतरे कांग्रेसी

भोपाल। पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ आज प्रदेशभर में कांग्रेस नेता आधे दिन के बंद के आव्हान के साथ सड़कों पर उतरे। उज्जैन में कांग्रेस कार्यकर्ता सुबह बाजारों में निकले, इस दौरान दुकानें खुली मिलीं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कुछ दुकानों को जबरन बंद कराने की कोशिश की। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस की समझाइश के बाद कार्यकर्ता मान गए। बंद का शहर में कोई खास असर देखने को नहीं मिला है।

बालाघाट में सुबह से ही स्थानीय बस स्टैंड बसों का विभिन्न रुटों के लिए संचालन हो रहा है। वहीं पेट्रोल पंप भी खुला हुआ है। इतना ही नहीं सुबह से सड़कों पर चाय नास्ता समेत अन्य दुकानें खुली होने से लोगों की भीड़ व चहलकदमी बनी हुई हैं। खुली दुकानों को बंद कराने पहुंचे कांग्रेसी, दुकानें जबरदस्ती बंद कराने पर पुलिस ने कांग्रेसियों को दी हिदायत, कहा जबरदस्ती नहीं करा सकते बंद। 2 बजे तक होने वाले इस बंद के लिए भोपाल सभी बड़े शहरों में कांग्रेस नेता दुकानदारों इसमें शामिल होने के लिए मनाते दिखे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने प्रदेशवासियों से इस बंद में हिस्सा लेने की अपील की है। उन्होंने कहा कि बढ़ती महंगाई से जनजीवन प्रभावित होने लगा है। कोरोना संकट के कारण पहले ही लोग आर्थिक तौर पर परेशान हैं। बंद दोपहर दो बजे तक रहेगा। अत्यावश्यक सेवाओं को इससे मुक्त रखा गया है। प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि बंद का कई सामाजिक और व्यावसायिक संगठनों ने पूर्ण समर्थन किया है। यह लड़ाई राजनीतिक नहीं बल्कि आम जनता के हक की है।

महंगाई के विरोध में कांग्रेस के आव्हान पर शनिवार को पूरी तरह से विदिशा बंद रहा। इस दौरान लोग चाय, नाश्ता, तंबाकू आदि के लिए भी परेशान होते रहे। सुबह से ही कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता विधायक शशांक भार्गव के नेतृत्व में अलग-अलग दलों में शहर की सड़कों और गलियों में पहुंचे और व्यापारियों से बंद का आह्वान किया जिसके चलते सब्जी, फल, पेट्रोल, मेडिकल छोड़कर सभी दुकान एवं प्रतिष्ठान बंद रहे। विदिशा बंद को लेकर कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हो इसके लिए जगह-जगह पुलिस तैनात की गई है। इसके अलावा पुलिस के वरिष्ठ अफसर स्वयं शहर का जायजा ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *