नियति का खेल देखिए, 20 साल से लापता हुसैनी अपने ही बहन के घर पहुंचा भीख मांगने 

हुसैनी से हाल चाल पूछते कल्याणपुर के पंचायत प्रधान विनोद चंद्रवंशी व अन्य।

गढ़वा का रहने वाला हुसैनी साव 20 साल से लापता था। घर के लोगों ने उसे मृत मान लिया था। उसकी पत्नी भी दूसरी शादी कर चुकी है। चचेरी बहन बिगनी ने नाम और पता पूछा तो पता चला कि चचेरा भाई है।

गढ़वा, जासं। नियति भी कभी-कभी अजीब खेल खेलती है। जिसे लोग मरा हुए समझ रहे थे, वह 20 वर्ष बाद जिंदा वापस लौट आया। वह भी ऐसी हालत में कि खुशी के साथ दुख भी बढ़ा गया। गढ़वा जिले के सदर थाना क्षेत्र के कल्याणपुर गांव निवासी जन्नत का पुत्र हुसैनी साव पिछले 20 वर्षों से लापता था। काफी वर्षों तक जब वह घर नहीं लौटा तो स्वजनों ने उसे मृत मान लिया। इस दौरान उसकी पत्नी ने दूसरी शादी कर ली। इसी बीच एक दिन हुसैनी साव भीख मांगते-मांगते छत्तीसगढ़ के बैढ़न में चचेरी बहन के घर पहुंच गया।

चचेरी बहन बिगनी ने भिखारी से पूछा की आपका नाम क्या है। जब उसने अपना नाम हुसैनी साव और घर का पता गढ़वा जिले का कल्याणपुर बताया तो बहन अपने भाई को पहचान गई। उसका प्यार भाई पर उमड़ पड़ा। बिगनी उसे अपने घर के अंदर ले गई और खाना खिलाया। नाई को बुलाकर उसके बढ़े बाल कटवाए, दाढ़ी भी बनवाई। इसके बाद बिगनी ने मोबाइल से फोटो खींच कर छत्तीसगढ़ के विजयनगर निवासी अपने चचेरे भाई कार्तिक के पास भेजी।


इसकी सूचना कल्याणपुर पंचायत के प्रधान विनोद चंद्रवंशी को मिली तो वह गांव के ताहिर अंसारी और मकबूल खान को लेकर विजयनगर पहुंचे। इस बीच हुसैनी साव की तबीयत खराब चल रही है। उसका वहीं पर इलाज चल रहा है। स्वजनों ने कहा कि तबीयत ठीक होने के बाद उसे गांव भेज दिया जाएगा। विनोद चंद्रवंशी ने बताया कि जब हुसैनी से मुलाकात हुई तो उसने सभी को प्रणाम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *