अमिताभ बच्चन की बिगड़ी तबीयत, होने जा रही सर्जरी

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की एक्टिंग के सब दिवाने हैं। बच्चन के करोड़ों फैंस है, जो उन्हें काफी प्यार करते हैं। एक्टर भी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और अपने फैंस के साथ बात शेयर करते हैं। लेकिन अब बिग बी के चाहने वाले के लिए एक बुरी खबर सामने आई है। अमिताभ ने अपने स्वास्थ्य बिगड़ने की जानकारी दी है। जिसके बाद से उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना शुरू हो गई है। दरअसल शनिवार देर रात अमिताभ बच्चन ने ब्लॉग के जरिए जानकारी दी कि उनकी सर्जरी होने जा रही है। उन्होंने लिखा है, ‘मेडिकल कंडिशन, सर्जरी, मैं लिख नहीं सकता।’ ये छोटे से वाक्य ने लोगों की बेचैनी बढ़ा दी है। फैंस उनकी सलामती की दुआएं मांग रहे हैं। हालांकि सर्जरी कब और कहां होगी इस बात की जानकारी किसी को नहीं लग पाई है। उनके प्रशंसकों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं।

बता दें कि अमिताभ अपने ब्लॉग के जरिए डेली रूटीन की जानकारी देते हैं। इससे पहले भी उन्होंने अपने तबियत ठीक नहीं होने के बारे में बताया है। उन्होंने अपने ट्विटर और इंस्टाग्राम अकाउंट पर केवल – !!!!!! ????? लिखा है। इससे पहले उन्होंने एक ट्वीट भी किया था। उन्होंने लिखा, ‘कुछ जरूरत से ज्यादा बढ़ गया है, कुछ काटने पर सुधरने वाला है। जीवन काल का कल है ये, कल ही पता चलेगा कैसे रहे वे।’

वर्कफ्रंट की बात करें तो अमिताभ बच्चन की आने वाली फिल्में ‘चेहरे’, ‘झुंड’ और ‘ब्रह्मास्त्र’ है। वहीं कोविड-19 के कारण फिल्म ‘झुंड’ की रिलीज डेट आगे बढ़ गई है। बिग बी ने मूवी का पोस्टर शेयर कर रिलीज डेट के बारे में बताया है। यह फिल्म 18 जून 2021 को रिलीज होगी। वहीं उनके फिल्म ‘चेहरे’ 30 अप्रैल को बड़े पर्दे पर दर्शकों के लिए आने वाली है। इस मूवी में अमिताभ के अलावा इमरान हाशमी, कीर्ति खरबंदा, अन्नू कपूर, रघुवीर यादव है। खास बात यह है कि इस फिल्म में रिया चक्रवर्ती भी है। लेकिन हाल ही में जारी हुए पोस्टर से उन्हें हटा दिया गया है।

ये हैं भारत के 5 सुपर रिच भिखारी, करोड़ों में है संपत्ति, फ्लैट और कैश

दुनिया में हर आदमी अपना और परिवार का पेट भरने के लिए कोई ना कोई काम या नौकरी करता है और उससे पैसे कमाता है. अगर आप से पूछा जाए कि आप एक साल में कितना कमाते हैं और कितना बचाते हैं? तो आपका जवाब होगा कि यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप दुनिया में कहां रहते हैं, और आपकी जीवनशैली कैसी है? लेकिन अगर हम बताएं कि कुछ भिखारी आपसे ज्यादा पैसे कमाते हैं तो आप यह सुनकर हैरान हो जाएंगे. लेकिन यह बिल्कुल सच है.

आज हम आपको भारत के ऐसे ही सबसे अमीर 5 भिखारियों के बारे में बताएंगे. भारत के इन सुपर-रिच भिखारियों  के पास अपार्टमेंट में फ्लैट हैं, बहुत सारी संपत्तियां हैं और बड़ा बैंक बैलेंस है. लेकिन फिर भी, वे सड़कों पर भीख मांगते हैं.

पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक देश में सबसे अमीर भिखारियों की लिस्ट में जो सबसे पहला नाम है वो भरत जैन का है. वो ज्यादातर मुंबई के परेल क्षेत्र में भीख मांगते हैं. रिपोर्ट के अनुसार उनके पास अपार्टमेंट में दो फ्लैट हैं जिनकी कीमत 70 लाख रुपये प्रति फ्लैट है. मतलब ये कि उनके पास एक करोड़ 40 लाख की तो यही संपत्ति हैं. वह प्रति माह लगभग 75,000 रुपये भीख मांगकर कमाते हैं जो भारत में औसतन एक नौकरीपेशा की कमाई से कई गुना ज्यादा है.

सबसे अमीर भिखारियों की लिस्ट में कोलकाता की लक्ष्मी दूसरे नंबर पर हैं. लक्ष्मी ने 1964 से कोलकाता में सिर्फ 16 साल की उम्र से भीख मांगना शुरू कर दिया और 50 से अधिक वर्षों के अपने जीवन में इन्होंने भीख मांग-मांग कर लाखों रुपये जुटाए. इनके सभी पैसे बैंकों में जमा हैं. लक्ष्मी आज भी 1 हजार रुपये हर दिन भीख मांगकर कमाती है. अगर महीने के हिसाब से देखें तो वो हर महीने कम से कम 30 हजार रुपये कमाती हैं.

मुंबई की रहने वाली गीता अमीर भिखारियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं. गीता मुंबई के चरनी रोड के पास भीख मांगती है और कथित तौर पर उन पैसे से उसने एक फ्लैट खरीद ली है जिसमें वो अपने भाई के साथ रहती हैं. वह प्रति दिन भीख मांगकर लगभग 1,500 रुपये कमाती है. महीने में करीब 45 हजार रुपये उनकी आमदनी है.

पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक कथित तौर पर भीख मांग कर अपना गुजारा करने वाले चंद्र आजाद के पास गोवंडी में घर,  8.77 लाख रुपये खाते में जमा और लगभग 1.5 लाख रुपये नकद हैं. 2019 में रेल दुर्घटना में अपनी जान गंवाने के बाद उनकी सारी संपत्ति मुंबई पुलिस ने ढूंढ कर निकाली थी.

रिपोर्ट के अनुसार बिहार के पटना में रेल प्लेटफॉर्म पर भीख मांगने वाले पप्पू भी अमीर भिखारियों की लिस्ट में शामिल हैं. एक दुर्घटना में पैर फ्रैक्चर हो जाने के बाद पप्पू ने पटना के रेलवे स्टेशनों पर भीख मांगने का काम शुरू किया था. कुछ रिपोर्टों के अनुसार पप्पू कुमार के पास  लगभग 1.25 करोड़ रुपये की संपत्ति है.

परिवहन और ऊर्जा मंत्री के साथ झूले में बैठे सिंधिया, 35 फीट की ऊंचाई पर पहुंचे तो बोले- वाह! क्या लग रहा मेरा मेला

ग्वालियर अंचल के तीन दिवसीय दौरे पर आए रात को मेला ग्राउंड में लगे श्रीमंत माधवराव सिंधिया व्यापार मेला पहुंचे। उनके पूर्वजों की देन यह मेला वैसे भी हमेशा सिंधिया घराने की आन-बान और शान माना जाता रहा है। यहां उन्होंने फेडरेशन हॉल में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के द्वारा भजन संध्या के कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उनके साथ परिवहन मंत्री गोविंद सिंह और ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर मौजूद थे। इसके बाद राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया मेले में भ्रमण करने निकले। जहां उन्होंने बिना मास्क के मेला में आए सैलानियों को समझाइश दी और कहा कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है।

व्यापारियों को दिलाया अच्छे कारोबार का भरोसा

व्यापारियों के द्वारा मेले में लगाई गई दुकानों पर पहुंचे, जहां उनसे समस्याओं को लेकर चर्चा की। साथ ही उनको अच्छे कारोबार का भरोसा दिलाया है। यहां कहा कि इस बार इतना कारोबार करो कि लोग देखते और सोचते रह जाएं।

झूले में बैठकर देखा मेला

व्यापारियों से बात करने के बाद वह झूला सेक्टर में पहुंचे और झूले को देख ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने आप को झूला में बैठने से रोक नहीं पाए। वह झूले में जा बैठे और उन्होंने झूला का आनंद उठाया इसके साथ ही उनके साथ मौजूद दोनों कैबिनेट मंत्री ने भी झूला झूला। वहीं सिंधिया के द्वारा मेले का आनंद उठाने के बाद कहा- इस मेले में कोई राजस्थान, कोई यूपी तो कोई मुंबई से आया है, यह इस मेला की भव्यता है।

पार्टी कमजोर हो रही…सोनिया को खत लिखने वाले कांग्रेस नेताओं ने फिर जाहिर किया गुस्सा, जानें किसने क्या-कहा?

कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन और संगठनात्मक फेरबदल की मांग करने वाले वरिष्ठ नेताओं गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा और कपिल सिब्बल समेत ‘जी-23’ के नेता शनिवार को जम्मू में एक मंच पर एकत्र हुए और उन्होंने कहा कि पार्टी कमजोर हो रही है और वे इसे मजबूत करने के लिए एक साथ आये हैं। कांग्रेस के इन असंतुष्ट नेताओं को ‘जी-23’ भी कहा जाता है। सिब्बल ने महात्मा गांधी को समर्पित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘यह सच बोलने का मौका है और मैं सच बोलूंगा। हम यहां क्यों इकट्ठे हुए हैं? सच्चाई यह है कि हम देख सकते हैं कि कांग्रेस कमजोर हो रही है। हम पहले भी इकट्ठा हुए थे और हमें एक साथ मिलकर कांग्रेस को मजबूत करना है।’

इस कार्यक्रम में समूह (जिसे अब ‘जी-23 कहा जाता है) के भूपेंद्र सिंह हुड्डा, मनीष तिवारी, विवेक तन्खा और राज बब्बर जैसे कई अन्य कांग्रेसी नेता भी शामिल हुए। इन नेताओं ने पिछले साल कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखा था और पार्टी में संगठनात्मक बदलाव करने के साथ ही पूर्णकालिक पार्टी अध्यक्ष की मांग की थी। कांग्रेस नेताओं ने आजाद के योगदान के लिए उनकी प्रशंसा की।

कपिल सिब्बल ने कहा कि वह यह समझने में असमर्थ हैं कि पार्टी उनके जैसे व्यक्ति के अनुभव का उपयोग क्यों नहीं कर रही है? आजाद का हाल में संसद के उच्च सदन राज्यसभा में कार्यकाल पूरा हुआ था। वह राज्यसभा में विपक्ष के नेता थे। आजाद ने कहा कि वह राज्यसभा से सिर्फ ”रिटायर हैं, राजनीति से नहीं। जम्मू बैठक के बारे में पूछे जाने पर, कांग्रेस ने कहा कि वे पार्टी के वरिष्ठ और उच्च सम्मानित सदस्य हैं और कांग्रेस के लिए उनका सबसे बेहतरीन योगदान पांच चुनावों वाले राज्यों में उनका सक्रिय होना और पार्टी को मजबूत करना होगा। हालांकि, पार्टी ने कांग्रेस के ‘कमजोर पड़ने’ को लेकर नेताओं की चिंता पर टिप्पणी नहीं की।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शर्मा ने बिना नाम लिए पार्टी नेतृत्व पर सवाल खड़े करते हुए जम्मू में कहा, ‘वहां मौजूद कोई भी नेता शॉर्टकट के जरिये पार्टी में नहीं आया है और किसी को यह बताने का अधिकार नहीं है कि ‘हम कांग्रेसी हैं या नहीं।’ उन्होंने कहा कि एक पार्टी ओहदा दे सकती है लेकिन नेता वही बनते हैं जिनको लोग मानते हैं। 

वहीं, हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस में दो तरह के लोग हैं। उन्होंने कहा, ‘कुछ जो कांग्रेस में हैं और दूसरे आजाद जैसे हैं जिनके अंदर कांग्रेस है।’ हुड्डा ने कहा कि जब कांग्रेस और विपक्ष मजबूत होंगे, तभी देश मजबूत होगा।

आनंद शर्मा ने कहा, ‘आज हम जहां हैं, वहां पहुंचने के लिए हम सभी ने बहुत लंबा रास्ता तय किया है। हम ऊपर से नहीं आए हैं, खिड़की या रोशनदान के माध्यम से, हम सभी दरवाजे से चलकर आये हैं। हम छात्रों के आंदोलन और युवा आंदोलन के माध्यम से आए हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने किसी को मुझे यह बताने का अधिकार नहीं दिया कि हम कांग्रेसी हैं या नहीं। किसी को यह अधिकार नहीं है। हम इसे मजबूत बनायेंगे। जब कांग्रेस मजबूत होगी … तो इससे देश का मनोबल भी बढ़ेगा।’

यह पहली बार है जब असंतुष्टों ने सार्वजनिक रूप से पार्टी नेतृत्व के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया है। आनंद शर्मा ने कहा, ‘मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है … एक संगठन आपको एक ओहदा दे सकता है। कांग्रेस आपको पदाधिकारी बना सकती है लेकिन हर पदाधिकारी नेता नहीं बन सकता है। केवल वहीं नेता बन जाते हैं, जिन्हें लोग मानते हैं।’ 

सिब्बल ने कहा कि वे यहां कांग्रेस पार्टी को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए आए है। उन्होंने कहा, ”हम उन लोगों से वादा करते हैं जो यहां बैठे हैं और कई और लोग जो बाहर हैं और हमारा समर्थन करते हैं, कि हम पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा, ”हम चाहते हैं कि देश के हर जिले में कांग्रेस मजबूत हो। हम नहीं चाहते कि कांग्रेस कमजोर हो क्योंकि अगर कांग्रेस कमजोर होगी तो देश कमजोर होगा। देश और पार्टी को मजबूत बनाने के लिए जो भी आवश्यक होगा हम त्याग करेंगे।

बंगाल: बीजेपी के रथ में तोड़फोड़ मामले में 5 लोग हिरासत में लिए गए, TMC से बताया जा रहा है संबंध

बीजेपी के रथ में तोड़फोड़ के मामले में पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है. ये सभी लोग TMC से जुड़े बताए जा रहे हैं. बीजेपी ने आरोप लगाया था कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने उनकी गाड़ियों और उसमें लगी एलईडी टीवी में जबरदस्त तोड़फोड़ की है. इसके बाद बीजेपी ने चुनाव आयोग से इस मामले में शिकायत की थी.

बंगाल बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था, “आज ही चुनाव आयोग ने बंगाल चुनाव तिथि की घोषणा की और तृणमूल कांग्रेस के गुंडो ने बिना डर के रात 11 बजे बीजेपी के कडापारा (कोलकाता) गोडाउन्न में घुसकर LED गाड़ियां फोड़ी. LED भी खोलकर ले गए. शायद गुंडो ने चुनाव आयोग को चुनोती दी है.”

चुनाव आयोग ने इस हिंसा वाले दिन ही पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की तारीख का एलान किया था. बंगाल की 294 सीटों पर 8 चरणों में चुनाव होगा. 8 चरणों में चुनाव कराने के पीछे मकसद ये हे कि चुनावी प्रक्रिया के दौरान हिंसा की घटनाओं पर रोक लगाई जाए. लेकिन बीजेपी और टीएमसी के बीच जारी रस्साकशी में बार-बार ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं.

पश्चिम बंगाल में पहले चरण के तहत राज्य के पांच जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को, दूसरे चरण के तहत चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर एक अप्रैल, तीसरे चरण के तहत 31 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैल, चौथे चरण के तहत पांच जिलों की 44 सीटों पर 10 अप्रैल, पांचवें चरण के तहत छह जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल, छठे चरण के तहत चार जिलों की 43 सीटों पर 22 अप्रैल, सातवें चरण के तहत पांच जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और आठवें चरण के तहत चार जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होगा.

लाल किला पर झंडा फहराने के मामले में बड़ा खुलासा खालिस्तानी आतंकियों के मोबाइल से खुली पोल

नई दिल्ली: लाल क़िला (Red Fort) पर झंडा फहराने के मामले में आतंकियों के मोबाइल से बड़ा खुलासा हुआ है. जांच में पता चला है कि लाल क़िला पर झंडा फहराने (Flag Hoisting On Red Fort) की साजिश पहले से ही रची जा चुकी थी.

खालिस्तानी आतंकियों के मोबाइल से खुलासा

बता दें कि दिल्ली पुलिस (Delhi Police) स्पेशल सेल ने बब्बर खालसा इंटरनेशनल (Babbar Khalsa International) के दो आतंकियों को सितंबर, 2020 में गिरफ्तार किया था. जिसके बाद अब स्पेशल सेल ने UAPA के तहत पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट फाइल की है. इन आतंकियों का नाम भूपेंद्र सिंह और कुलवंत सिंह है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, ये दोनों आतंकी कनाडा (Canada), बेल्जियम और पाकिस्तान (Pakistan) में बैठे अपने आकाओं के संपर्क में थे. दोनों आतंकी हमेशा जब फोन पर या आपस में बात करते थे तो कोड वर्ड का इस्तेमाल करते थे. जिसमें हथियारों को मेडिसिन बोलते थे.

मोबाइल में मिले आपत्तिजनक फोटो और मैसेज

दिल्ली पुलिस ने जब इनके मोबाइल की जांच की तो उसमें 1 लाख से भी ज्यादा ऐसे पेज और फोटो मिले, जो आपत्तिजनक हैं. इनमें देश विरोधी बातें लिखी हैं. इसमें भिंडरावाले के पैम्फलेट भी शामिल हैं.

आतंकियों के पास से दिल्ली पुलिस को एक ऐसा पेज मिला, जिसमें लिखा है कि 3 सितंबर 2020 में इन लोगों ने पंजाब के रायकोट में तहसील की सरकारी बिल्डिंग में खालिस्तान का झंडा फहराया था. उसका वीडियो बनाकर कनाडा, बेल्जियम और पाकिस्तान भी भेजा था.

पहले ही रची जा चुकी थी लाल क़िला में झंडा फहराने की साजिश

बरामद डॉक्यूमेंट में ये भी लिखा मिला कि आने वाले दिनों में हमें मौका मिला तो लाल क़िला पर भी झंडा फहरा देंगे, जैसे हमने रायकोट में फहराया था. ये लोग सिख फॉर जस्टिस और PJF के संपर्क में भी थे.

बता दें कि ये दोनों आतंकी जब दिल्ली में सितंबर, 2020 में हथियार लेने आए थे तब इनको पुलिस ने गिरफ्तार किया था. दिल्ली में गिरफ्तारी से पहले इन दोनों पर पंजाब में मुकदमा चल रहा है, जिसमें UAPA एक्ट लगा हुआ है.

जान लें कि अभी इस चार्जशीट को दिल्ली सरकार की तरफ से सेंक्शन नहीं मिला है. जिसकी वजह से अभी तक कोर्ट ने इसका संज्ञान नहीं लिया है.

जानिए कैसे पीपल के पत्ते का पेस्ट लगाकर रातोंरात झुर्रियों से मुक्ति पा सकते 

हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बहुत महत्व दिया जाता है। इसे न केवल धर्म से जोड़कर बल्कि वनस्पति विज्ञानऔर आयुर्वेद के अनुसार बहुत फायदेमंद माना जाता है। यह एक ऐसा पेड़ है जो की 24 घंटे हमें ऑक्सीजन देता है, जबकि अन्य पेड़ रात में कार्बन डाईऑक्साइड या फिर नाइट्रेट छोड़ते हैं। यह एक ऐसा वृक्ष है जो सूर्य के ताप को तो रोक लेता है परंतु उसके उजाले को नहीं रोकता। इसलिए पीपल के पेड़ के नीचे छाया के साथ साथ रोशनी भी होती है।

पीपल के पेड़ के फायदे

पीपल के पेड़ के नीचे रहने वाले लोग बुद्धिमान, निरोगी और अधिक उम्र वाले होते हैं।लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस पेड़ का पत्ता कई बीमारियों को दूर करने के साथ-साथ आपकी स्किन को भी खूबसूरत बना सकता है। आज हम आपको बताने वाले है पीपल के पत्ते के ऐसे ही कुछ चमत्कारी फायदे जिन्हे जानकार आप इसका इस्तेमाल शुरू जरूर करेंगे।

झुर्रियों के लिए लाभदायक

चेहरे की झुर्रियों को दूर करने के लिए पीपल का पेड़ बहुत ही लाभदायक होता है। झुर्रियों के लिए पीपल के पेड की जड़ को पानी में भिगोकर अच्छे से पीस लें और फिर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर तब तक लगाएं। जब तक यह अच्छे से सूख न जाएँ सूखने के बाद चेहरे को अच्छे से धो लें। इस पैक को नियमित रूप से लगाने पर चेहरे की बढ़ती हुई उम्र की वजह से आई हुई झुर्रियां खत्म हो जाती है।

दाद खाज और खुजली के लिए

अक्सर मौसम बदलने पर या गर्मी के अधिक मौसम में हमें दाद खाज जैसी समस्या से गुजरना पड़ता है। पीपल के चार-पांच कोमल पत्तों को चबा कर खाने और छाल का काढ़ा बनाकर आधा कप पीते रहने से दाद, खाज, खुजली से निजात मिलती है।

पेट दर्द को ठीक करें

कब्ज, गैस और पेट दर्द आदि की समस्या को दूर करने के लिए पीपल के ताजे पत्तों का जूस सुबह शाम पिए। जब आप इस जूस का सेवन करते हो तब आपका वात और पित्त भी ठीक हो जाता है।

दमा के लिए

जो लोग दमा से पीड़ित होते हैं उनके लिए पीपल किसी वरदान से कम नहीं हैं। पीपल की छाल के अंदर का भाग निकाल कर सुखा लें। इसे महीन पीस कर चूर्ण बना लें। यह चूर्ण दमा के रोगियों के लिए लाभ दायक है। सुबह-शाम एक चम्मच सेवन करें।

नकसीर में लाभदायक

गर्मियों के दिनों में अक्सर नकसीर फूटने लगती है। ऐसे में पीपल के पत्ते बहुत कारागार सिद्द होते हैं क्योंकि जब नकसीर निकलती है। तब पीपल के पत्तों का रस निकालकर नाक में टपकाने से नाक से लगातार बह रहा खून रुक जाता है और नकसीर जैसी समस्या से आराम मिलता है।

पीएं मटके का पानी, घुटने से लेकर पेट तक की परेशानियों का इलाज


पहले जमाने में फ्रिज नहीं हुआ करता था तो गर्मी में लोग पानी को ठंडा करने के लिये मिट्टी के मटके सुराही का ही इस्तेमाल करते थे। आजकल ठंडे पानी के लिेय फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन बहुत ज़्यादा ठंडा होने के कारण यह गले और शरीर के अंगो को एक दम से ठंडा कर शरीर पर बुरा प्रभाव डालता है। इससे गले की कोशिकाओं का ताप अचानक गिर जाता है, जिस कारण व्याधियां उत्पन्न होती है।

मटके का पानी अमृत है

ऐसे में आज भी कई लोग फ्रिज के बजाय मटके के पानी को ही पीते हैं। क्योंकि मटके और सुराही का पानी पीने में जो आनंद आता है वो फ्रीज़ के ठंडे पानी में कहाँ। मटके का पानी गर्मियों में केवल आनंद ही नहीं देता, इसके अलावा भी इसके कई सारे फायदे हैं जो आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

प्रतिरक्षा क्षमता

इसमें मिट्‌टी के गुण भी होते हैं जो पानी की अशुद्ध‍ियों को दूर करते हैं और लाभकारी मिनरल्स प्रदान करते हैं। शरीर को टॉक्सिन से मुक्त कर बॉडी की इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं।

ब्लडप्रेशर

मटके का पानी ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित रखने में आपकी मदद करता है। यह बैड कॉलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करता है और हार्ट अटैक की संभावनाओं को भी कम कर देता है।

गले के लिये

फ्र‍िज के पानी की अपेक्षा यह अधिक फायदेमंद है क्योंकि इसे पीने से कब्ज और गला खराब होने जसी समस्याएं नहीं होती। इसके अलावा यह सही मायने में शरीर को ठंडक देता है।

आर्थराइटिस बीमारी

मिट्टी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण यह शरीर में दर्द, ऐठन या सूजन जैसी समस्या को नहीं होने देता। इतना ही नहीं, यह आर्थराइटिस बीमारी में भी बेहद लाभकारी माना जाता है।

दमा रोग के लिये

मटके का पानी लकवे और दमे के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद है। इससे हार्ट भी हेल्दी रहता है।

डायरिया

मिट्टी के बर्तन में रखा पानी बिल्कुल शुद्ध होता है। यह उन सब बैक्टीरिया को खत्म कर देता है जो डायरिया, पीलिया और डीसेंट्री जैसी बीमारियों को जन्म देता है।

त्वचा संबंधी

मिट्टी के बर्तन में रखा पानी पीने से त्वचा संबंधित कई परेशानियां दूर हो जाती हैं। यह फोड़े, फुंसी, मुंहासे और त्वचा से संबंधित अन्य रोगों को होने नहीं देता। इसमें रखा पानी पीने से आपकी त्वचा दमकने लगती है।

पाचन क्रिया

पेट से संबंधित बीमारियों के लिए भी मटके का पानी बहुत फ़ायदेमंद होता है। इसका नियमित उपयोग पेट दर्द, गैस, एसिडिटी और कब्ज़ जैसी समस्याओं से छुटकारा दिला सकता है।

एनीमिया रोग

एनीमिया की बीमारी से जूझ रहे व्यक्तियों के लिए मिट्टी के बर्तन में रखा पानी पीना वरदान साबित हो सकता है। मिट्टी में आयरन भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। हम आपको बता दें कि एनीमिया आयरन की कमी से होने वाली एक बीमारी है।

साप्ताहिक राशिफल 28 फरवरी- 6 मार्च: 2 राशियों को मिलेगी व्यवसाय में सफलता, जानिए कैसा रहेगा ये सप्ताह 


साप्ताहिक राशिफल दिनांक 28 फरवरी से 6 मार्च तक: सभी 12 राशियों के लिए कैसा रहेगा अगला सप्ताह? यहां जानें मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुम्भ, मीन सभी का हिंदी साप्ताहिक राशिफल।

साप्ताहिक राशिफल 28 फरवरी से 6 मार्च तक (Weekly Horoscope / Rashifal): इस सप्ताह के प्रथम दिन चन्द्रमा सिंह राशि में रहेंगे।चन्द्रमा एक राशि में सवा दो दिन रहता है। इस सप्ताह गुरु व शनि मकर में,मंगल वृष में, राहु वृष में .शुक्र व सूर्य कुम्भ में तथा बुध मकर राशि में स्थित है। इस सप्ताह मेष व कन्या राशि के लोग मंगलवार के बाद विशेष लाभ में रहेंगे।तुला व कुम्भ को स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा। मीन राशि के जातक धन की प्राप्ति करेंगे। कर्क के लोग जाँब में प्रगति करेंगे। आइए अब जानते हैं प्रत्येक राशियों का  विस्तृत साप्ताहिक राशिफल।

साप्ताहिक राशिफल- 28 फरवरी  से 6 मार्च तक:

1. मेष राशिफल/Aries Horoscope: इस सप्ताह सूर्य व चन्द्रमा का गोचर मंगलवार के बाद बहुत कार्य करेगा। स्वास्थ्य व आर्थिक सुख में प्रगति रहेगी। राजनीतिज्ञ सफल रहेंगे। पीला रंग शुभ है। विष्णु जी की नियमित पूजा व श्री सूक्त का पाठ करें। भाग्य प्रतिशत-लगभग 65%

2. वृष राशिफल/Tauras Horoscope: इस सप्ताह गुरुवार के बाद का समय आर्थिक रूप से आपके लिए बहुत ही शुभ है। इस वीक वाहन खरीद सकते हैं।  छात्रों को कॅरियर में लाभ होगा। धार्मिक यात्रा की पूरी योजना बन जाएगी। नीला रंग शुभ है। भाग्य प्रतिशत-लगभग 70%

3. मिथुन राशिफल/ Gemini Horoscope: इस सप्ताह मंगलवार के बाद जाँब व व्यवसाय में लाभ होगा। किसी नवीन व्यवसाय को आरम्भ करने के लिए यह उचित समय है। सफेद रंग शुभ है। प्रतिदिन श्री सूक्त का पाठ करें। छात्रों के लिए लाभ का संयोग है। भाग्य प्रतिशत-65%


4. कर्क राशिफल/ Cancer Horoscope: इस सप्ताह मंगल व राहु के वृष में आने के बाद जाँब से सम्बन्धित कार्यों को पूर्ण करने में सफल रहेंगे। जाँब में उत्तरदायित्व परिवर्तन सम्बन्धित निर्णय लेंगे। व्यवसाय में रुके धन की प्राप्ति होगी। सफेद रंग शुभ है। प्रतिदिन सिद्धिकुंजिकास्तोत्र का पाठ करते रहें। भाग्य प्रतिशत- 80%

5. सिंह राशिफल/ Leo Horoscope: यह सप्ताह जाँब में सफलता का है। व्यवसाय में उन्नति का समय है। आईटी व मीडिया जाँब के जातकों के जाँब परिवर्तन में सफलता की संभावना है। मंगलवार को हेल्थ के प्रति सचेत रहना होगा। इस सप्ताह सुखद यात्रा कर सकते हैं। नारंगी रंग शुभ है। श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ प्रतिदिन करते रहें। भाग्य प्रतिशत- 60%

6. कन्या राशिफल/ Virgo Horoscope: इस सप्ताह छात्र कॅरियर में सफलता प्राप्त करेंगे । मंगलवार के बाद आपका स्वास्थ्य बेहतर रहेगा। आर्थिक दृष्टिकोंण से यह सप्ताह बहुत बेहतर है। नीला रंग शुभ है।श्री रामचरितमानस का प्रतिदिन पाठ करें। हरे द्रव्यों व मूंग का दान करते रहें। भाग्य प्रतिशत- 65%

7. तुला राशिफल/ Libra Horoscope:  इस वीक बिजनेस को लेकर थोड़ा तनाव में रहेंगे। बुधवार के बाद चन्द्रमा व शुक्र अचानक लाभ प्रदान करेंगे।  घर या जमीन खरीदने के लिए  बेहतर है। नीला रंग शुभ है। प्रतिदिन बजरंगबाण का पाठ करे । भाग्य प्रतिशत-  60%

8. वृश्चिक राशिफल/ Scorpio Horoscope: इस सप्ताह बिजनेस में कुछ परेशानी की संभावना है। इस वीक गुरुवार के बाद धन आगमन से प्रसन्न रहेंगे। वाहन खरीद सकते हैं। पीला रंग शुभ है। कनकधारास्तोत्र का पाठ करते रहें। भाग्य प्रतिशत-70%

9. धनु राशिफल/ Sagittarius Horoscope: गुरु व चन्द्रमा का गोचर शुक्रवार तक जाँब के लिए अनुकूल है। मंगल के वृष में आने के बाद बुधवार से कई रुके कार्य पूर्ण होना प्रारम्भ हो जाएंगे। धन आगमन से खुश रहेंगे। लाल रंग शुभ है।इस सप्ताह व्यवसाय में धन प्राप्ति की संभावनाएं हैं। हनुमानबाहुक पढ़ते रहें। भाग्य प्रतिशत- 70%

10. मकर राशिफल/ Capricorn Horoscope: इस सप्ताह कोई विशेष निर्णय लेने में थोड़े असमंजस में रहेंगे। जाँब में किसी नवीन कार्य के आगमन से खुश रहेंगे। राजनीतिज्ञ उन्नति करेंगे। नीला रंग शुभ है।हनुमान जी की पूजा करते रहें। शनिवार को तिल का दान करें। भाग्य प्रतिशत-75%

11.कुम्भ राशिफल/ Aquarius Horoscope: यह सप्ताह बिजनेस के लिए सफलता भरा होगा ।जाँब में रुका धन प्राप्त होगा। आसमानी रंग शुभ है। तिल व उड़द का दान बहुत ही फलीभूत होगा। इस वीक  स्वास्थ्य में विशेषकर श्वांश रोग से परेशानी आ सकती है। श्री विष्णुसहस्रनाम का पाठ करते रहें। भाग्य प्रतिशत- 80%

12. मीन राशिफल/ Pisces Horoscope: आईटी व मीडिया जाँब के कॅरियर में प्रोग्रेस के लिए समय अनुकूल हैं।यह सप्ताह आर्थिक दृष्टि से बहुत ही शुभ है। धार्मिक कार्यों में व्यस्त रहेंगे। छात्र लाभान्वित होंगे। नारंगी रंग शुभ है। प्रतिदिन एक धार्मिक पुस्तक का दान करें। भाग्य प्रतिशत-70 %