ग्वालियर पहुंची कोवीशील्ड की पहली खेप, अधिकारियों ने उतारी आरती

ग्वालियर। ग्वालियर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए वैक्सीन का काउंटडाउन आखिरकार गुरुवार दोपहर में उस समय खत्म हुआ जब पुणे के सीरम सेंटर से एक लाख से भी ज्यादा कोविशील्ड की डोज यहां पहुंची। ग्वालियर के स्वास्थ्य प्रबंधन संस्थान के संयुक्त संचालक कार्यालय के वैक्सीन सेंटर में जैसे ही डोज की पहली खेप पहुंची स्वास्थ विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और कर्मचारियों ने वैक्सीन को लाने वाले ट्रक का विधिवत पूजा अर्चना कर स्वागत किया और उम्मीद जताई कि यह कोरोना वैक्सीन जल्द ही इस संक्रमण को खत्म करने में कारगर साबित होगी।
दरअसल कोरोना संक्रमण को लेकर वैक्सीन का बेसब्री से ग्वालियर मैन तैयार किया जा रहा था हालांकि इसे बुधवार और गुरुवार की दरमियानी रात आना था लेकिन निर्धारित स्पीड और सुरक्षा कारणों से इसे सावधानीपूर्वक कई गाड़ियों के काफिले के साथ झांसी के रास्ते ग्वालियर लाया गया राज्य स्वास्थ्य प्रबंधन संस्थान के परिसर में सुबह से ही ग्वालियर चंबल संभाग के अलावा सागर संभाग के 13 जिलों के लिए गाड़ियां आ चुकी थी जिनसे हर जिले के लिए निर्धारित डोज को भेजा जाएगा ग्वालियर चंबल संभाग के अलावा सागर संभाग के कई जिले के लिए विशेष वाहन आ चुके थे जिनमें फ्रीजर की व्यवस्था थी कुछ स्थानों पर यह दूध बाद में भेजी जाएगी यहां पांच बड़े फ्रीजर लगाए गए हैं ग्वालियर में पहले 42 केंद्रों पर शनिवार से वैक्सीन का डोज लगाया जाना पारित हुआ था लेकिन अब इसे 6 सेंटरों पर लगाया जाएगा इनमें गजरा राजा मेडिकल कॉलेज मुरार जिला अस्पताल डबरा स्वास्थ्य केंद्र भितरवार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अलावा एयर फोर्स और मुरार छावनी के मिलिट्री हॉस्पिटल में लोगों को यह वैक्सीन लगाई जाएगी सबसे पहले वैक्सीन का डोज स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया जाएगा इसके बाद बुजुर्ग लोगों को जिनकी उम्र 50 से अधिक है उन्हें यह डोज लगाया जाएगा वहीं कोरोना वैक्सीन को लेकर बार-बार गाइड लाइन में बदलाव हो रहा है। शासन द्वारा पहले कहा गया था कि सभी हेल्थ वर्कर को डोज लगाना है जिसके लिए उनके नाम मांगे गए थे। उस समय यह नहीं कहा गया था कि गर्भवती महिला को डोज नहीं लगेगा। लेकिन वैक्सीन आने ओने के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *