Gastric Problems Remedies: पेट की गैस से हैं परेशान? यहां हैं गैस्ट्रिक समस्याओं से छुटकारा पाने के 6 आसान और कारगर तरीके 

Gastric Problems Remedies: पेट की समस्याओं को कभी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए.

How To Get Rid Of Gastric Problems: पेट की समस्याओं को कभी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए. पेट की गैस (Stomach Gas) आपके कई अंगों को प्रभावित करती है. आज की तेजी से भागती दुनिया में जिन फूड्स का लोग नियमित रूप से सेवन करते हैं, वे ट्रांस वसा, शुगर और तेल से भरे होते हैं, जिसके परिणामस्वरूप  (Stomach Problems) हो जाती हैं. जठरांत्र संबंधी मार्ग को प्रभावित करने वाले पाचन विकार और अन्य बीमारियां न केवल वयस्कों में बल्कि बच्चों, किशोरों और बुजुर्गों में भी पैदा होती हैं. हालांकि उपाय (Ways To Get Rid Of Gastric Problems) कई हैं, लेकिन आपको इनके बारे में पता होना चाहिए. क्योंकि जब तक आप गैस्ट्रिक समस्या का उपाय (Remedy For Gastric Problem) नहीं तलाशते हैं तब तक इससे निजात पाना आसान नहीं है. पेट की समस्याओं को नजरअंदाज करने से पाचन तंत्र पर बुरा प्रभाव पड़ता है. इससे Indigestion) के साथ एसिडिटी की समस्या हो जाती है. एक आम चिंता गैस्ट्रिक समस्या है. यह तब होता है जब पेट और आंतों, पाचन तंत्र (Digestive System) के अंगों में अधिशेष गैस जमा हो जाती है.

कारण  (Cause Of Gastric Problems) कई हैं. अगर आप इस तरह की किसी समस्या के परेशान रहते हैं तो आपको गैस्ट्रिक समस्या से तुरंत राहत (Instant Relief From Gastric Problem) दिलाने में कुछ कारगर उपाय मदद कर सकते हैं. यहां कुछ ऐसे ही तरीकों के बारे में बताया गया है जिन्हें आप गैस्ट्रिक प्रॉब्लम के घरेलू उपाय (Gastric Problem Home Remedies) भी कह सकते हैं. ये आसान हैं और जल्द राहत दिला सकते हैं.

गैस्ट्रिक समस्या के कारण | Common Cause Of Gastric Problems

गैस्ट्रिक समस्या के मुख्य कारकों में तेज गति से भोजन को कम करना, अधिक मात्रा में वातित पेय और जंक फूड का सेवन, स्टार्च और अघुलनशील फाइबर के उच्च स्तर के साथ व्यंजन का सेवन करना और साथ ही स्वस्थ आंत माइक्रोबायोम में फायदेमंद बैक्टीरिया यानी फायदेमंद बैक्टीरिया शामिल हैं. पेट में मौजूद, जो पाचन में सहायता करता है.

यहां हैं गैस्ट्रिक प्रोब्लम्स से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय | Here Are Home Remedies To Get Rid Of Gastric Problems

1. सौंफ के बीज

सौंफ के बीज पेट की समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक उपाय हैं. इन्हें पाचन को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से भोजन के बाद चबाया जाता है. फेनोकोन, एंथोले और एस्ट्रैगोल जैसे मूल्यवान पौधों के यौगिकों की उदार मात्रा में, सौंफ़ के बीज गैस्ट्रिक स्राव को उत्तेजित करते हैं. खाद्य कणों के अनियंत्रित प्रसंस्करण को सक्षम करते हैं और अपच और कब्ज के लक्षणों को कम करते हैं.

2. व्यायाम करने से बेहतर कुछ नहीं

शारीरिक गतिविधि की कमी पाचन विकारों के प्राथमिक कारणों में से एक है. कोई बात नहीं अगर आप घर के अंदर रह रहे हैं या व्यायाम करने के लिए बाहर जाने का मौका है, तो एक कार्यक्रम बनाएं, और रोजाना शारीरिक गतिविधि के लिए समय दें. कई इनडोर व्यायाम विकल्प हैं जैसे कि स्टेपर, थ्रेड-मिल, स्टेटिक साइकिल, आदि. वेट ट्रेनिंग भी की जा सकती है. नियमित व्यायाम से कब्ज, एसिड रिफ्लक्स, ब्लोटिंग के लक्षणों को कम किया जा सकता है.

3. योग

योग का अभ्यास करने से आपको शरीर और मन दोनों को बेहतर बनाए रखने में मदद मिल सकती है. यह तनाव के स्तर को कम करने में भी मदद कर सकता है. इसके साथ ही यह हार्मोन को नियंत्रण में लाने पाचन में सहायता करने और विश्राम को प्रेरित करने में काफी कारगर माना जाता है.

4. हेल्दी स्नैक्स

मूवी देखते समय या घर से काम करते समय ऑयली और जंक फूड्स के ऊपर हेल्दी स्नैक्स पसंद करते हैं. यह आपके पेट की समस्याओं का कारण बन सकता है. आप इसके लिए हेल्दी स्नैक्स पर स्विच कर सकते हैं. फल, सलाद, स्प्राउट्स, नट्स आदि जैसे स्वस्थ विकल्पों के लिए जाएं.

5. फाइबर का सेवन करें

फाइबर युक्त भोजन करना अच्छा है. फाइबर पेट कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने के साथ गैस्ट्रिक समस्याओं को दूर करने में कारगर भूमिका निभाता है. फाइबर को अपने डेली डाइट में शामिल कर पेट की समस्याओं को दूर किया जा सकता है. ब्रोकोली, फूलगोभी, गाजर, बीन्स, मटर, और पालक का सेवन बढ़ाएं.

6. पानी

बिना किसी समस्या के पाचन इंजन को चालू रखने के लिए, अपने शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी की आपूर्ति करें. आप नारियल, नींबू पानी, न्यूनतम चीनी के साथ ताजा रस (या चीनी के बिना सबसे अच्छा) है, और वातित पेय को अलविदा कहें. इससे आपको गैस्ट्रिक समस्याओं को दूर रखने में मदद मिल सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *