विधायकों और सांसदों को पहले कोरोना इंजेक्शन लगाने का प्रस्ताव प्रधानमंत्री मोदी ने ठुकराया, जानिए क्यों 

विधायकों और सांसदों को पहले कोरोना इंजेक्शन लगाने का प्रस्ताव प्रधानमंत्री मोदी ने ठुकराया, जानिए क्यों

नई दिल्ली वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को मात देने के लिए देश में आगामी 16 जनवरी से कोविड टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांसदों और विधायकों को झटका दे दिया है। उन्‍होंने स्पष्ट किया है कि पहले चरण में जिन तीन करोड़ लोगों को टीका लगना है, उनमें स्वास्थ्यकर्मी और फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं। इसमें जन प्रतिनिधि समेत कोई भी छलांग लगाने की कोशिश न करें।

प्रधानमंत्री मोदी ने सभी सांसदों और विधायकों को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाने के प्रस्ताव को यह कहते हुए ठुकरा दिया कि यह लोगों को बहुत बुरा संकेत देगा। पीएम ने सोमवार को कोविड टीकाकरण अभियान को लेकर मुख्यमंत्रियों के बीच बैठक की थी। इस दौरान पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने मांग की कि सांसदों और विधायकों को प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 टीका दिया जाना चाहिए। सांसद और विधायक भी वायरस से निपटने में अग्रिम पंक्ति में हैं और उन्‍हें अपने निर्वाचन क्षेत्रों के लोगों के साथ बातचीत करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *