मेवात के किसानों और खाप पंचायत ने भी खोला मोर्चा, आंदोलन को शाहीन बाग बनाने की कोशिश

सरकार के साथ वार्ता में कोई समाधान नहीं निकलने के बाद दिल्ली में किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है। आज सुबह किसानों की मिटिंंग हो रही है, जिसमें आगे की रणनीति पर विचार होगा। सरकार ने पंजाब के 32 किसान संगठनों से कहा है कि वे अपनी आपत्तियां सिलसिलेवार ढंग से बताएं। किसान संगठन इसी पर मंथन कर रहे हैं। वहीं अधिकांश किसान सरकार के साथ हुई वार्ता से संतुष्ट नहीं हैं। खबर यह भी है कि अब मेवात के किसान भी आंदोलन के समर्थन में आ गए हैं। मेवात के किसानों का कहना है कि वे भी दिल्ली जाएंगे और उन्हें कोई रोक नहीं पाएगा।

पहुंचने लगे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी

इस बीच खबर है कि दिल्ली को हरियाणा से जोड़ने वाली सिंधु बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन का समर्थन करने शाहीन बाग के आंदोलनकारी भी पहुंच रहे हैं। पिछले दो दिनों से इसमें बढ़ोतरी हुई है। इन लोगों ने शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में महीनों तक सड़क जाम किया था। मंगलवार को भी सिंधु बॉर्डर पर शाहीन बाग आंदोलन से जुड़ी कनीज फातिमा, तदमीना, रश्मि समेत कई लोग पहुंचे और उन्होंने किसानों के साथ एकजुटता प्रदर्शित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *