टी.वी.,फिल्म कलाकार 🔹मेरे लिए काम ही पूजा है : भूपेन्द्रसिंह पैमाल


➖➖➖➖➖➖
मुबंई।कहते है कि इन्सान जब ठान लेता है कि उसे क्या करना है, क्या बनना है और जब उसे अच्छे लोगों का सपोर्ट मिल जाता है, अपनी लगन मेहनत से वह कुछ बन कर देश का नाम रोशन करता है। जैसे महान राष्ट्रपति अब्दुल कलाम साहब, अभिनय की दुनिया कि मिसाल दूं तो एक शिक्षक किसान का बेटा धर्मेन्द्र आज सफल स्टार है। राजेन्द्र कुमार ने जब सफल फिल्में दी तो जुबली कुमार बन गये और राजेश खन्ना ने जब सफल फिल्में की तो वे सुपर स्टार बन गये। अपनी आवाज के कारण महानायक अमिताभ बच्चन को रेडियो वालों ने बाहर का रास्ता दिखाया था आज वे रेडियो वाले उनकी आवाज के लिए तरसते हैं। आज वे महानायक है। नए लोगों को सही मौका मिलना चाहिये क्या भरोसा कब वो अच्छा कलाकार बन जाये।
इंदौर में जन्मे पले-बढ़े हुए स्कूल-कॉलेज के जलसों में अभिनय किया। कई प्रोडक्ट के लिये मॉडलिंग भी कि और कई धारावाहिकों में अभिनय जैसे ये है मोहब्बतें, बेहद, ना हौंसला हारेंगे हम, इश्कबाज, दिल वाले ओबेरॉय में इंदौर के कलाकार भूपेन्द्रसिंह पैमाल आज किसी परिचय के मोहताज नहीं है। हाल ही में डायरेक्टर आलोक श्रीवास्तव की रिलीज हुई फिल्म इनकाउंटर में भी अभिनय किया है। भूपेन्द्र सिंह ने हमें बताया मैं इन्दौर सहित देश के कई शहर जैसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता सहित कई जगह पर मॉडलिंग कर चुके हैं। कई शो में वे जज भी बने हैं। पिताजी चाहते थे मैं उनके कारोबार में हाथ बंटाऊं पर मेरा मन अभिनय करने का था सो मैं इस लाईन में आ गया। चालीस से ज्यादा मॉडलिंग शो कर चुका हूं। कई धारावाहिक भी किये। अब मेरा खुद का प्रोडक्शन हाऊस है। मेरे बड़े भाई देव पैमाल मिस्टर इंडिया के साथ टॉप रुप मॉडल रह चुके हैं।
हमारे देश में (लॉक-डाउन) के समय तो फिल्म इंडस्ट्री का पैंटर्न ही बदल गया। स्क्रीप्ट राइटरों को नई-नई कहानियों पर काम करना होता है। फिल्म एवं टेलीविजन इंडस्ट्री को बहुत नुकसान भी हुआ। इस कठिन समय में महानायक अमिताभ बच्चन, सोनू सुद, अक्षय कुमार, नाना पाटेकर जैसे अभिनेताओं ने दरिया दिल दिखाकर जनमानस की मदद भी की। कई नए कलाकार डिप्रेशन में चले गये, कईयों ने आत्महत्या भी की। मैं हमेशा आने वाले कलाकरों को कहता हूं अभिनय की शुरुआत अपने घर से शुरू करें। एक अच्छा इन्सान अच्छा कलाकार वह अपने परिवार से ही बनता है। अभिनय तो अंतर आत्मा से ही निकलता है। मेरे लिये तो अभिनय ही पूजा है या ये कहूं कि अभिनय का काम मेरे लिए पूजा है। आज नये कलाकारों को कई अच्छे अवसर मिल रहे यूट्यूब के साथ वेब सिरीज में भी नये कलाकारों को चान्स मिल रहा है। नए-नए धारावाहिक बन रहे हैं। मैं फिल्मों में ऐसा अभिनय करना चाहता हूं कि परिवार के लोग एक साथ बैठकर देखे, मेरे अभिनय की चर्चा हो। आज वेबसीरीज में ज्यादातर गाली-गलौच होती है वह मुझे पसंद नहीं है। इसलिये वेब सीरीज के कई ऑफर्स मैंने छोड़ दिये। हाल ही में जल्दी ही एक बड़े बजट की फिल्म करने जा रहा हूं। मैं सब तरह के रोल करना चाहता हूं। आप रूला तो सकते है पर हंसाना बहुत मुश्किल है। जल्दी ही फिल्म एवं टीवी सीरियल के लिये अच्छा वक्त आने वाला है। फिल्म एवं टीवी के कई दिग्गज हमें वक्त से पहले छोड़कर चले गये। मुझे बहुत दुख है। मैं अच्छे निर्माता-निर्देशों की फिल्में करना चाहता हूं। भले ही कम फिल्में करूं मगर जो भी करूंगा फिल्में ही करूंगा काफी लोगों से बात चल रही है… बस समय का इन्तजार है।


——––__

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *