प्यार में चखा बेवफाई का स्वाद,तो खुद का नाम रखा बेवफा चाय वाला

ग्वालियर । यूं तो प्यार में धोखा खाने वाले लोगों के बहुतेरे किस्से- कहानियां हमने सुनी हैं, जिसमें सभी धोखा खाने वाले लोग दूसरे पर बेवफाई का इल्जाम लगाकर खुद का दामन साफ बताते हैं। ग्वालियर के गोला का मंदिर, हनुमान नगर रोड पर लगभग 20 वर्षों से चाय की दुकान चलाने वाले कालू उर्फ रामजीत किरार की जिंदगी में बेवफाई की कड़वाहट घुली तो उन्होंने किसी और को इसका जिम्मेदार न बताकर खुद को ही बेवफा नाम दे दिया। कालू राम उर्फ रामजीत किरार अब तक जो सादा, कड़क, बिना शक्कर और मसाले वाली चाय के स्वाद लोगों तक पहुंचाते थे, अब उन्होंने अपनी दुकान का नाम बदल कर टूटे हुए दिल का अस्पताल काली बेवफा चाय वाला रख लिया है। साथ ही चाय के नाम व दाम भी बदल दिए है। अब उनकी चाय की दुकान पर प्यार में धोखा चाय 5 रुपये में मिलती है। इस चाय में दूध को केवल उसका रंग बदलने के लिए डाला जाता है।

चाय के नाम आैर उसके दामः

-प्रेमी जोड़ों की स्पेशल चाय- 15 रुपये। इस चाय में दूध की मात्रा ज्यादा होने के साथ ही इसमें इलायची का भी स्वाद मिलता है।

नए प्रेमियों की चाय 10 रूपये में उपलब्ध है। इसमें सिर्फ दूध का उपयोग होता है।

-मनचाहा प्यार पाने के नाम से बिकने वाली चाय 49 रुपये आैर सबसे महंगी भी है। इसमें इलायची, सोंफ, पीपल, दालचीनी,काली मिर्च सहित स्वास्थ्य के लिए लाभकारी मसालों का उपयोग होता है।

अकेलापन चाय 20 रूपये की है। इसमें चाय में दूध के साथ मलाई का स्वाद भी मिलता है।

डेमाे दिखाकर पी लाे मुफ्त चायः

बेवफा टी स्टाल पर पत्नी से प्रताड़ित लोगों के लिए फ्री में चाय पीने का स्पेशल ऑफर भी है। इसके लिए व्यक्ति को पत्नी के साथ दुकान पर आकर पति-पत्नी के झगड़े का लाइव डेमो देना होगा। आजकल यह कालू बेवफा चाय वाले की दुकान लोगों को अपनी ओर खूब आकर्षित कर रही है।

पत्नी का प्यार हासिल करने के लिए दो बार की शादी- गोसपुरा नं.2 ग्वालियर निवासी रामजीत किरार उर्फ कालू चाय वाले की पहली शादी 2013 में हुई थी । पहली पत्नी का 2015 में बीमारी से निधन हाे गया। पहली पत्नी से कालू के एक बेटा भी है। दूसरी शादी उन्होंने 2017 में की, जिससे उन्हें डेढ़ साल की एक बेटी है। कालू ने बताया कि दाे शादी करने के बाद भी उन्हें सच्चा प्यार नहीं मिला है। इसकी कमी वे अपनी तरह प्यार में धोखा खाने वाले और पत्नी से प्रताड़ित लोगों को चाय में मिठास घोलकर पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने चाय के पोस्टर भी कई जगह लगा दिए हैं, जिसे पढ़कर लोग दूर-दूर से उनकी दुकान पर आने लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *