शीतकालीन सत्र को लेकर संशय:विधानसभा का सत्र बुलाएं या नहीं मंत्री के पास पहुंची फाइल

विधानसभा के शीतकालीन सत्र को लेकर अभी संशय की स्थिति है। हालांकि संसदीय कार्य विभाग ने इस संबंंध में कार्यवाही शुरू कर दी है। संसदीय कार्य विभाग ने सत्र को लेकर फाइल विभागीय मंत्री के पास भेजी है।

सत्र कब होना है, कितने दिन का होना है या अभी नहीं होना है, यह तय करने के लिए ही फाइल भेजी गई है। इसमें कहा गया है कि आगामी सत्र में नए चुने गए विधायकों को शपथ दिलाना है और अध्यक्ष-उपाध्यक्ष का चुनाव कराना है। सत्र और तारीख के संबंध में अंतिम फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लेंगे। सूत्रों के अनुसार 21 से 24 दिसंबर तक 4 दिवसीय सत्र बुलाया जा सकता है।

टल भी सकता है सत्र
कोरोना की स्थिति को देखते हुए संसद का शीतकालीन सत्र स्थगित कर दिया गया है। मप्र विधानसभा के आगामी सत्र को लेकर भी यह संशय है क्योंकि कोरोना के कारण पिछला सत्र एक दिन में ही हो गया। इससे पहले एक सत्र कोरोना की वजह से ही निरस्त कर दिया गया था।

दो बार टल चुका है चुनाव
अभी रामेश्वर शर्मा प्रोटेम स्पीकर हैं। वे सबसे लंबे समय तक प्रोटेम स्पीकर के पद पर रहने वाले नेता हैं। जगदीश देवड़ा ने मंत्री बनने पर प्रोटेम स्पीकर पद से इस्तीफा दिया था, उसके बाद 2 जुलाई से शर्मा यह पद संभाल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *