अयोध्या में राम मंदिर की तर्ज पर कर्नाटक के हंपी में बनेगा हनुमान मंदिर, लगेगी दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति

अयोध्या. राम नगरी अयोध्या में राम मंदिर की तर्ज पर कर्नाटक (Karnataka) के हंपी शहर में हनुमान जी के भव्य मंदिर के निर्माण की तैयारी है. अयोध्या के श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तर्ज पर ही हनुमत जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट बनाया गया है. यही नहीं जिस तरह अयोध्या में भगवान राम की भव्य और सबसे ऊंची मूर्ति लगाई जाएगी, उसी तरह किष्किंधा यानि कर्नाटक के हंपी शहर में हनुमान जी की 215 फीट की भव्य और विशाल मूर्ति लगाने की तैयारी है. सब कुछ अयोध्या की तर्ज पर किया जा रहा है. हनुमान जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से राम मंदिर निर्माण की तरफ से 100 फीट का एक रामलला के मंदिर में स्थापित करने के लिए टीक वुड से तैयार एक रथ दिया जाएगा, जो 2 साल में तैयार होगा. इसके निर्माण की लागत लगभग 2 करोड रुपए की लीागत आएगी.

215 फीट ऊंची दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति लगेगी

किष्किंधा (जिसे आज कर्नाटक का हम्पी शहर कहा जाता है) तुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित है. वाल्मीकि रामायण में इसे पहले बालि और उनके पश्चात सुग्रीव का राज्य बताया गया है. श्रीराम के अनन्य भक्त हनुमान का जन्म स्थान इसी क्षेत्र के पंपापुर किष्किंधा को माना जाता है. इसके लिए हनुमान जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का गठन किया गया है. यहीं पर दुनिया की सबसे ऊंची हनुमान जी की मूर्ति (जिसकी ऊंचाई 215 फीट बताई जा रही है) स्थापित की जाएगी.

1200 करोड़ रुपए आएगा खर्च

इस मूर्ति के निर्माण में लगभग 1200 करोड़ रुपए का खर्च आएगा. इसके लिए हनुमान जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट रथ यात्रा निकालकर हनुमान भक्तों से चंदा एकत्र करेगा. यानि अयोध्या के श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तर्ज पर ही हनुमान जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट बनाया गया और अयोध्या में लगने वाली भव्य और विशाल राममूर्ति की तर्ज पर ही कर्नाटक के हम्पी शहर में हनुमान जी की सबसे बड़ी 215 फीट की मूर्ति लगाने की तैयारी है. हनुमान ट्रस्ट के अध्यक्ष और पदाधिकारी अयोध्या आए हुए हैं.

12 वर्ष के लिए किष्किंधा रथ यात्रा निकल रही

हनुमान जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (पंपा क्षेत्र) के अध्यक्ष स्वामी गोविंद आनंद सरस्वती ने बताया कि हनुमान जी की जन्म स्थली किष्किंधा में दुनिया में सबसे बड़ी 215 फीट की एक प्रतिमा तुंगभद्रा नदी के किनारे और हनुमान जी का 20 एकड़ में 100 करोड़ से भव्य मंदिर बनाया जाएगा. उसका शिलान्यास हो गया है. संपूर्ण भारत देश में 12 वर्ष के लिए किष्किंधा रथ यात्रा निकल रही है. इसमें ठाकुर जी विराजमान होंगे. सीता, राम, लक्ष्मण, हनुमत समेत पंचधातु उत्सव मूर्तियां हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *