क्रेडिट कार्ड पर लगने वाले 5 चार्ज, जिनके बारे में अक्सर बैंक या एंजेट आपको कुछ नहीं बताते.

अगर आप क्रेडिट कार्ड लेने की सोच रहे हैं, क्योंकि किसी ने आपको उसके फायदे गिना दिए हैं और कहा है कि वह मुफ्त में मिलता है, तो जरा सचेत हो जाएं। मुफ्त कुछ नहीं होता। क्रेडिट कार्ड पर भी तमाम चार्ज लगते हैं। आइए 5 अहम चार्ज के बारे में जानते हैं।

क्रेडिट कार्ड पर लगने वाले 5 चार्ज, जिनके बारे में अक्सर बैंक या एंजेट आपको कुछ नहीं बताते!

अगर आपसे कोई कहे कि क्रेडिट कार्ड आपको मुफ्त में मिलता है और उस पर कोई चार्ज नहीं लगता, तो वो गलत कह रहा है। क्रेडिट कार्ड पर तमाम छूट और रिवॉर्ड प्वाइंट्स के बारे में बताने वाले तो आपको खूब मिल जाएंगे, लेकिन ये कोई नहीं बताता कि अगर ध्यान नहीं दिया तो ढेरों फायदे वाला क्रेडिट कार्ड नुकसान की वजह बन सकता है। चीजें सस्ती दिलाने वाला क्रेडिट कार्ड आपको बहुत महंगा पड़ सकता है अगर आपको इस पर लगने वाले चार्ज के बारे में ना पता हो। कुछ चार्ज तो हर कार्ड पर लगते ही हैं, कुछ आपकी लापरवाही से लग जाते हैं। कुछ चार्ज का तो बैंक या एजेंट जिक्र भी नहीं करते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही 5 अहम चार्ज के बारे में।

1- सालाना चार्ज

ये ऐसा चार्ज है, जो अलग-अलग बैंक अलग-अलग लगाते हैं। बहुत से ऐसे भी बैंक हैं जो ये चार्ज नहीं लेते तो कुछ ऐसे हैं जो ये चार्ज तो लेते हैं, लेकिन अगर आप एक तय सीमा से अधिक के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो वह ये फीस वापस कर देते हैं। तो अगर आप कोई क्रेडिट कार्ड लें तो पहले देख लें कि बैंक उस पर सालाना चार्ज तो नहीं लगा रहा और अगर लगा रहा है तो उसकी पॉलिसी होनी चाहिए कि एक तय सीमा तक खर्च के बाद वह पैसे वापस करे। वहीं अगर बैंक हर हाल में सालाना चार्ज ले रहा है तो वह क्रेडिट कार्ड उसी सूरत में लें जबकि आपको उसकी बहुत अधिक जरूरत है।

2- क्रेडिट कार्ड बकाया पर ब्याज

वैसे तो ये चार्ज हर बैंक लगाता है, लेकिन उन्हीं पर लगाता है जो समय से क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं देते हैं। यानी अगर आप अपनी ड्यू डेट तक भुगतान कर देते हैं तो ठीक, वरना क्रेडिट कार्ड कंपनी की तरफ से आप पर भारी भरकम ब्याज लगाया जाता है। ध्यान रहे कि मिनिमम ड्यू का भुगतान भी आपको भारी-भरकम ब्याज से नहीं बचा सकता। इसलिए हमेशा ड्यू डेट तक अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान जरूर करें, भले ही उसके लिए आपको कहीं और से पैसे लेने पड़ें, वरना आप पर 40 फीसदी तक का ब्याज लग सकता है।

3- कैश निकालने पर लगने वाला चार्ज

क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने से पहले ये समझ लीजिए कि क्रेडिट कार्ड से खर्च किया हर रुपया एक तरह का लोन होता है। ऐसे में अगर आप क्रेडिट कार्ड से कैश निकालते हैं तो ध्यान रहे कि उस पर कैश निकालने के दिन से ही चार्ज लगने लगेगा। यानी अगर आप कार्ड से शॉपिंग करते हैं तो आपको ड्यू डेट तक बिना किसी ब्याज के पैसे चुकाने होते हैं, लेकिन अगर कैश निकाल लेते हैं तो उस पर पैसे निकालने के दिन से ही पैसे चुकाने के दिन तक का ब्याज चुकाना होगा। ऐसे में ध्यान रहे कि जब तक सारे रास्ते बंद ना हो जाएं, तब तक क्रेडिट कार्ड से कैश ना निकालें, वरना बहुत भारी नुकसान होगा।

4- सरचार्ज का रखें ध्यान

लगभग सभी बैंकों के क्रेडिट कार्ड पर तेल भरवाने पर सरचार्ज लगता है। वैसे तो अधिकतर बैंक क्रेडिट कार्ड देते समय ही ये साफ कर देते हैं कि सरचार्ज रिफंड होगा, लेकिन अगर बैंक ऐसी जानकारी ना दे तो उससे स्पष्ट जरूर कर लें। अधिकतर बैंक एक निश्चित सीमा तक ही सरचार्ज रिफंड देते हैं। जैसे हो सकता है कि आपको कम से कम 500 और अधिक से अधिक 5000 रुपये की ट्रांजेक्शन पर सरचार्ज रिफंड मिले। साथ ही हो सकता है कि आपको एक महीने में 100 या 200 या बैंक की तरफ से कोई और तय रकम ही सरचार्ज के तौर पर रिफंड हो। ऐसे में क्रेडिट कार्ड लेने से पहले इस चार्ज के बारे में पूरी जानकारी ले लें।

5- ओवरसीज ट्रांजेक्शन चार्ज

क्रेडिट कार्ड देते हुए बहुत सारे बैंक अपने फीचर्स में ये बात शामिल करते हैं कि आप उनका क्रेडिट कार्ड विदेशों में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि, ये ध्यान देने की जरूरत है कि विदेशों में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर आप पर भारी भरकम चार्ज भी लगते हैं, जिनके बारे में बैंक नहीं बताता। अगर आप भी विदेश यात्रा करने की सोच रहे हैं और वहां जाकर अपने क्रेडिट कार्ड से कुछ शॉपिंग करने की योजना है, तो पहले अपने बैंक से ये सुनिश्चित कर लीजिए कि वह आप पर कितना चार्ज लगाने वाला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *