अभिनंदन वर्धमान पर पाकिस्तान की पोल खोलने वाले पूर्व स्पीकर को सजा देगी इमरान सरकार

एयर फोर्स के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की रिहाई मामले पाकिस्तान और उसके सेना प्रमुख की पोल खोलने वाले नेशनल असेंबली के पूर्व स्पीकर अयाज सादिक को जल्द ही इमरान खान और सेना के जुल्मों का सामना करना पड़ेगा। उन्हें सच बोलने की सजा भुगतनी होगी। इमरान खान की सरकार में सूचना मंत्री शिबली फराज ने बकायदा धमकी देना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा है कि उन्होंने जो गलती की है उसके लिए माफी नहीं दी जा सकती है और इसकी सजा दी जाएगी।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के दुस्साहस का जवाब देते हुए भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था। हालांकि, ‘डॉग फाइट’ में विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह से उन्होंने सफलतापूर्वक इजेक्ट किया और उन्होंने पीओके में लैंड किया था। पाकिस्तान ने भारत के दबाव और प्रतिक्रिया से डरकर अभिनंदन को रिहा करने का फैसला किया था। पाकिस्तान के सांसद अयाज सादिक ने भी इसकी पुष्टि की है।

सांसद अयाज सादिक ने कहा कि भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को लेकर बुलाई गई बैठक में खुद पीएम इमरान खान ने आने से इनकार कर दिया था। उसमें पाक आर्मी चीफ आए तो मगर उनके पैर कांप रहे थे और चेहरे पर पसीना था, कहीं भारत अटैक न कर दे। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि अगर अभिनंदन को सीमा पार नहीं जाने देंगे तो भारत रात 9 बजे पाकिस्तान पर हमला कर देगा।

अक्सर परमाणु हमले की गीदड़ भभकी देने वाले पाकिस्तान की पोल खुली तो अब उसे चेहरा छिपाने की जगह नहीं मिल रही है। यही वजह है कि अब इमरान सरकार अयाज सादिक से बदला लेने पर तुल गई है। इमरान के मंत्री शिबली फराज ने ट्वीट किया, ”अयाज सादिक ने जो कहा वह माफी योग्य नहीं है। अब कानून अपना काम करेगा।” फराज ने जोर देकर कहा, ”राज्य को कमजोर करना अक्षम्य अपराध है और सादिक और उनके समर्थकों को इसकी सजा दी जाएगी।” 

पाकिस्तानी न्यूज चैनल दुनिया टीवी के मुताबिक, पीएमएल-एन नेता अयाज सादिक के खिलाफ लाहौर के सिविल लाइन्स पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने आवेदन को लीगल डिपार्टमेंट में सलाह के लिए भेजा है।

पाकिस्तान पर नजर रखने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि अयाज सादिक को सच बोलने की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी, आखिर उन्होंने सेना की पोल खोल दी है। पाकिस्तान में यह नया नहीं है, सेना से पंगा लेने वालों को अक्सर अपनी जान गंवानी पड़ती है या फिर यातनाओं से उनकी जिंदगी को जहन्नुम बना दिया जाता है। आने वाले समय में अयाज के साथ भी ऐसा ही हो सकता है।

गौरतलब है कि पहले भी पीएमएल-एन के दो वरिष्ठ सांसदों ने आरोप लगाया था कि पीटीआई के नेतृत्व वाली सरकार भारतीय पायलट को छोड़ने का फैसला दबाव में ले रही है। अयाज सादिक ने बैठक के ब्योरे को संसद में रखकर सच को दुनिया के सामने ला दिया। उन्होंने बताया कि किस तरह आर्मी चीफ के पैर कांप रहे थे और विदेश मंत्री ने कहा कि अभिनंदन को नहीं छोड़ा गया तो भारत रात 9 बजे हमला कर देगा। 

इससे पहले पाकिस्तान सेना ने गुरुवार सादिक की बातों का खंडन करते हुए कहा कि अभिनंदन को छोड़ने का फैसला एक जिम्मेदार मुल्क की ओर से उठाया गया गंभीर कदम था। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि नेशनल असेंबली के पूर्व स्पीकर का बयान सच के उलट है और दुख की बात है कि जिम्मेदार लोग गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि गैर जिम्मेदाराना बयानों से राजनीतिक फायदा लेने की कोशिश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *