ग्वालियर में छेड़छाड़ के मामले में फरार आरोपित टीआइ पर घोषित हो सकता है इनाम

ग्वालियर। । छेड़छाड़ के मामले में आरोपित इंस्पेक्टर का 5 दिन बाद भी पुलिस पता नहीं लगा पाई है। लगातार फरार होने पर एसपी जल्द इनाम की घोषणा कर सकते हैं। साथ ही उसकी संपत्ति कुर्की की भी तैयारी है। कंपू थाने में पदस्थ तत्कालीन टीआइ केएन त्रिपाठी ने स्कूटर छुड़वाने आई महिला से पहले वाटसएप पर चेटिंग की और उसे थाने बुलाकर अपने केबिन में छेड़छाड़ की थी। इस मामले में पीडि़ता ने पुलिस अफसरों से शिकायत की थी। जिस पर पुलिस कप्तान अमित सांघी के निर्देश पर महिला थाने में छेड़छाड़ का मामला किया था। वहीं पुलिस कप्तान ने आरोपी निरीक्षक को संस्पेड कर दिया था। पर उस दिन के बाद आरोपित न तो पुलिस के हाथ आया है न ही सस्पेंड होने के बाद पुलिस लाइन में आमद दर्ज कराई है।

इनाम होगा घोषित

पुलिस कप्तान अमित सांघी ने बताया कि 5 दिन बाद भी आरोपित पुलिस को नहीं मिला है। अब आरोपित की गिरफ्तारी के लिए उस पर इनाम घोषित किया जाएगा।

10 से 12 स्थानों पर दबिश, नहीं मिला पुलिस अफसर

महिला थाना प्रभारी शैलजा गुप्ता ने बताया किआरोपित की तलाश में पुलिस की टीम लगातार दबिश दे रही है। रविवार रात को ही पुलिस टीम ने करीब 10 से 12 स्थानों पर आरोपित की तलाश में दबिश दी है, पर वो हाथ नहीं आया है।

तिरंगा फहराने से रोकना राष्ट्रद्रोह, महबूबा और फारूक पर एक्शन ले सरकार: संजय राउत

जम्मू-कश्मी में पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के तिरंगे को न उठाने और फारूक अब्दुल्ला के आर्टिकल 370 को वापस लागू करने वाले बयान पर सियासत जारी है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने तिरंगे के विरोध और चीन की मदद से कश्मीर में धारा 370 लागू कराने संबंधी बयान पर महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। संजय राउत ने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा कि अगर किसी को तिरंगा फहराने से रोका जाता है तो इसे राष्ट्रद्रोह माना जाए।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, ‘अगर महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला और अन्य लोग चीन की मदद से कश्मीर में धारा 370 लागू करना चाहते हैं तो केंद्र सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए। अगर कोई भी व्यक्ति जो कश्मीर में तिरंगा फहराना चाहता है, उसे रोका जाता है, तो मैं इसे ‘राष्ट्रद्रोह’ मानता हूं।’

यह पूछे जाने पर कि क्या केंद्र सरकार को यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करना चाहिए, शिवसेना के राज्यसभा सांसद राउत ने कहा कि हमने पहले भी यह कहा है कि देश में यूनिफॉर्म सिविल कोड (सामान नागरिक संहिता) लागू होना चाहिए। अगर सरकार ऐसा कुछ लाती है तो हम इस संबंध में फैसला लेंगे।’

दरअसल, बीते दिनों महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा दूसरा कोई झंडा नहीं उठाऊंगी। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस झंडे को भी उठा लेंगे। मगर जब तक हमारा अपना झंडा वापस आ नहीं जाता है तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को पिछले वर्ष अगस्त में समाप्त किए जाने के बाद से महबूबा हिरासत में थीं । रिहा होने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि पूर्व राज्य का झंडा और संविधान बहाल होने तक उन्हें व्यक्तिगत तौर पर चुनाव लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है।

वहीं, फारूक अब्दुल्ला ने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा था, ”जहां तक चीन का सवाल है मैंने तो कभी चीन के राष्ट्रपति को यहां बुलाया नहीं। हमारे वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) ने उसे गुजरात में बुलाया, उसे झूले पर भी बिठाया, उसे चेन्नई भी ले गए, वहां भी उसे खूब खिलाया, मगर उन्हें वह पंसद नहीं आया, और उन्होंने आर्टिकल 370 को लेकर कहा कि हमें यह कबूल नहीं है। और जब तक आप आर्टिकल 370 को बहाल नहीं करेंगे, हम रुकने वाले नहीं हैं, क्योंकि तुम्हारे पास अब यह खुल्ला मामला हो गया है। अल्लाह करे कि उनके इस जोर से हमारे लोगों को मदद मिले और अनुच्छेद 370 और 35A बहाल हो।”

बिहार में 71 सीटों पर वोटिंग जारी, औरंगाबाद में बड़ी साजिश नाकाम

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान सुबह 7 बजे शुरू हो गया है। पहले चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान हो रहा है। कुल 1066 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें 114 महिला और 952 पुरुष हैं। आठ मंत्रियों की किस्मत का फैसला होना है। लोकजनशक्ति पार्टी यानी LJP के 42 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसी इलाके से पिछली बार (2015 के विस चुनाव में) लालू की पार्टी राजद के 27 विधायक जीतकर आए थे। पहली बार विधानसभा चुनाव में अपने गठबंधन का नेतृत्व कर रहे तेजस्वी यादव के लिए भी पहला दौर बेहद महत्वपूर्ण है। दलों के हिसाब से देखें तो पहले चरण में RJD के सबसे ज्यादा 25 विधायक मैदान में हैं। दूसरे नंबर पर JDU है, जिसके 23 विधायक हैं। भाजपा के 13 और कांग्रेस के 8 विधायक हैं।

औरंगाबाद में मतदान शुरू से ठीक पहले दो आईईडी मिले। इसे चुनाव में खलल डालने की बड़ी साजिश माना जा रहा है, जिसे नाकाम कर दिया गया। सीआरपीएफ ने इन्हें डिफ्यूज कर दिया।

लखीसराय के बड़हिया स्थित बूथ पर ईवीएम खराब। मतदान शुरू होने का इंतजार करते केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह। बांका जिला की पांच विधानसभा सीट के लिए 14 लाख मतदाता आज 62 प्रत्याशियों की किस्मत तय करेंगे। सभी 2045 बूथ के लिए मतदान सुबह सात बजे से ही शुरु हो गया है। नक्सल प्रभाव वाले कटोरिया और बेलहर विधानसभा क्षेत्र के बूथों पर मतदान शाम चार बजे ही बंद हो जाएगा।

ज्योतिष के उपाय: शाम के समय घर में नहीं होना चाहिए अंधेरा, इससे घर में आती है नेगेटिविटी और परेशानियां 

हर कोई यही चाहता है कि धन की देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद उस पर बना रहे। इसके लिए वह पूरे विधि-विधान से भगवान को मनाने में जुटा रहता है तो कभी दान-धर्म कर पुण्य कमाता है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए पूजन स्थान पर उचित रोशनी का होना भी बहुत जरुरी है। ये भी वास्तु का एक नियम है, जिससे माता लक्ष्मी शीघ्र ही अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाती हैं।

उज्जैन. हर कोई यही चाहता है कि धन की देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद उस पर बना रहे। इसके लिए वह पूरे विधि-विधान से भगवान को मनाने में जुटा रहता है तो कभी दान-धर्म कर पुण्य कमाता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, कम ही लोग ये जानते हैं कि मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए पूजन स्थान पर उचित रोशनी का होना भी बहुत जरुरी है। ये भी वास्तु का एक नियम है, जिससे माता लक्ष्मी शीघ्र ही अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाती हैं।

पूजा घर में करें ये उपाय
घर में पूजन स्थान बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि घर की सुख-समृद्धि और धन के आवागमन पर इसका सीधा असर पड़ता है। वास्तु के अनुसार, पूजा घर ईशान कोण में ही बनाया जाना चाहिए क्योंकि यही स्थान देवताओं के लिए निश्चित किया गया है। पूजा घर में पीले रंग के बल्व का उपयोग करना शुभ होता है तथा शेष कक्ष में दूधिया बल्व का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है और व्यापार-व्यवसाय में तरक्की होती है।

इस समय घर आती हैं देवी लक्ष्मी
वास्तु के अनुसार, शाम के समय पूजन स्थान पर इष्ट देव के सामने प्रकाश का उचित प्रबंध होना चाहिए, इसके लिए घी का दीया जलाना अत्यंत उत्तम है। शास्त्रों के अनुसार, इस समय घर में धन की देवी लक्ष्मी का प्रवेश होता है। यदि इस समय घर में अंधेरा होता है तो लक्ष्मी अपना मार्ग बदल लेती है और बाहर की नकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश कर जाती है। ऐसी अशुभ ऊर्जा को रोकने तथा घर में लक्ष्मी के वास के लिए गोधूलि बेला के समय घर में तथा पूजा स्थान पर उत्तम रोशनी होनी चाहिए।

वास्तु टिप्स: कुबेर की दिशा में रखें तिजोरी, पानी की टंकी में चांदी का कछुआ, दूर हो सकती हैं पैसों की परेशानी

वास्तु शास्त्र के अंतर्गत ऐसे अनेक उपाय बताए गए हैं, जिनसे घर में सुख-समृद्धि बढ़ती है साथ ही पैसों से जुड़ी समस्याएं भी खत्म होती हैं।

उज्जैन. वास्तु के छोटे-छोटे टिप्स न सिर्फ हमारे घर के वास्तु दोष कम करते हैं बल्कि हमारी लाइफ से तनाव भी कम करते हैं। घर की उत्तर दिशा बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। इस दिशा के दोष कम करने के लिए नीचे बताए गए उपाय कर सकते हैं…

1. उत्तर दिशा में आंवले का पेड़ या तुलसी का पौधा लगाएं।
2. पानी की टंकी का स्थान उत्तर दिशा में होना चाहिए। पानी की टंकी में चांदी का सिक्का या चांदी का कछुआ रखें।
3. फिश एक्वेरियम को घर की उत्तर दिशा में रखना चाहिए।
4. कुबेर की दिशा होने के कारण उत्तर में तिजोरी रखना शुभ रहता है।
5. उत्तर दिशा में नीले रंग का पिरामिड रखने से संपत्ति लाभ होता है।
6. उत्तर दिशा में कांच का बड़ा बाउल रखें और उसमें चांदी के सिक्के डाल दें।
7. पूर्व-उत्तर कोने में गणेश और लक्ष्मीजी की मूर्ति रखकर पूजा करें।
8. घर के पूर्व-उत्तर कोने में गंदगी न रखें।
9. इस दिशा की दीवारों पर कोई नकारात्मक चित्र न लगाएं।
10. घर की उत्तर दिशा की दीवारों का रंग नीला होना चाहिए।

MP उपचुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, अब जनता के बीच जाकर वोट मांग सकेंगे नेताजी

MP Assembly By-election: मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव के तहत आगामी 3 नवंबर को मतदान है. इससे पहले हाईकोर्ट के फैसले पर रोक से निर्वाचन आयोग (Election Commission) को बड़ी राहत मिल गई है.

MP By-Polls: सुप्रीम कोर्ट ने एमपी उपचुनाव को लेकर महत्वपूर्ण फैसला दिया.

नई दिल्‍ली. मध्‍य प्रदेश में 28 सीटों को लेकर होने वाले उपचुनाव (MP By-election 2020) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अहम फैसला दिया है. शीर्ष अदालत के इस निर्णय के बाद नेताजी अब जनता के बीच जाकर वोट मांग सकेंगे. दरअसल, मध्‍य प्रदेश हाईकोर्ट (High Court) ने कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे को देखते हुए फिजिकल इलेक्‍शन कैंपेनिंग पर रोक लगा दी थी. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि नेता सिर्फ इंटरनेट के माध्‍यम से वर्चुअल कैंपेनिंग करेंगे. हाईकोर्ट के इस आदेश को BJP प्रत्‍याशी ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. अब शीर्ष अदालत ने हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से इस पर नई अधिसूचना जारी करने को कहा है.

बीजेपी प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सुप्रीम कोर्ट में हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी. इसी को लेकर सर्वोच्च न्यायालय ने आज ये अहम फैसला दिया है. आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव के तहत आगामी 3 नवंबर को मतदान होना है. चुनाव से लगभग एक हफ्ते पहले सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से राज्य के सभी दलों के उम्मीदवारों को बड़ी राहत मिलेगी.

सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने फैसले में कहा कि सभी प्रत्याशी अपनी बात चुनाव आयोग को नए सिरे से बता सकते हैं और चुनाव आयोग इस पर नोटिफिकेशन जारी करेगा. गौरतलब है कि इससे पहले जबलपुर हाईकोर्ट की एक बेंच ने उपचुनाव को लेकर आयोजित की जाने वाली सभाओं पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद एमपी में सीएम शिवराज सिंह चौहान की सभाएं निरस्त कर दी गई थीं. मुख्यमंत्री ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी भी दी थी. सीएम शिवराज ने ट्वीट के जरिए शाडोरा और बराच की चुनावी सभाओं से पहले ट्वीट कर कहा था कि वे इन सभाओं के निरस्त होने के लिए क्षेत्र की जनता से माफी मांगते हैं. उन्होंने कहा था कि माननीय उच्च न्यायालय की ग्वालियर बेंच ने एक फैसला दिया है जिसके तहत चुनावी रैली या सभाएं आयोजित नहीं की जा सकती हैं. इसके लिए चुनाव आयोग की अनुमति लेना जरूरी है.

जोड़ों के दर्द की छुट्टी ! ये 7 पत्ते आपके जोड़ों के दर्द को खत्म कर देंगे


दोनों तरह के आर्थराइटिस (Osteoarthritis और Rheumatoid arthritis) मे आप एक दावा का प्रयोग करे जिसका नाम है चुना, वोही चुना जो आप पान मे खाते हो | गेहूं के दाने के बराबर चुना रोज सुबह खाली पेट एक कप दही मे मिलाके खाना चाहिए, नही तो दाल मे मिलाके, नही तो पानी मे मिलाके पीना लगातार तिन महीने तक, तो आर्थराइटिस ठीक हो जाती है | ध्यान रहे पानी पिने के समय हमेशा बैठ के पीना चाहिए नही तो ठीक होने मे समय लगेगा, अगर आपके हात या पैर के हड्डी मे खट खट आवाज आती हो तो वो भी चुने से ठीक हो जायेगा |

दोनों तरह के आर्थराइटिस के लिए और एक अछि दावा है मेथी का दाना | एक छोटा चम्मच मेथी का दाना एक काच की गिलास मे गरम पानी लेके उसमे डालना, फिर उसको रात भर भिगोके रखना | सबेरे उठके पानी सिप सिप करके पीना और मेथी का दाना चबाके खाना | तिन महीने तक लेने से आर्थराइटिस ठीक हो जाती है | ध्यान रहे पानी पिने के समय हमेशा बैठ के पीना चाहिए नही तो ठीक होने मे समय लगेगा |

ऐसे आर्थराइटिस के मरीज जो पूरी तरह बिस्तर पकड़ जुके है, चाल्लिस साल से तकलीफ है या तिस साल से तकलीफ है, कोई कहेगा बीस साल से तकलीफ है, और ऐसी हालत हो सकती है के वे दो कदम भी न चल सके, हात भी नही हिला सकते है, लेटे रहते है बेड पे, करवट भी नही बदल सकते ऐसी अवस्था हो गयी है …. ऐसे रोगियों के लिए एक बहुत अछि औषधि है जो इसीके लिए काम आती है |

एक पेड़ होता है उसे हिंदी में हरसिंगार कहते है, संस्कृत पे पारिजात कहते है, बंगला में शिउली कहते है , उस पेड़ पर छोटे छोटे सफ़ेद फूल आते है, और फुल की डंडी नारंगी रंग की होती है, और उसमे खुसबू बहुत आती है, रात को फूल खिलते है और सुबह जमीन में गिर जाते है । इस पेड़ के छह सात पत्ते तोड़ के पत्थर में पिस के चटनी बनाइये और एक ग्लास पानी में इतना गरम करो के पानी आधा हो जाये फिर इसको ठंडा करके रोज सुबह खाली पेट पिलाना है जिसको भी बीस तिस चाल्लिस साल पुराना आर्थराइटिस हो या जोड़ो का दर्द हो |

यह उन सबके लिए अमृत की तरह काम करेगा | इसको तिन महिना लगातार देना है अगर पूरी तरह ठीक नही हुआ तो फिर 10-15 दिन का गैप देके फिर से तिन महीने देना है | अधिकतम केसेस मे जादा से जादा एक से देड महीने मे रोगी ठीक हो जाते है | इसको हर रोज नया बनाके पीना है | ये औषधि Exclusive है और बहुत strong औषधि है इसलिए अकेली हि देना चाहिये, इसके साथ कोई भी दूसरी दावा न दे नही तो तकलीफ होगी | ध्यान रहे पानी पिने के समय हमेशा बैठ के पीना चाहिए नही तो ठीक होने मे समय लगेगा |

बुखार का दर्द का उपचार : डेंगू जैसे बुखार मे शरीर मे बहुत दर्द होता है .. बुखार चला जाता है पर कई बार दर्द नही जाता | ऐसे केसेस मे आप हरसिंगार की पत्ते की काड़ा इस्तेमाल करे, 10-15 दिन मे ठीक हो जायेगा |

घुटने मत बदलिए : RA Factor जिनका प्रोब्लेमाटिक है और डॉक्टर कहता है के इसके ठीक होने का कोई चांस नही है | कई बार कार्टिलेज पूरी तरह से ख़तम हो जाती है और डॉक्टर कहते है के अब कोई चांस नही है Knee Joints आपको replace करने हि पड़ेंगे, Hip joints आपको replace करने हि पड़ेंगे | तो जिनके घुटने निकाल के नया लगाने की नौबत आ गयी हो, Hip joints निकालके नया लगाना पड़ रहा हो उन सबके लिए यह औषधि है जिसका नाम है हरसिंगार का काड़ा |

राजीव भाई का कहना है के आप कभी भी Knee Joints को और Hip joints को replace मत कराइए | चाहे कितना भी अच्छा डॉक्टर आये और कितना भी बड़ा गारंटी दे पर कभी भी मत करिये | भगवान की जो बनाई हुई है आपको कोई भी दोबारा बनाके नही दे सकता | आपके पास जो है उसिको repair करके काम चलाइए | हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री अटलजी ने यह प्रयास किया था, Knee Joints का replace हुआ अमेरिका के एक बहुत बड़े डॉक्टर ने किया पर आज उनकी तकलीफ पहले से जादा है | पहले तो थोडा बहुत चल लेते थे अब चलना बिलकुल बंध हो गया है कुर्सी पे ले जाना पड़ता है | आप सोचिये जब प्रधानमंत्री के साथ यह हो सकता है आप तो आम आदमी है |