अहमदाबाद : सैनिटाइज़र के कारण युवक ने गंवाई आंखों की रोशनी, आप भी सचेत हो जाएं 

सैनिटाइज़र से हाथ साफ करने के बाद भोजन न करें, पहले साबुन से हाथ धो लें

यह आपके लिए काम की खबर है यदि आप सैनिटाइज़र का उपयोग बहुत अधिक करते हैं। यह एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जिसने सैनिटाइज़र के अधिक उपयोग के कारण अपनी दृष्टि खो दी है। अहमदाबाद के चेतन पटेल नामक एक युवक को अचानक आंखों से दिखना बंद हो गया। वह डॉक्टर के पास पहुंचा। डॉक्टर ने एमआरआई सहित अलग-अलग रिपोर्ट निकलवाईं लेकिन सभी रिपोर्ट सामान्य आईं। रिपोर्ट्स सामान्य होने के बावजूद युवक की रोशनी खो देने के कारण का पता न चला। डॉक्टर ने चेतन पटेल से कई सवाल किये। फिर पता चला कि सैनिटाइजर के मुंह और नाक में जाने के कारण युवक के मस्तिष्क और आंखों को जोड़ने वाली नसें पूरी तरह से मर चुकी थीं। इसके कारण चेतन पटेल को अपनी आंखों से ‌दिखना बंद हो गया।

सैनिटाइज़र के कारण आंखों की नसें मर गईं

इस मामले में अहमदाबाद के रेटिना और ओकुलर सर्जन डॉ. पार्थ राणा ने खुलासा करते हुए बताया कि दरअसल, चेतन पटेल अहमदाबाद के पुंदरा गाँव स्थित एक सैनिटाइज़र कंपनी में काम करते हैं। जब कंपनी का सैनिटाइजर टैंकर कांडला से आया, तो उसके गोदाम में स्थानांतरण के दौरान सैनिटाइज़र का एक बैरल लीक हो गया गया था और उसमें कुछ सैनिटाइज़र चेतन पटेल के मुंह और नाक में उड़ कर चला गया था। उसके बाद से वह अलग-अलग अस्पतालों में इलाज के लिए भटका और दो अस्पतालों में इलाज कराया लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। ‌डॉ. पार्थ ने बताया कि बाद में वह इलाज के लिए उनके पास आया। जब उसकी आंखों की परदों और ओसीटी की जांच की गई तो वे भी सामान्य दिखे लेकिन तभी पता चला कि उसकी आंखों की नसें सफेद पड़ने लगी थीं। उसके हिसाब से कहा जा सकता है कि उसकी मस्तिष्क और आंख को जोड़ने वाली नसें मर चुकी हैं।

सैनिटाज़र के रिसाव से हुआ हादसा

अपनी आंखें खो देने वाले चेतन पटेल ने कहा कि बैरल में रिसाव के कारण सैनिटाइजर उनकी आंख और मुंह में चला गया था। दो-तीन दिनों के बाद दृष्टि धीरे-धीरे कम होने लगी और अचानक आँखों की दृष्टि पूरी तरह से खत्म हो गई बावजूद इसके कि मेरी सारी रिपोर्ट नोर्मल आ रहीं थी।

सैनिटाइज़र के उपयोग के बारे में डॉ. पार्थ राणा कहते हैं कि सैनिटाइज़र का उपयोग बड़ी सावधानी के साथ किया जाना चाहिए और ध्यान रखा जाना चाहिए कि सैनिटाइज़र मुंह और भोजन में नहीं जाए। सैनिटाइज़र में 70% इथेनॉल होता है, जो खतरनाक हो सकता है। इथेनॉल आंखों की नसों को नुकसान पहुंचाता है। कई रेस्तरां और फूड आउटलेट पर लोग अपने हाथों को सैनिटाइज करके खाते हैं लेकिन यह बहुत हानिकारक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *