चीन बढ़ा रहा है सीमा पर फौज तो, भारत धड़ाधड़ बना रहा मिसाइल

,पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ हुए विवाद के बाद भारत अपने डिफेंस सिस्टम को लगातार मजबूत कर रहा है. उधर, चीन सीमा पर फौज जुटाने में लगा है, इधर के वैज्ञानिक धड़ाधड़ मिसाइल और ताकतवर हथियारों के परीक्षण में लगे हैं. इसी कड़ी में भारत ने गुरुवार को राजस्थान के पोखरण में तीसरी पीढ़ी की टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल ‘नाग’ का सफलतापूर्वक अंतिम परीक्षण किया. इसे सामरिक रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में हथियार तैनात करने का रास्ता साफ करने के लिए महत्वपूर्ण उपलब्धि माना जा रहा है.

यह मिसाइल दिन और रात दोनों समय दुश्मन टैंकों से भिड़ने में सक्षम है. अंतिम परीक्षण के बाद मिसाइल उत्पादन के करीब पहुंच गयी है. इससे पहले, नौ अक्तूबर को भारत ने सुखोई-30 लड़ाकू विमान से एंटी रेडिएशन मिसाइल रुद्रम-1 का सफल परीक्षण किया था. आंकड़ों के मुताबिक, डीआरडीओ की तरफ से पिछले करीब तीन महीनों के अंदर यह आठवां मिसाइल परीक्षण है. सीमा पर पाकिस्तान और चीन की हरकतों के मद्देनजर डीआरडीओ मेड इन इंडिया प्रोग्राम को बढ़ावा देते हुए तेजी के साथ सामरिक परमाणु और पारंपरिक मिसाइलों को विकसित करने में जुटा है.

सामरिक परमाणु व पारंपरिक मिसाइल विकसित कर रहा डीआरडीओ

करीब तीन महीनों के अंदर आठवां मिसाइल परीक्षण

धुव्रास्त्र : धुव्र हेलीकॉप्टर से चार किमी दूर तक दुश्मनों पर कर सकती है मार

स्क्रैमजेट : स्पीड सुपरसोनिक से पांच गुना अधिक है. वजन व खर्च कम भी है.

अर्जुन टैंक: एंटी टैंक मिसाइल ने तीन किमी दूर टारगेट को नष्ट कर देगा.

ब्रह्मोस: जमीन के साथ-साथ इसे समुद्र से भी टारगेट किया जा सकता है.

शौर्य : एक सेकेंड में 2.4 किमी की स्पीड. परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम.

टॉरपीडो: यह मिसाइल पनडुब्बी रोधी है. यह दुश्मन को पानी में मात देगी.

रुद्रम-1: यह आवाज से दोगुना तेज है. इसे सुखोई के साथ जोड़ा जा सकता है.

मिसाइल नाग: यह दिन और रात दोनों समय दुश्मन टैंकों से भिड़ने में सक्षम है

परमाणु और रासायनिक हमले में सक्षम, दुश्मन का रडार भी नहीं पकड़ पायेगा

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने गुरुवार को आइएनएस कवरत्ती को भारतीय नौसेना के सुपुर्द कर दिया. पनडुब्बी रोधी प्रणाली से लैस यह स्वदेशी युद्धपोत एक स्टील्थ वारशिप है. यह दुश्मन के रडार की पकड़ में नहीं आ सकता है. यह पोत परमाणु, रासायनिक और जैविक युद्ध में भी कारगर है.

आइएनएस कवरत्ती भारतीय नौसेना के सुपुर्द

इसमें लगे सेंसर दुश्मन की सबमरीन का पता लगा सकते हैं

46 किमी प्रतिघंटे स्पीड, छह टॉरपीडो ट्यूब व 76 एमएम की ओटीओ मेलारा गन से लैस

जमीन से हवा में मार करने वाली बराक मिसाइल के साथ एंटी सबमरीन रॉकेट लॉन्चर

इसमें क्लोज इन वेपन सिस्टम लगा है, जो अपनी तरफ आती हुई किसी भी मिसाइल को ध्वस्त कर सकता है

हाथरस केस : सीबीआई को जेल से मिले कई महत्वपूर्ण सुराग, मेडिकल कॉलेज से मांगी सीसीटीवी फुटेज

हाथरस प्रकरण में सीबीआई की टीम जांच में जुटी है। चौथी बार सीबीआई जेल पहुंची और आरोपियों से पूछताछ की। सबसे ज्यादा पूछताछ मुख्य आरोपी संदीप से की गई है।अलीगढ़ जेल में बंद हाथरस प्रकरण के चारों आरोपियों से पूछताछ करने के लिए सीबीआई की टीम सोमवार को जेल पहुंची थी। टीम के सदस्यों ने जेल व एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचकर विभिन्न बिंदुओं पर जांच की थी। मेडिकल कॉलेज में पीड़िता का इलाज करने वाले चिकित्सकों से विभिन्न सवालों का जवाब मांगते हुए कुछ दस्तावेज भी मांगे थे। वहीं जेल में चारों आरोपियों से बारी-बारी से पूछताछ की गई। 

बुधवार को सीबीआई की दो टीमें अलीगढ़ जेल पहुंची थीं। गुरुवार दोपहर सीबीआई एक बार फिर से अलीगढ़ जेल व मेडिकल कॉलेज पहुंची। जेल में मुख्य आरोपियों से करीब चार घंटे तक पूछताछ की। वहीं मेडिकल कॉलेज में पीड़िता के इलाज टीम में शामिल चिकित्सकों के अलावा स्टाफ से भी बातचीत की गई। सूत्रों की मानें तो टीम को मेडिकल कॉलेज व जेल से कई महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

मेडिकल कॉलेज से मांगे सीसीटीवी फुटेज :
सीबीआई की टीम ने जेएन मेडिकल कॉलेज से सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं। पीड़िता कॉलेज में रेफर होकर कब आई और कब दिल्ली रेफर हुई, इस बीच के पूर्ण सीसीटीवी फुटेज सीबीआई की टीम ने कॉलेज प्रशासन से मांगे हैं। ऐसे में अब कॉलेज के अधिकारी फुटेज निकलने में लगे हैं। आलोक सिंह, जेल अधीक्षक ने बताया कि सीबीआई की टीम दोपहर बाद जिला कारागार पहुंची। घंटों तक गैंगरेप आरोपियों से पूछताछ करने के बाद वापस लौट गई। 

मेडिकल कॉलेज से हटाये दोनों मेडिकल ऑफिसर्स बहाल

एएमयू के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में हटाये गये दो चिकित्साधिकारियों को दो दिन बाद गुरुवार को बहाल कर दिया गया। विवि के उच्चाधिकारियों ने सीएमओ इंचार्ज की ओर से प्रस्ताव मिलने के बाद उसको पास कर दिया। अब दोनों अधिकारी शुक्रवार से पुन: ड्यूटी करेंगे। सोमवार सुबह सीबीआई की टीम मेडिकल कॉलेज पहुंची थी। टीम ने हाथरस की पीड़िता का इलाज करने वाले चिकित्सकों व स्टाफ की सूची मांगकर उनसे घंटों तक पूछताछ की थी। पूछताछ को 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि मंगलवार दोपहर ट्रामा सेंटर और इमरजेंसी के कैजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर इंचार्ज डॉ. एसएएच जैदी की तरफ से एक नोटिस जारी करके दो मेडिकल ऑफिसर डॉ. उबैद इम्तियाज उल हक और डॉ. मो. अजीमुद्दीन मलिक को पद से हटा दिया। नोटिस में कहा गया कि संबंधित दोनों डॉक्टर किसी भी तरह की अपनी ड्यूटी को आगे परफॉर्म न करें। दोनों चिकित्सकों ने हटाने पर आपत्ति जताते हुए वीसी को पत्र लिखा था। इंतजामिया ने पत्र का संज्ञान लेते हुए कहा था कि उनका टर्म खत्म हो चुका है। सीएमओ इंचार्ज की ओर से रिनुअल के लिए पत्र लिखा जाएगा तो विचार किया जाएगा। ऐसे में बुधवार सीएमओ इंचार्ज की ओर से दोनों को पुन: रखने का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया था। गुरुवार को उच्चाधिकारियों ने इस पर निर्णय लेते हुए दोनों अधिकारियों को बहाल कर दिया।

मध्यप्रदेश मैं सिपाही के लिए 4 हजार पदों पर भर्तियां निकाली; पीईबी ने कार्यक्रम जारी किया, चुनाव बाद 24 दिसंबर से भरे जाएंगे फार्म

प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने पुलिस विभाग में आरक्षक संवर्ग की भर्ती के लिए परीक्षा कार्यक्रम जारी करaा है। पदों एवं आयु संबंधी विस्तृत जानकारी बोर्ड की अधिकारिक वेबसाइट www.peb.mp.gov.in पर उपलब्ध है। आरक्षक संवर्ग के लगभग 4 हजार पदों पर भर्ती होना है। पीईबी द्वारा जारी सूचना के अनुसार आरक्षक संवर्ग की भर्ती प्रक्रिया चुनाव बाद 25 नवंबर से प्रारंभ होगी। ऑनलाईन आवेदन पत्र 24 दिसंबर से प्राप्त किए जाएंगे। आनलाईन आवेदन पत्र भरे जाने की अंतिम दिन 7 जनवरी, 2021 रखी गई है। आवेदन पत्र 12 जनवरी, 2021 तक संशोधन किए जा सकेंगे। आरक्षक संवर्ग की परीक्षा 6 मार्च, 2021 से प्रारंभ होगी।

परिवर्तन भी किया जा सकेगा
बोर्ड ने आदेश में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि तारीख और पदों की संख्या में बदलाव किया जा सकता है। पदों की आयु सीमा के लिए वेबसाइट www.peb.mp.gov.in पर पूरी जानकारी दी गई है। इसमें रेडियो और सामान्य सिपाही के पदों पर भर्ती होना है।

पाक सेना और पुलिस के बीच गोलीबारी-हिंसक झड़प, इमरान सरकार में ये क्या हो रहा…कहीं सैन्य तख्तापलट की ओर इशारा तो नहीं

पाकिस्तान के कराची में पुलिस और सेना के बीच हुई झड़प के देश में गृह युद्ध जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। पुलिस और सेना आमने-सामने आ गए हैं। अब भी दोनों के बीच भीषण गोलीबारी हो रही है। वहीं, पाकिस्तानी मीडिया ने गंभीर होते हालात को कहीं न कहीं जनता से छिपाने की कोशिश भी शुरू कर दी है। दरअसल, सफदर और उनकी पत्नी पीएमएल-नवाज की उपाध्यक्ष मरियम नवाज पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट की रैली में भाग लेने के लिए कराची आई थीं। इसी दौरान सफदर को उनके होटल के कमरे से गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि जल्द ही उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

पुलिस और सेना के बीच झड़प
पाकिस्तान के कराची में पुलिस और सेना के बीच हुई झड़प में दस जवानों की मौत हो गई है। मरने वालों में सेना के पांच अधिकारी भी शामिल हैं। हालांकि, पाकिस्तानी मीडिया ने इस खबर को दबाने की पुरजोर कोशिश की है। इंटरनेशनल हेराल्ड के एक ट्वीट के अनुसार कराची में सिंध पुलिस और पाकिस्तानी सेना के बीच हुई गोलीबारी में दस जवानों की मौत हो गई। गोलीबारी के दौरान सिंध के पुलिस अधीक्षक एम आफताब अनवर को हिरासत में ले लिया। हालांकि, कई मीडिया ग्रुप ने अपने ट्विटर हैंडल पर टकराव की सूचना दी है। पाकिस्तान के मुख्यधारा के मीडिया ने इस खबर को जनता से छिपाने की पूरी कोशिश की है। सेना और पुलिस के बीच मामला उस समय तूल पकड़ा, जब 11 विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) ने कराची में एक विशाल रैली की। इस रैली में सेना की कठपुतली बनी इमरान सरकार और सेना पर जमकर निशाने साधे गए। रैली में जबर्दस्त भीड़ इकट्ठा हुई थी। लंदन से वीडियो लिंक के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी संबोधित किया।

आईजी सिंध को घर से उठाया 
सिंध पुलिस ने ट्वीट कर कहा है कि 18/19 अक्तूबर की रात को सेना के जवानों ने आईजी सिंध मुश्ताक मेहर का अपहरण कर लिया था। उन्हें मोहम्मद सफदर की गिरफ्तारी के आदेश पर दस्तखत करने के लिए मजबूर भी किया था। सिंध पुलिस इन व्यवहार से काफी आहत है, जबकि आईजी ने विरोध दर्ज कराने के लिए अनिश्चितकालीन के लिए छुट्टी पर जाने का फैसला लिया। इतना ही नहीं तीन अतिरिक्त आईजी, 25 डीआईजी, 30 एसएसपी और सिंध के दर्जनों एसपी, डीएसपी और एसएचओ सहित पुलिस के लगभग सभी शीर्ष अधिकारियों ने इसके विरोध में छुट्टी के आवेदन दिए।

सेना ने जारी किया बयान
सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि सेना प्रमुख ने कराची कोर कमांडर को तत्काल घटना की जांच करने और जितनी जल्दी हो सके रिपोर्ट सौंपने को कहा है। बयान में हालांकि यह नहीं स्पष्ट किया गया है कि उन्होंने किस घटना की जांच कराने को कहा है, लेकिन इससे पहले पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी ने प्रशासन से सफदर की गिरफ्तारी से जुड़ी घटनाओं की जांच कराने की मांग की थी।

मंत्री ने ही कराया था सिंध के आईजी का अपहरण 
पाकिस्तान के आतंरिक मामलों के मंत्री ब्रिगेडियर इजाज शाह पर आरोप है कि पूर्व पीएम नवाज शरीफ के दामाद सफदर अवान की गिरफ्तारी के लिए सिंध पुलिस प्रमुख पर दबाव डालना और उनका अपहरण इजाज शाह के दिमाग की उपज है। उन्होंने पुलिस अधिकारी के अपहरण मामले में पाकिस्तानी रेंजर्स का बचाव किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक प्रणाली में किसी भी राजनेता को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर राष्ट्रीय संस्थानों को निशाना बनाने की अनुमति नहीं दी जा सकती। 

‌सेना के हस्‍तक्षेप पर बरसे मौलाना फजलुर रहमान
मौलाना फजलुर रहमान ने कहा कि पूरे मुल्‍का का नियंत्रण सेना ने संभाला हुआ है। हर जिले, तहसील और डिविजन पर सेना का आदमी बैठा है। पूरा सूबा सेना चला रही है। एपेक्‍स कमिटी बनी है, जिसमें एक फौजी अफसर होता है, उसके सामने एसपी, कमिश्‍नर सब बेबस नजर आते हैं। आम नागरिकों की मदद के कानून के नाम पर पाकिस्‍तानी सेना कब्‍जा कर चुकी है। मेरी मांग है कि फौज सभी नागरिक जिम्‍मेदारियों से हटे।

दो हल्‍के सैन्‍य तख्‍तापलट हो चुके हैं 
पाकिस्‍तान में वर्ष 2008 से जनता की सरकार है, लेकिन अब तक दो हल्‍के सैन्‍य तख्‍तापलट हो चुके हैं। इसमें वर्तमान समय में सिंध में चल रहा विरोध शामिल है। इस समय सिंध में पुलिस और सेना आमने-सामने है। 

अनिल अंबानी की इस कंपनी ने किया कमाल, कोरोना के बीच दोगुना हुआ मुनाफा

अनिल अंबानी समूह की कंपनी रिलायंस पावर ने कमाल कर दिया है. कोरोना के बीच सितंबर में खत्म तिमाही में कंपनी का मुनाफा दोगुना से ज्यादा हो गया है. कंपनी को 105.67 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. 

चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही यानी जुलाई से सितंबर की तिमाही में रिलायंस पावर का एकीकृत शुद्ध लाभ (नेट प्रॉफिट) दोगुना से अधिक होकर 105.67 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. कंपनी ने गुरुवार को शेयर बाजार को यह सूचना दी.

इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी का नेट प्रॉफिट 45.06 करोड़ रुपये था. सितंबर तिमाही में कंपनी की कुल आय 2,626.49 करोड़ रुपये रही. इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह 2,239.10 करोड़ रुपये थी. इस तरह कंपनी की कुल आय में करीब 17.3 फीसदी की बढ़त हुई है. 

नकदी जुटाने का भरोसा

गौरतलब है कि कंपनी के ऊपर भारी कर्ज है और यह कर्ज उसके कुल एसेट से भी ज्यादा है. कंपनी ने कहा कि गैस आधारित बिजली संयंत्र के उपकरणों का समयबद्ध तरीके से मौद्रीकरण कर यानी बेचकर उसे समय से उचित और पर्याप्त नकदी की व्यवस्था करने का भरोसा है. कंपनी अपने कई और सबसिडियरी के एसेट भी बेचेगी.  

कोरोना का क्या हुआ असर 

रिलायंस पावर ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बिजली की मांग में भारी गिरावट आई थी, खासकर इंडस्ट्रियल और कॉमर्शियल कंज्यूमर सेगमेंट में. लेकिन लॉकडाउन के प्रतिबंध हटने के बाद बिजली की मांग सामान्य स्तर तक पहुंच गई. 

गौरतलब है कि रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप के मुखिया काफी मुश्किल में चल रहे हैं, ऐसे में यह खबर उनको थोड़ी राहत देने वाली है. उनकी कई कंपनियों की हालत खस्ता है और वे खुद एक चीनी बैंक से लोन बकाया मामले में ब्रिटेन की अदालत में मुकदमे का सामना कर रहे हैं. 

भारत का पाकिस्तान पर करारा प्रहार, आज FATF में ब्लैकलिस्ट कराने की पूरी तैयारी

नई दिल्ली: आतंकवाद के प्रसार के लिये मुहैया कराए जाने वाले धन की निगरानी करने वाली अंतरराष्ट्रीय निगरानी संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) द्वारा पाकिस्तान (Pakistan) की ग्रेडिंग पर आज आने वाले फैसले से पहले ही भारत ने गंभीर सवाल उठाए हैं. भारत (India) ने स्पष्ट कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है बल्कि वह आतंकवादियों के लिए एक सुरक्षित पनाहगाह बना हुआ है.

पाकिस्तान का आतंकवाद को बढ़ावा
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा है,  पाकिस्तान की हरकतें किसी से छिपी नहीं हैं. पाकिस्तान लगातार आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है. अभी तक किसी भी आतंकवादी संस्था या आतंकवादी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है. इनमें यूएनएससी द्वारा घोषित मसूद अजहर (Masood Azhar), दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim), ज़ाकिर-उर-रहमान लखवी (Zakir-ur-Rahman Lakhvi) जैसे आतंकवादी शामिल हैं.

‌विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि इनमें से ही भारत में 26/11 जैसे आतंकवादी हमले करने वाले आतंकवादी शामिल हैं. एफएटीएफ एक्शन प्लान के कुल 27 बिंदुओं में से पाकिस्तान केवल 21 पर बात कर रहा है बाकी अहम छह बिंदुओं को वह दबाना चाहता है, जिन पर चर्चा होनी चाहिए.

लगातार कर रहा सीफ फायर उल्लंघन
विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान से लगातार आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिश का जिक्र किया है. लगातार पाकिस्तान सीज फायर उल्लंघन कर रहा है. इसी वर्ष पाकिस्तानी ने 3800 से अधिक बार सीज फायर उल्लंघन किए हैं. लगातार पाकिस्तान द्वारा नियंत्रण रेखा के करीब हथियारों, गोला-बारूद और नशीले पदार्थों की तस्करी की कोशिशों का खुलासा हुआ है.

बता दें कि पाकिस्तान को 2018 में एफएटीएफ की ‘ग्रे-सूची’ में डाल दिया गया था और उसे धन का इस्तेमाल आतंकी वित्तपोषण में न हो इसके लिए सख्त हिदायत दी गई थी. अगर पाकिस्तान ऐसा करने में विफल रहता है तो इस बार उसे ब्लैक लिस्ट किया जा सकता है.

बिहार के चुनावी ‘रण’ में आज उतरेंगे पीएम मोदी-राहुल गांधी, अब बढ़ेगा राज्य का सियासी पारा, देखें रैलियों का पूरा शेड्यूल

बिहार में अब चुनावी दंगल धीरे-धीरे और भी रोमांचक होता जा रहा है। आज बिहार चुनाव का सबसे बड़ा दिन है, क्योंकि आज चुनावी रैलियों में प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी की एंट्री होने वाली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी शुक्रवार को बिहार में तीन रैलियों को संबोधित करेंगे, वहीं  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कहलगांव में चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। कोरोना संक्रमण के दौरान दोनों नेताओं की पहली सभा जिले में होने जा रही है। पार्टी स्तर से तैयारी पूरी कर ली गयी है। चुनावी सभा को लेकर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गयी है। बताया जा रहा है कि एक ओर जहां पीएम मोदी के मंच पर नीतीश कुमार मौजूद होंगे, तो वहीं दूसरी ओर राहुल गांधी के साथ तेजस्वी यादव दिखेंगे। इस लिहाज से देखा जाए तो आज बिहार में सबसे बड़ा सियासी दिन है। 

पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार को तीन जगहों पर रैली करेंगे-सासाराम, गया और भागलपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहली चुनावी रैली सुबह करीब दस बजे होगी। रोहतास के डेहरी के सुअरा स्थित बियाडा मैदान में पीएम मोदी जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद पीएम गया के गांधी मैदान में सुबह करीब साढ़े ग्यारब बजे रैली को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भागलपुर स्थित हवाई अड्डा में दो बजकर 40 मिनट पर सभा को संबोधित करेंगे। उनका सीधे गया से भागलपुर आने का कार्यक्रम है। पीएम मोदी भागलपुर में 23 विधानसभा सीटों के एनडीए प्रत्याशी के समर्थन में सभा को संबोधित करेंगे। सभा का 100 मैदानों में लाइव डिजिटल प्रसारण किया जाएगा। पीएम मोदी के साथ-साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी सभा को संबोधित करेंगे। सभा में भाजपा और जदयू के कई दिग्गज नेता और मंत्री के शामिल होने की संभावना है। 

अपने बिहार में चुनावी दौरे से पहले गुरुवार शाम को पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि बिहार के अपने भाइयों और बहनों के बीच रहने का अवसर मिलेगा। सासाराम, गया और भागलपुर में रैलियों को संबोधित करूंगा। इस दौरान एनडीए के विकास के एजेंडे को जनता-जनार्दन के सामने रखूंगा और उनसे अपने गठबंधन के लिए आशीर्वाद मांगूंगा। 

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी शुक्रवार को बिहार में प्रचार करेंगे। वह नवादा के हिसुआ और भागलपुर के कहलगांव में दो रैलियों को संबोधित करेंगे। कांग्रेस और राजद के सूत्रों ने बताया कि महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव हिसुआ में राहुल के साथ रहेंगे। हिसुआ में कांग्रेस प्रत्याशी नीतू सिंह का मुकाबला भाजपा के निवर्तमान विधायक अनिल सिंह से है। कहलगांव में राहुल गांधी के साथ शक्तिसिंह गोहिल और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता होंगे।

कब रखा जाएगा महाष्टमी व्रत? नवमी और दशमी की तिथि को लेकर न हों कंफ्यूज

शारदीय नवरात्रि की धूम पूरे देश में है। माता की भक्ति में लीन भक्तों को अब अष्टमी, नवमी और दशहरा (विजयादशमी) का इंतजार है। इस साल अष्टमी और नवमी तिथि एक साथ पड़ने के कारण लोगों के बीच अष्टमी और नवमी तिथि को लेकर असमंजस है। जानिए किस महाष्टमी का व्रत रखा जाएगा और किस दिन मनाई जाएगी नवमी।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, अष्टमी और नवमी एक ही दिन होने के बावजूद भी देवी मां की अराधना के लिए भक्तों को पूरे नौ दिन मिलेंगे। इस साल अष्टमी तिथि का प्रारंभ 23 अक्टूबर (शुक्रवार) को सुबह 06 बजकर 57 मिनट से हो रहा है, जो कि अगले दिन 24 अक्टूबर (शनिवार) को सुबह 06 बजकर 58 मिनट तक रहेगी। ज्योतिर्विद पंडित दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार, जो लोग पहला और आखिरी नवरात्रि व्रत रखते हैं, उन्हें अष्टमी व्रत 24 अक्टूबर को रखना चाहिए। ज्योतिषाचार्य के अनुसार, 24 अक्टूबर को अष्टमी व्रत रखना उत्तम है।  इस दिन महागौरी की पूजा का विधान है।

महानवमी कब है 

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल महानवमी तिथि का प्रारंभ 24 अक्टूबर (शनिवार) की सुबह 06 बजकर 58 मिनट से हो रहा है। जो कि अगले दिन 25 अक्टूबर (रविवार) को सुबह 07 बजकर 41 मिनट तक रहेगी। नवरात्रि व्रत पारण 25 अक्टूबर को किया जाएगा। नवमी के दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। 

दशहरा कब है 

दशमी तिथि 25 अक्टूबर से शुरू होकर 26 अक्टूबर की सुबह 9 बजे तक रहेगी। ऐसे में इस साल दशहरा का त्योहार 25 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

किसानों के लिए बड़ी खबर: अब सरकार ने जारी किए खेती से जुड़े नियम, जानिए पूरा मामला

Contract Farming New Rules: सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के कानून से जुड़े विवाद के समाधान के लिए नियम और प्रक्रिया जारी कर दी है. हाल ही में फार्मर्स एग्रीमेंट ऑन प्राइस अश्योरेंस एंड फार्म सर्विसेज एक्ट, 2020 को लागू किया गया है.

बता दें कि देश के कुछ हिस्सों में कुछ हिस्सों में किसान इस कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं

नई दिल्ली. सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के कानून से जुड़े विवाद के समाधान के लिए नियम और प्रक्रिया जारी कर दी है. हाल में फार्मर्स एग्रीमेंट ऑन प्राइस एश्योरेंस एंड फार्म सर्विसेज एक्ट, 2020 को लागू किया गया है. बता दें कि पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में किसान इस कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, जिसका उद्देश्य किसानों को उनकी फसल खराब होने पर सुनिश्चित मूल्य की गारंटी देना है. किसानों को डर है कि कॉन्ट्रैक्ट फॉर्मिंग कानून किसी भी विवाद के मामले में बड़े कॉर्पोरेट और कंपनियों का पक्ष लेगा. क्योंकि विवाद होने पर किसानों के कोर्ट जाने का अधिकार छीन लिया गया है. विवाद का समाधान एसडीएम और डीएम के ही हाथ में होंगा, जो सरकार की कठपुतली हैं. इस आशंका को खारिज करते हुए, कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि कृषि कानून किसानों के हित के लिए बनाए गए हैं.

किया जाएगा सुलह बोर्ड का गठन- अधिसूचित नियमों के अनुसार, सब-डिवीजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) दोनों पक्षों से समान प्रतिनिधित्व वाले सुलह बोर्ड का गठन करके विवाद को हल करेंगे. एक अधिकारी ने कहा, सुलह बोर्ड की नियुक्ति की तारीख से 30 दिनों के भीतर सुलह की प्रक्रिया पूरी होनी चाहिए. यदि सुलह बोर्ड विवाद को हल करने में विफल रहता है, तो या तो पार्टी उप-विभागीय प्राधिकरण से संपर्क कर सकती है, जिसे उचित सुनवाई के बाद आवेदन दाखिल करने के 30 दिनों के भीतर मामले का फैसला करना होगा.

.