राहुल गांधी ने कमलनाथ के ‘आइटम’ वाले बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, बोले- मुझे इस तरह की भाषा पसंद नहीं


मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के आइटम वाले बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने करीब 45 घंटे बाद मंगलवार को तीखी प्रतिक्रिया दी। राहुल ने कहा कि कमलनाथ भले ही मेरी पार्टी के हैं, वे चाहे जो भी हों, लेकिन जिस भाषा का उन्होंने इस्तेमाल किया है, मैं निजी तौर पर उसे पसंद नहीं करता।

कमलनाथ ने माफी मांगने से इनकार किया

राहुल का बयान आने के बाद कमलनाथ बोले- ये राहुल गांधी का विचार है। मैंने पहले ही साफ कर दिया है कि बयान मैंने किस संदर्भ में दिया था। अब मैं माफी क्यों मांगू, जब मेरा किसी का अपमान करने का इरादा ही नहीं था? अगर किसी को अपमान महसूस हो रहा है तो इसके लिए मैं पहले ही खेद जाहिर कर चुका हूं।

कमलनाथ ने रविवार को डबरा में एक चुनावी सभा के दौरान शिवराज कैबिनेट की मंत्री इमरती देवी को आइटम कहा था। नाथ के इस बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई नेताओं ने मौन धरना दिया था।

कमलनाथ और इमरती देवी में हुई थी बयानबाजी
कमलनाथ के बयान पर विवाद बढ़ा तो उन्होंने सफाई दी कि आइटम अपमानजनक शब्द नहीं है। विधायक का नाम नहीं याद आ रहा था, इसलिए ऐसा बोल दिया। उधर, इमरती देवी ने जवाब में कहा- वो (कमलनाथ) बंगाल का आदमी है, वो महिला का सम्मान क्या जाने। कुर्सी जाने से पागल हो गए हैं।

महिला आयोग ने कहा- ऐसे बयानों से व्यक्ति का चरित्र पता चलता है
राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि कमलनाथ माफी मांगने की बजाय बेतुकी सफाई दे रहे हैं। यह उनके लिए शर्मनाक है। ऐसे बयानों से व्यक्ति के चरित्र का पता चलता है। उनकी पार्टी को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

गांधी ने कमलनाथ के ‘आइटम’ वाले बयान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, बोले- मुझे इस तरह की भाषा पसंद नहीं  
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के आइटम वाले बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने करीब 45 घंटे बाद मंगलवार को तीखी प्रतिक्रिया दी। राहुल ने कहा कि कमलनाथ भले ही मेरी पार्टी के हैं, वे चाहे जो भी हों, लेकिन जिस भाषा का उन्होंने इस्तेमाल किया है, मैं निजी तौर पर उसे पसंद नहीं करता।

कमलनाथ ने माफी मांगने से इनकार किया

राहुल का बयान आने के बाद कमलनाथ बोले- ये राहुल गांधी का विचार है। मैंने पहले ही साफ कर दिया है कि बयान मैंने किस संदर्भ में दिया था। अब मैं माफी क्यों मांगू, जब मेरा किसी का अपमान करने का इरादा ही नहीं था? अगर किसी को अपमान महसूस हो रहा है तो इसके लिए मैं पहले ही खेद जाहिर कर चुका हूं।

कमलनाथ ने रविवार को डबरा में एक चुनावी सभा के दौरान शिवराज कैबिनेट की मंत्री इमरती देवी को आइटम कहा था। नाथ के इस बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई नेताओं ने मौन धरना दिया था।

कमलनाथ और इमरती देवी में हुई थी बयानबाजी
कमलनाथ के बयान पर विवाद बढ़ा तो उन्होंने सफाई दी कि आइटम अपमानजनक शब्द नहीं है। विधायक का नाम नहीं याद आ रहा था, इसलिए ऐसा बोल दिया। उधर, इमरती देवी ने जवाब में कहा- वो (कमलनाथ) बंगाल का आदमी है, वो महिला का सम्मान क्या जाने। कुर्सी जाने से पागल हो गए हैं।

महिला आयोग ने कहा- ऐसे बयानों से व्यक्ति का चरित्र पता चलता है
राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि कमलनाथ माफी मांगने की बजाय बेतुकी सफाई दे रहे हैं। यह उनके लिए शर्मनाक है। ऐसे बयानों से व्यक्ति के चरित्र का पता चलता है। उनकी पार्टी को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *