अगर कोई किसी की मां-बहन को ‘आइटम’ कहेगा तो… कमलनाथ पर शिवराज का एक और हमला

कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के ‘आइटम’ वाले बयान पर बवाल जारी है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ द्वारा ‘आइटम ’वाली टिप्पणी को लेकर स्पष्टीकरण जारी करने के बाद उन पर एक बार फिर से हमला किया। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आपको क्या हो गया है। आपने जो कहा है मैं उसे दोहरा भी नहीं सकता। 

सोमवार को एक चुनावी रैली के दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर हमला करते हुए कहा, ‘पूर्व सीएम कमलनाथ आपको क्या हो गया है। आप 74 साल के हैं और आपने भाजपा नेता इमरती देवी के बारे में जो कुछ भी कहा, उसे मैं दोहरा भी नहीं सकता।’ उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए आगे कहा कि जब हमने आपत्ति जताई तो उन्होंने बेशर्मी से सभी को खुद सहित एक आइटम कहा … अगर कोई किसी की मां और बहन को ‘आइटम’ कहेगा, तो क्या आप इसे सहन करेंगे?

इससे पहले ग्वालियर जिले के डबरा से भाजपा  प्रत्याशी एवं राज्य की मंत्री श्रीमती इमरती देवी को लेकर की गई टिप्पणी के एक दिन बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा था। कमलनाथ ने पत्र में लिखा कि उन्होंने अपने 40 वर्ष के सार्वजनिक जीवन में सदैव महिलाओं का सम्मान किया है और वे सदैव महिलाओं का सम्मान करेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि लेकिन वह महिलाओं के सम्मान का दिखावा कर कुत्सित राजनीति नहीं करेंगे। कमलनाथ ने पत्र में लिखा है कि उन्होंने डबरा की सभा में अपने संबोधन में कोई भी असम्मानजनक टिप्पणी नहीं की है। 

वहीं, चुनाव आयोग ने कमलनाथ द्वारा की गई टिप्पणी पर सोमवार को राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी। कमलनाथ ने ग्वालियर के डबरा में रविवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए भाजपा उम्मीदवार इमरती देवी के बारे में कथित टिप्पणी की थी। इमरती देवी सहित 21 अन्य विधायकों ने मार्च में कांग्रेस से और विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे। इसके बाद कमलनाथ सरकार गिर गयी थी। इन विधायकों को ज्योतिरादित्य सिंधिया का करीबी माना जाता है। चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर, हमने एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। यह मंगलवार को आयोग को मिल जाएगी। इसके आधार पर आयोग विचार करेगा।

कमलनाथ ने क्या कहा था

सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं… ये उसके जैसे नहीं हैं…क्या है उसका नाम…. मैं क्या उसका नाम लूं?…आपको तो मुझे पहले ही सावधान करना चाहिए था…. ये क्या आइटम है….। कमलनाथ ने यह हिंदी में ही कहा, जबकि भीड़ इमरती देवी का नाम ले रही थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *