अब BJP से आर-पार की लड़ाई के मूड में LJP? चिराग बोले- हम अगर वोटकटवा तो 2014 से साथ क्यों रखा

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में टिकट बंटवारे में विवाद के बाद लोजपा के एनडीए गठबंधन से अलग होकर चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद से ही लोजपा और एनडीए के भाजपा, जदयू और हम में सियासी जंग छिड़ी हुई है। ये जंग धीरे-धीरे तीखी बयानबाजी में तब्दील होती जा रही है।

भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के वोटकटवा वाले बयान को लेकर लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को पलटवार किया है। कहा है कि मुझे उनसे ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी। चिराग ने बातचीत में कहा कि भाजपा नेता बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दबाव में आकर ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं। चिराग ने नसीहत देते हुए कहा कि भाजपा नेता अपने विवेक का इस्तेमाल करें।

चिराग ने कहा कि यदि हम वोटकटवा थे तो भाजपा ने हमें साथ क्यूं रखा। लोजपा प्रमुख ने एक बार फिर से कहा कि मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है। चिराग ने कहा कि यदि नीतीश कुमार फिर से मुख्यमंत्री बनते हैं तो मैं विपक्ष में बैठूंगा।

आपको बता दें कि गुरुवार को बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लोजपा को मात्र एक वोटकटवा पार्टी करार दिया था। वहीं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी शुक्रवार को एक ऐसा ही बयान दिया। उन्होंने कहा कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजपा के बड़े नेताओं का नाम लेकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। लोजपा बस एक वोटकटवा पार्टी बनकर रह जाएगी।

जावडेकर ने कहा, ‘चिराग पासवान ने बिहार में एक अलग रास्ता चुन लिया है। वे भाजपा के बड़े नेताओं का नाम लेकर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। हमारी कोई भी B और C टीम नहीं है। बिहार में एनडीए को तीन चौथाई बहुमत मिलने जा रहा है। चिराग पासवान की लोजपा बस एक वोटकटवा पार्टी बन कर रह जाएगी।’

इससे पहले गुरुवार को बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा था कि लोजपा और भाजपा के बीच कोई भी डील नहीं है। इस तरह की बातें प्रचारित की जा रही हैं, लेकिन उसके पीछे भी लोगों के अपने हित हैं। मोदी ने कहा कि लोजपा एक वोटकटवा पार्टी की तरह है। अगर वह किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं है तो उसकी ताकत दो-तीन सीटों से अधिक जीतने की नहीं है। डिप्टी सीएम ने लोगों से यह भी अपील की कि आप लोजपा के उम्मीदवारों को वोट देकर अपने मत को बर्बाद न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *