GDP ग्रोथ को लेकर फिर राहुल ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा- ‘पाकिस्तान और अफगानिस्तान भी…’

नई दिल्ली: भारत की गिरती अर्थव्यवस्था और जीडीपी ग्रोथ में बड़ी गिरावट (GDP Growth Estimates) को लेकर इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) की रिपोर्ट ने चिंताएं बढ़ा दी हैं. और ज्यादा चौंकाने वाली बात यह भी है कि इस रिपोर्ट में इस वित्तीय वर्ष में भारत के जीडीपी ग्रोथ में 10 फीसदी गिरावट का अनुमान तो जताया ही गया है, यह भी कहा गया है कि भारत की वृद्धि बांग्लादेश से भी कम रहने वाली है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार इस मुद्दे को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर हैं. 

राहुल ने शुक्रवार को भी जीडीपी को लेकर सरकार पर हमला बोला. इस बार उन्होंने भारत के सामने पाकिस्तान और अफगानिस्तान की स्थिरता को लेकर केंद्र पर निशाना साधा. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, ‘बीजेपी सरकार की एक और जबरदस्त उपलब्धि. पाकिस्तान और अफगानिस्तान ने भी हमसे बेहतर तरीके से कोविड को हैंडल किया.’

राहुल ने इसके साथ IMF के आंकड़ों के हवाले से बनाया गया एक चार्ट भी शेयर किया, जिसमें भारत के जीडीपी में 10.30 फीसदी गिरावट का अनुमान जारी किया गया है. इस चार्ट में दिखाया गया है कि अगले वित्त वर्ष में अफगानिस्तान के जीडीपी में 5 फीसदी और पाकिस्तान की जीडीपी में महज .40 फीसदी की गिरावट देखने को मिलेगी.

बता दें कि इस हफ्ते अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF)-वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (WEO)की रिपोर्ट जारी हुई है, जिसमें कहा गया है कि भारत दक्षिण एशिया में तीसरा सबसे गरीब देश बनने की ओर बढ़ रहा है. कुल जीडीपी के अनुमान पर नजर डालें तो भारत से पीछे बस पाकिस्तान और नेपाल ही रह जाएंगे, जबकि बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और मालदीव जैसे देश भारत से आगे होंगे. हालांकि, इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि हालाँकि, 2021 में 8.8 प्रतिशत की विकास दर के साथ भारत, एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में वापसी कर सकता है.

यूपी के बाराबंकी में दुष्कर्म के बाद हत्या, मिली दलित नाबालिग की अर्द्धनग्न लाश

उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। हाथरस के बाद अब बाराबंकी में एक दलित नाबालिक लड़की के साथ दुष्कर्म और हत्या का केस सामने आया है। पीड़िता के परिवार का आरोप है कि पुलिस केस दबाने की कोशिश में लगी है। यहां भी पुलिस पर आरोप है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले ही अंतिम संस्कार करवा दिया गया। अब तक की जानकारी के मुताबिक, लड़की बुधवार को धान काटने खेत में गई थी। देर रात तक नहीं लौटी तो परिजन ने तलाश की, तब उसकी लाश मिली। शुरुआती जांच में पता चला है कि गर्दन से हाथ बांधकर दरिंदगी की और फिर हत्या भी कर दी। मामला थाना सतरिख थाना क्षेत्र का है।

इससे पहले प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस कांड के बाद महिलाओं तथा बच्चों के साथ होने वाली घटनाओं को लेकर बेहद सख्त रुख अपनाया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे मिशन शक्ति के तहत पहले चरण में शोहदे व असामाजिक तत्वों को सूचीबद्ध किया जाए और दशहरे के बाद पुलिस उन पर कहर बनकर टूटे। मुख्यमंत्री ने अल्टीमेटम दिया कि दुराचारियों व शोहदों पर ऐसी कठोर कार्रवाई होनी चाहिए, जिससे वे गले में तख्ती लटकाकर माफी मांगते घूमें या फिर प्रदेश छोड़कर भाग खड़े हों। महिलाओं, बेटियों, बच्चों व अनुसूचति जाति के लोगों के साथ होने वाले अपराधों में कार्रवाई का सीधा संदेश जाना चाहिए।

सुशील मोदी का आरोप, तेजस्वी ने नामांकन के शपथ पत्र में दी गलत जानकारी, लालू की तरह जेल में रहेंगे नेता प्रतिपक्ष

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर राघोपुर से नामांकन दाखिल करते समय तथ्यों को छिपाने और गलत जानकारी देने का आरोप लगाया है। सुशील मोदी ने कहा कि रघुनाथ झा और कांति सिंह से गिफ्ट में मिली संपत्ति को वे खरीदा हुआ बता रहे हैं। सीबीआई, ईडी व आयकर को इस मामले में स्वत: संज्ञान लेना चाहिए। वैसे इस मामले को हम चुनाव आयोग में भी ले जाएंगे। 

गुरुवार को पटना के एक होटल में पत्रकारों से बातचीत में उपमुख्यमंत्री ने कहा कि तेजस्वी ने अपने शपथ पत्र में चार करोड़ 10 लाख का कर्ज एक भारतीय कंपनी को देने की बात कही है। वर्ष 2015 में एक करोड़ सात लाख का कर्ज देने की बात कही थी। क्या, वही कर्ज बढ़कर चार करोड़ से अधिक हो गया या नया कर्ज है, इसका उल्लेख नहीं है। तेजस्वी आईआरसीटीसी घोटाले में चार्जशीटेड हैं। लॉकडाउन के कारण अभी ट्रायल शुरू नहीं हुआ है। अभी बेल पर हैं। इसमें उनका जेल जाना तय है। 

उपमुख्यमंत्री ने दावा किया कि जिस तरह लालू प्रसाद के जीवन का बड़ा हिस्सा जेल में बीता है, तेजस्वी को भी लंबे समय तक जेल में रहना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि डेढ़ लाख आमदनी बताने वाले तेजस्वी ने चार करोड़ से अधिक का कर्ज कैसे दिया। पुश्तैनी संपत्ति भी नहीं थी। न शिक्षा, न नौकरी, न ही कोई व्यवसाय तो पैसा कहां से आया। आखिर ऐसी क्या योग्यता थी कि तेजस्वी 52 तो तेजप्रताप 28 से अधिक संपत्ति के मालिक बन गए। 

सुशील मोदी ने कहा कि 1800 करोड़ के सृजन घोटाला में तीन साल बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होने के सवाल पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसी को जांच की प्रगति से परेशानी है तो वह कोर्ट जाए। कहा कि इस बार भ्रष्टाचार बनाम नरेन्द्र मोदी व नीतीश कुमार का विकास भी चुनावी मुद्दा होगा। प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल के अलावा एसडी संजय, राकेश कुमार सिंह, अशोक भट्ट मौजूद थे।   

Google पर भूलकर भी न करें ये चीजें सर्च, वरना होगा बहुत नुकसान

नई दिल्ली  आज के समय में लगभग सभी लोग किसी भी चीज को सर्च करने के लिए Google का सहारा लेते हैं। अगर आप भी गूगल पर चीजें सर्च करते हैं, तो यह खबर आपके लिए है। क्योंकि आज हम आपको यहां कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे, जिन्हें सर्च कर आप मुसीबत में फंस सकते हैं। यहां तक की आपको जेल भी जाना पड़ सकता है। आइए जानते हैं कौन-सी चीजें हमें गूगल पर सर्च नहीं करनी चाहिए…  

बम बनाने का तरीका 

सर्च इंजन गूगल पर भूलकर भी बम बनाने तरीका या इससे संबंधित किसी भी चीज को सर्च न करें। ऐसा करने से आपको जेल जाना पड़ सकता है। आपको बता दें कि जैसे ही आप इस तरह की चीज गूगल पर सर्च करेंगे, तो कंपनी आपका आईपी एड्रेस सीधा सुरक्षा एजेंसियों को भेज देगी। इसके बाद संभव है कि सुरक्षा एजेंसियां आपके खिलाफ कार्रवाई कर सकती हैं। 

दवाइयां

अगर आपकी तबीयत खराब है और आप गूगल के जरिए लक्षणों के आधार पर यह पता लगाना चाहते हैं कि आप कौन-सी बीमारी से संक्रमित हैं। साथ ही गूगल पर उस बीमारी से ठीक होने के लिए दवाइयां सर्च कर रहे हैं, तो ऐसा न करें। गलत दवाइयों का सेवन करने से आपकी तबीयत और खराब हो सकती है। इसलिए जब भी आपकी तबीयत खराब हो, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।    

निजी ईमेल गूगल पर न करें सर्च

याद रहे अपनी पर्सनल ईमेल लॉगइन को गूगल पर सर्च करने से परहेज करें, ऐसा करने पर आपका अकाउंट हैक और पासवर्ड लीक होने की समस्या होती है। जिसके बाद आपकी ईमेल आईडी के माध्यम से आप किसी स्कैम में भी फंस सकते हैं। 

कस्टमर केयर नंबर

हम कोई भी प्रोडक्ट इस्तेमाल कर रहे होते हैं और उसमें किसी भी तरह की परेशानी आने पर हम सीधा कस्टमर केयर को कॉल करने की सोचते हैं। हमें कई बार किसी कंपनी के कस्टमर केयर नंबर पता नहीं होता है, ऐसे में हम Google का ही सहारा लेते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि Google पर किसी भी कस्टमर केयर का नंबर सर्च करना नुकसान दायक साबित हो सकता है। आपको बता दें कि साइबर क्राइम को बढ़ावा देने वाले हैकर्स किसी भी कंपनी का फेक या फर्जी हेल्पलाइन नंबर Google Search में फ्लोट करते हैं। ऐसे में जब आप उस नंबर पर कॉल करेंगे तो आपका नंबर हैकर्स के पास पहुंच जाता है। जिसके बाद हैकर्स आपको आपके नंबर पर कॉल करके साइबर क्राइम को अंजाम दे सकते हैं, जिसमें कि SIM Swap जैसी घटनाएं शामिल हैं।

मोबाइल ऐप या सॉफ्टवेयर

गूगल सर्च के जरिए कई बार फिशिंग या फर्जी ऐप्स और सॉफ्टवेयर हम डाउनलोड कर लेते हैं, जो हमारे डिवाइस को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे में किसी ऐप को आप गूगल प्ले स्टोर या फिर ऐप स्टोर से ही डाउनलोड करें। यही नहीं, किसी भी सॉफ्टवेयर को कंपनी के आधिकारिक वेबसाइट से ही डाउनलोड करें।

प्रभात झा बोले-यहां व्यवस्थाओं में चलना होगा

बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रभात झा ने साफ किया है कि बीजेपी अनुशासन और व्यवस्थाओं पर आधारित पार्टी है। पढ़िए पूरी खबर-


सागर। उपचुनावों के लिए बीते दिनों भोपाल में भाजपा ने 28 वीडियो रथ पूरे धूमधाम से रवाना किये। सीएम शिवराज सिंह और प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने हरी झंडी दिखाई। पोस्टरों पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का फोटो नही होने के कारण अब विवाद गहराया है। रथ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, सीएम शिवराज सिंह चौहान और प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा की तस्वीरें हैं। इसको लेकर मीडिया में चर्चाएं बनी हुई हैं। 

सागर पहुंचे भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभात झा से मीडिया ने इसे लेकर सवाल किया तो वे बोले कि हमारे यहां व्यवस्था प्रमुख है।सिर्फ चार फोटो हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रधानमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष और मुख्यमंत्री। मेरा फोटो नही है और भी पदाधिकारियों के फोटो नही हैं। यह बात सिंधिया भी समझते हैं, कि व्यवस्थाओं में चलना होगा।

काली मिर्च में छुपा है सेहत का खजाना, ये बड़ी बीमारी भी कर देता जड़ से खत्म

गर्म मसाले में मुख्य रूप से शामिल काली मिर्च, अनेक औषधीय गुणों से भरपूर होती है। यह पेट से लेकर त्वचा तक की सभी समस्याओं में अनेक तरीके से काम आती है। किंग ऑफ स्पाइस यानि ब्लैक पेपर के नाम से प्रचलित काली मिर्च भोजन में इस्तेमाल किए जाने वाले गर्म मसालों का एक अहम् हिस्सा है। काली मिर्च हमारे भोजन का केवल स्वाद ही नहीं बढ़ाती ब्लकि कई बीमारियों के इलाज में भी सहायता करती है।

काली मिर्च के फायदे

खांसी होने पर 8-10 काली मिर्च, 10-15 तुलसी के पत्ते मिलाकर चाय बनाकर पीने से आराम मिलता है।

100 ग्राम गुड़ पिघला कर 20 ग्राम काली मिर्च का पाउडर उसमें मिलाएं। थोड़ा ठंडा होने पर उसकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें। खाना खाने के बाद 2-2 गोलियां खाने से खांसी में आराम मिलता है।

दो चम्मच दही, एक चम्मच चीनी और 6 ग्राम पिसी काली मिर्च मिलाकर चाटने से काली और सूखी खांसी में आराम मिलता है।

एक चम्मच शहद में 2-3 पिसी काली मिर्च और चुटकी भर हल्दी मिलाकर खाने से जुकाम में बनने वाले कफ से राहत मिलेगी।

नाक में एलर्जी होने पर 10-10 ग्राम सोंठ, काली मिर्च, पिसी इलायची और मिश्री को पीस कर चूर्ण बना लें। इसमें बीज निकला 50 ग्राम मुनक्का और तुलसी के 10 पत्ते पीसकर डालें और अच्छी तरह मिला लें। इस मिश्रण की 3-5 ग्राम की गोलियां बनाकर छाया में सुखा लें। सुबह-शाम 2-2 गोलियां गर्म पानी के साथ लें।

पिसी काली मिर्च पुराने गुड़ के साथ खाने से नाक से बहता खून बंद हो जाता है।

गला बैठ गया है, तो 7 काली मिर्च और 7 बताशे रात को सोने से पहले चबाकर खाएं।

बुखार में तुलसी, काली मिर्च और गिलोय का काढ़ा पीना फायदेमंद होता है।

फेफड़े और सांस नली में संक्रमण होने पर काली मिर्च और पुदीने की चाय का सेवन करें। इसके अलावा पिसी काली मिर्च, घी और मिश्री बराबर मात्रा में मिलाएं। सुबह-शाम एक-एक चम्मच लें, लाभ होगा।

काली मिर्च और काला नमक दही में मिलाकर खाने से पाचन संबंधी विकार दूर होते हैं। छाछ में

काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर पीने से पेट के कीटाणु मरते हैं और पेट की बीमारियां दूर होती हैं।

पेट में गैस की समस्या होने पर एक कप पानी में आधा नीबू का रस, आधा चम्मच पिसी काली मिर्च और आधा चम्मच काला नमक मिला कर पिएं।

कब्ज होने पर 4-5 काली मिर्च के दाने दूध के साथ रात में लेने से आराम मिलता है।

बदहजमी होने पर कटे नीबू के आधे टुकड़े के बीज निकाल कर काली मिर्च और काला नमक भरें। इसे तवे पर थोड़ा गर्म करके चूसें।

20 ग्राम काली मिर्च, 10 ग्राम जीरा और 15 ग्राम शक्कर या मिश्री पीस कर मिश्रण बना लें। इसे सुबह-शाम पानी के साथ फांक लें। बवासीर रोग में आराम मिलेगा।

काली मिर्च आंखों के लिए उपयोगी है। भुने आटे में देसी घी, काली मिर्च और चीनी मिला कर मिश्रण बनाएं। सुबह-शाम 5 चम्मच मिश्रण का सेवन करें।

नमक के साथ काली मिर्च मिलाकर दांतों में मंजन करने से पायरिया ठीक होता है। दांतों में चमक और मजबूती बढ़ती है।

मुंह से बदबू आती है, तो दो काली मिर्च रात को ब्रश करने से पहले चबा लें।

हाई ब्लड प्रेशर में आधा गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच काली मिर्च पाउडर घोल कर 2-2 घंटेके अंतराल पर पीने से आराम मिलता है।

माइग्रेन होने पर एक कप दूध में एक चम्मच पिसी काली मिर्च और एक चुटकी हल्दी मिला कर उबाल कर पिएं।

काली मिर्च शहद में मिलाकर खाने से कमजोर याददाश्त में फायदा होता है।

चेहरे पर झाइयां होने पर एक गिलास गाजर के रस में नमक और पिसी काली मिर्च मिलाकर पीना फायदेमंद है।

मध्य प्रदेश में सुविधा:सीएम हेल्पलाइन अब वाॅट्सऐप पर भी; शिकायत करने से लेकर उसकी पूरी जानकारी तत्काल मिलेगी, योजनाओं के बारे में भी जान सकेंगे

भोपाल

मध्य प्रदेश में सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करना और आसान हुआ।

कॉल करने की जरूरत नहीं है, सिर्फ वाॅट्सऐप पर मैसेज से शिकायत करना संभवबार-बार ऑफिसों के चक्कर लगाने और अधिकारियों से मिलने की जरूरत नहीं.

मध्य प्रदेश में आम लोग को अब सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करना और आसान हो गया है। सीएम हेल्पलाइन की सुविधा अब वॉट्सऐप पर भी हो गई है। अब कोई भी व्यक्ति कहीं से भी सीएम हेल्पलाइन पर बिना कॉल किए बिना शिकायत कर सकता है। वह शिकायत की वर्तमान स्थिति के बारे में भी तत्काल जान सकता है। इसके लिए उसे ना तो ऑफिस के चक्कर लगाने पड़ेंगे और ना ही किसी अधिकारी या कर्मचारी के सामने गिड़गिड़ाना होगा। मध्य प्रदेश सरकार ने इसके लिए वॉट्सऐप नंबर जारी कर दिया है। इसके माध्यम से मोबाइल फोन से किसी भी तरह की शिकायत तत्काल करना संभव हो गया है।

इस नंबर पर शिकायत की जा सकती है
शासन ने लोगों की मदद के लिए एक वॉट्सऐप नंबर जारी किया है। कोई भी वॉट्सऐप नंबर +91-7552555582 इस पर अब कहीं से कोई भी शिकायत कर सकता है। उसे बस अपने मोबाइल फोन पर इस नंबर को सेव करना होगा। उसके बाद वॉट्सऐप ऑप्शन में जाकर वह अपनी बात रख सकते हैं। अपनी तरफ से सिर्फ हाए लिखना होता है। उसके बाद चार विकल्प सामने आते हैं। इसमें शिकायत की स्थिति। नवीन शिकायत दर्ज कराना। योजनाओं की जानकारी और अन्य जानकारी शामिल होती है। बस अपना प्रश्न या अपनी समस्या मैसेज के रूप में लिखनी होगी। आगे की प्रोसेस अपने आप होती जाती है। बस उस प्रोसेस के अनुसार उसका जवाब देना होता है। किसी योजना की जानकारी के लिए इसमें एक लिंक आती है। इस पर सरकारी की योजनाओं के बारे में जानकारी भी मिल जाती है।

अभी यह व्यवस्था है
मध्य प्रदेश में लोगों की शिकायत सुनने के लिए 181 सीएम हेल्पलाइन नंबर है। इस पर व्यक्ति अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है। उसे इस नंबर पर कॉल करना होता है। कॉल सेंटर में बैठ व्यक्ति अटेंड कर शिकायत दर्ज कराते हैं। वे फिर संबंधित विभाग को उस शिकायत को फॉरवर्ड कर देते हैं। उसके बाद संबंधित विभाग का अधिकारी शिकायतकर्ता से संपर्क कर शिकायत के निवारण के लिए काम करता है। ऐसे में कई बार शिकायत करने के बाद भी उसकी पूरी जानकारी नहीं मिल पाती। पीड़ित को कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं। इसी से बचाने के लिए अब वॉट्सऐप नंबर दिया गया है, ताकि वह अपनी समस्या ऑनलाइन कभी भी देख सकें।

यह आ रही थी समस्या
सीएम हेल्पलाइन में अधिक कॉल होने पर कई बार आवेदक को तत्काल शिकायत करने में दिक्कत होती थी। कॉल नहीं लगने की शिकायत भी रहती थी। इसी को देखते हुए वॉट्सऐप की अलग से सेवा शुरू की। हालांकि हेल्पलाइन नंबर भी जरी रहेगा। लोग अपनी सुविधा के अनुसार इनका उपयोग कर सकते हैं।