JEE- Advanced 2020 का रिजल्ट हुआ घोषित, निश्चय दीवान रहे ग्वालियर सिटी टॉपर

आईआईटी दिल्ली की ओर से ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन एडवांस्ड 2020 के परिणाम 5 अक्टूबर, को सुबह 10 बजे जारी किए गए।जेईई एडवांस्ड की परीक्षा 27 सितंबर को देश भर में आयोजित की गई थी। मध्य प्रदेश के विद्यार्थी हमेशा से इस परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करते आये हैं। इस वर्ष भी ग्वालियर शहर के कई विद्यार्थियों ने यह परीक्षा उत्तीर्ण की है। जिनमें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा निश्चय दीवान(सुपुत्र- डॉ. वैभव दीवान एवं डॉ. अनीता दीवान) का, इन्होंने AIR 125 के साथ ग्वालियर शहर टॉप किया है।निश्चय ने कड़ी मेहनत, लगन और आत्मविश्वास से यह सफलता अर्जित की है। इसका श्रेय वे अपने माता-पिता के सहयोग को देते हैं, साथ ही उन्होंने शिखर क्लासेस की पूरी टीम को उनके मार्गदर्शन के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया।


द न्यूज़ लाइट परिवार निश्चय को उनकी इस सफलता के लिए शुभकामनाएं प्रेषित करता है एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है।





JEE Advanced 2020 : लड़कियों में टॉपर कनिष्का ने कहा, लॉकडाउन का पूरा इस्तेमाल जेईई की तैयारी में किया, ऐसे करती थीं तैयारी

उत्तर प्रदेश, मुरादाबाद की रहने वाली कनिष्का मित्तल ने जेईई एडवांस परीक्षा में लड़कियों की कैटगरी में पहला स्थान हासिल किया है। आईआईटी रुड़की जोन की कनिष्का मित्तल की उनकी ऑल इंडिया रैंकिंग 17 है। कनिष्का के 396 में से 315 स्कोर हैं।17 साल की कनिष्का ने बताया की वो पिछले दो साल से कोटा में तैयारी कर रही हैं। उन्होंने बताया कि उनके भाई को देखकर उन्हें प्रेरणा मिली। कनिष्का के भाई जो बीटेक कर रहे हैं । उन्होंने बताया कि उन्होंने एलेन करियर इंस्टीट्यूट में एडमिशन लिया। कनिष्का का कहना है कि उन्होंने कभी भी किसी से अपनी तुलना नहीं की।

कनिष्का बताती हैं कि वो खुद में विश्वास रखती है, वो रोज समय से अपना होमवर्क करती थीं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि रोज अधिक-अधिक से सवालों की प्रैक्टिस करती थी, क्योंकि जेईई का पेपर हर साल कुछ नया आता है, परीक्षा में किसी भ टॉपिक से, कहीं से भी सवाल आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि कोटा आने से पहले उनका मैथ्स अच्छा था, लेकिन फिजिक्स कमजोर थी, लेकिन अब वो फिजिक्स में भी अच्छी हो गई हैं। 

कनिष्का ने बताया कि उन्होंने लॉकडाउन का पूरा लाभ उठाया। दरअसल कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से परीक्षाएं आगे के लिए बढ़ा दीगईं थी।  कनिष्का ने अपना सफलता का मंत्र बताते हुए कहा कि लॉकडाउन का मैंने पूरा लाभ उठाया और रोजाना 8 से 10 घंटा पढ़ाई की। मैं रोज अपने वीक प्वाइंट्स पर ज्यादा ध्यान देती थी, और अपनी अधिक से अधिक शंकाओं को फैकल्टी से पूछती थी। हो सकता है कि लॉकडाउन का समय मिल पाने के कारण मेरी यह रैंक आई।  अपनी हॉबी के बारे में बताते हुए कनिष्का कहती हैं कि उन्हें नोवल पढ़ना पसंद है। कनिष्का ने कहा कि कि उन्हें मैथ्स से प्यार है और इसलिए उन्होंने आईआईटी जेईई देने का फैसला किया।

Jee Advanced Topper चिराग फलोर नहीं करेंगे IITs से इंजीनियरिंग, पहले ही ले चुके हैं यहां एडमिशन

JEE Advanced 2020 Result: जेईई एडवांस्ड 2020 में ऑल इंडिया टॉप करने वाले पुणे निवासी 18 वर्षीय चिराग फलोर ने IIT के किसी भी इंस्टीट्यूट में एडमिशन न लेने का फैसला लेकर लोगों को हैरान कर दिया है।सोमवार को जारी हुए जेईई एडवांस्ड रिजल्ट में चिराग ने 396 में से 352 अंक हासिल कर ऑल इंडिया रैंक-1 (AIR-1) प्राप्त किया है। चिराग आईआईटी बॉम्बे जोन के अभ्यर्थी हैं।

जईई एडवांस्ड रिजल्ट के बाद लोगों से मिल रहीं शुभकामनाओं के बीच चिराग फलोर ने कहा, ‘मैंने पहले ही मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) में एडमिशन ले चुका हूं और यहीं से स्नातक डिग्री पूरी करने का प्लान है।’

चिराग लड़कों के साथ ओवरऑल में भी जेईई एडवांस्ड 2020 टॉपर हैं, तो लड़कियों में आईआईटी रुड़की जोन की कनिष्का मित्तल ने एआईआर-17 रैंक के साथ टॉप किया है। आईआईटी बॉम्बे जोन की महिला टॉपर की बात करें तो नियति मेहता ने एआईआर 62 रैंक के साथ टॉप किया। 

आईआईटी दिल्ली से मिली सूचना के अनुसार, जेईई एडवांस में टॉप 100 रैंक लाने वालों में से 24 छात्र आईआईटी बॉम्बे जोन से हैं, वहीं आईआईटी दिल्ली जोन के 22 छात्रों ने टॉप 100 में जगह बनाई है।

भारत-नेपाल सीमा पर मालवाहक वाहनों की 10 किमी लंबी कतार

महराजगंज, । गोरखपुर-सोनौली राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारत के सोनौली से लेकर नेपाल के छपवा तक ट्रकों की दोहरी कतार 10 किलोमीटर तक लग गई है। जिससे एक लेन पर आवागमन पूर्णयता बंद है, दूसरी लेन से दोनों तरफ से लोग आ जा रहे हैं। भारत के विभिन्न प्रांतों व जनपदों से समान लोडकर नेपाल में प्रतिदिन 400 से 450 माल वाहक ट्रकें जाती हैं, लेकिन बीते पांच दिनों से नेपाल भंसार कार्यालय में जगह की कमी होने से 200 से 350 मालवाहक ट्रकों का प्रवेश हो पा रहा है। ऐसे में वाहनों का लंबा जाम लगा हुआ है।

जाम के झाम से निकलने में कटिंग का खेल शुरू

भारत से नेपाल जाने वाले मालवाहक ट्रकों को आगे बढ़ने की होड़ लगी हुई है, जिसमें फिर से कटिंग का खेल शुरू हो गया है और कई दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो ट्रकों को कतार से आगें निकालने की एवज में मोटी रकम वसूल रहे हैं।

ट्रकों से कटिंग के खेल को सीओ करेंगे फेल

सीओ अजय सिंह चौहान के निर्देश पर नौतनवा व सोनौली पुलिस ने छपवा तिराहा, बनैलिया मंदिर चौराहा, कुनसेरवा बाईपास चौक व सोनौली कोतवाली गेट के पास पुलिस पिकेट तैनात कर दी है। जिससे कटिंग के दलालों में हडकंप मच गया। सीओ ने कहा कि कतार तोड़ आगे निकलने वाले वाहनों पर कार्रवाई की जाएगी।भारत सरकार ने नेपाल को दी सौगात

नेपाल की राजधानी काठमांडू में गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित एक समारोह में नेपाल सरकार को भारत की तरफ से स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए 43 एंबुलेंस और तीन बसों की सोगात दी गई। गत दिनाें सभी वाहन सोनौली सीमा के रास्‍ते नेपाल पहुंचे थे। कार्यक्रम में नेपाल के स्वास्थ्य मंत्री भी शामिल हुए। भारत सरकार 15 अगस्त, 26 जनवरी व गांधी जयंती के अवसर पर हर वर्ष नेपाल को मदद दी जाती है। यही वजह है कि इस साल भारत ने गांधी जयंती पर अपने दोस्त नेपाल की मदद स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए एंबुलेंस भेजकर की है। नेपाल सरकार के प्रवक्ता विष्णु पौडेल ने बताया कि भारत से हमारा रोटी बेटी के रिश्ता हैं, जो आए दिन हमारी मदद करता रहता है। भारत की मदद से कई परियोजनाओं पर नेपाल में काम चल रहा है। उन्होंने भारत सरकार को धन्यवाद ज्ञापित किया।

कार से पाकिस्तानी छुहारा बरामद, एक गिरफ्तार

महराजगंज जिले के कोल्हुई क्षेत्र के जोगियाबारी चौकी के पास पुलिस ने एक कार से नौ बोरी पाकिस्तानी छुहारा बरामद किया। चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक कार की तलाशी ली। जिसमे नौ बोरी में रख छुहारा मिला। चालक मोहम्मद अली उर्फ बबलू थाना मोहाना जिला सिद्धार्थ नगर को गिरफ्तार कर लिया गया । पुलिस ने चालक को छुहारा और कार के साथ के अग्रिम कार्रवाई के लिए नौतनवा कस्टम को सौंप दिया है।

तस्करी कर नेपाल ले जाए जा रहे सात मवेशी बरामद

भारत नेपाल सीमा के शितलापुर बीओपी के एसएसबी जवानों ने नेपाल भेजे जा रहे सात मवेशियों को पकड़ लिया। जवानों को देख पशु तस्कर मौके से फरार हो गए। बीओपी के कमांडर अंशुल कुमार ने बताया कि वैश्विक महामारी के चलते भारत नेपाल सीमा सील है। सीमा सील होने के चलते जवानों की निगरानी बढ़ा दी गई है। जिसको लेकर जवान सीमा पर गस्त कर रहे हैं। गस्त के दौरान बॉर्डर से सटे ग्राम शितलापुर के रास्ते कुछ लोग मवेशियों (पड़वा) को नेपाल भेजने के फिराक में थे। इसी बीच जवानों की नजर उन पर पड़ गई। जवानों ने मौके से सभी मवेशियों को कब्जे में लेकर निचलौल पुलिस को सुपुर्द कर दिया है

बिहार में NDA की सीट शेयरिंग पर सहमति, LJP के फैसले के बाद बना फॉर्मूला

नई दिल्ली:  बिहार विधानसभा चुनावों को लेकर एनडीए (NDA) में सीटोंं का बंटवारा तय हो गया है. LJP के फैसले के बाद फॉर्मूला किया तय किया गया है, जिसके तहत सूत्रों के मुताबिक अब सूबे में 121 पर भाजपा चुनाव लड़ेगी वहीं जेडीयू 122 सीट पर अपने प्रत्याशी उतारेगी. नई सहमति के तहत जेडीयू, जीतन राम मांझी की पार्टी को अपने कोटे से 5 टिकट देगी. 

LJP के फैसले के बाद तय हुआ फॉर्मूला
बिहार में NDA की सीट शेयरिंग पर सहमति बनने के पीछे की बड़ी वजह LJP का वो फैसला रहा, जिसके तहत विधानसभा चुनाव में गठबंधन में मौजूद जनता दल (यूनाइटेड) से वैचारिक मतभेद के कारण उन्होंने अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया. पार्टी सूत्रों ने बताया कि लोजपा संसदीय बोर्ड ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के साथ गठबंधन का प्रस्ताव रखा. लोजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा में 143 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है और भाजपा उम्मीदवारों के खिलाफ वह अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी.

इससे पहले चिराग पासवान ने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी बात की है क्योंकि भाजपा नेतृत्व गठबंधन को बनाए रखना चाहता है. सूत्रों ने बताया कि लोजपा सीटों के बंटवारे की व्यवस्था में उसे पेशकश की गई सीटों को लेकर भी नाखुश है और वह जद(यू) की चुनावी संभावनाओं को नुकसान पहुंचाने की उम्मीद कर रही है.

दिलचस्प होगा कुछ सीटों पर चुनाव
एलजेपी की ओर से कहा गया कि कई सीटों पर जेडीयू के साथ वैचारिक लड़ाई हो सकती है ताकि उन सीटों पर जनता निर्णय कर सके कि कौन सा प्रत्याशी बिहार के हित में बेहतर है. 

राहुल गांधी की रैली में मंच से अपनी ही सरकार को असहज कर गए नवजोत सिंह सिद्धू, जमकर घेरा

, मोगा। लंबे समय के बाद मंच पर आए पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू राहुल गांधी की मौजूदगी में पंजाब के कांग्रेस नेताओं को असहज कर गए। उन्होंने किसानों के मुद्दे केंद्र सरकार को घेरने के साथ-साथ अपनी ही पंजाब सरकार को भी घेरा। सिद्धू ने कहा कि जब हिमाचल की सरकार सेब पर एमएसपी दे सकती है, तो पंजाब सरकार अपनी एमएसपी क्यों नहीं दे सकती है।

सिद्धू ने कहा कि पंजाब दाल और तिलहन को इंपोर्ट करता है। यहां का किसान उसे क्यों नहीं उपजा सकता। कहा कांग्रेस अध्यक्षासोनिया गांधी के वह आभारी हैं। सोनिया गांधी ने कांग्रेस शासित राज्यों की सरकारों को कृषि कानूनों के खिलाफ विशेष सत्र बुलाकर इसका विरोध करने को कहा है। पंजाब को भी विशेष सत्र बुलाना चाहिए और इसके विरोध में प्रस्ताव पारित करना चाहिए व राष्ट्रपति को भेजना चाहिए। 

मंच से सिद्धू ने सबसे पहले राहुल, फिर जाखड़ और हरीश रावत के बाद कैप्टन का नाम लिया। सिद्धू ने इस बात पर जोर दिया कि हमे स्वाबलंबी बनना पड़ेगा। सिद्धू जब बोल रहे थे तो कांग्रेस थोड़ी असहज हो गई। इस पर हरीश रावत अपनी सीट से उठ चुके थे। बाद में सिद्धू ने अपना भाषण खत्म किया, तब रावत अपनी सीट पर बैठे। 

सिद्धू ने कहा कि अगर दूध भट्टी पर चढ़ा हुआ है तो उबाल आना निश्चित है। ऐसे ही अगर किसानों और लोगों में रोष आ जाए तो सरकारों का उखड़ना निश्चित है। कहा कि किसान आज अपनी एमएससी खोने को लेकर घबराया हुआ है। पंजाब व देश को हरित क्रांति चाहिए थी। हरित क्रांति के बाद पंजाब देश का अन्नदाता बना, लेकिन आज इसी पंजाब के किसान पर मार पड़ रही है। 

सिद्धू ने कहा कि पंजाब ने पूरे देश के राज्यों में अन्न पहुंचाया। आज केंद्र सरकार पंजाब के किसानों को मारने पर तुली हुई है। कहा कि केंद्र सरकार ने यह कानून संसद में बिना किसी बहस के पारित किए हैं। यह फेडरल सिस्टम पर हमला है। मंडियोंं से 5000 करोड़ आता था। इन्होंने नए कानून लाकर इसको नुकसान पहुंचाया है। नए कानूनों से मजदूर बेरोजगार हो जाएगा। यूरोप व अमेरिका में जो सिस्टम फेल हो चुका है उसे भारत में अपनाया जा रहा है। 

उन्होंने कहा इकट्ठे होकर नहीं लड़े तो किसानों को बहुत बड़ा नुकसान हो जाएगा। क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू ने कहा कि पूंजीपति वकीलों की फौज लेकर आएंगे और किसानों को बरगलाएंगे। सरकार अगर किसान को कर्ज देती है तो इसे लोन कहती है, लेकिन अगर वही सरकार पूंजीपतियों को लाखों करोड़ों का कर्ज देती है तो उसे इन्सेंटिव कहती है। उन्होंने पंजाब सरकार से अपील की कि वह अदानी और अंबानी को निवेश के लिए पंजाब में न घुसने दे।

BJP की महिला नेता ने BF को मिलने बुलाया, पीछे-पीछे उसकी पत्नी भी आ गई –

इंदौर। तिलक नगर पुलिस थाना में विवाहेत्तर प्रेम संबंधों को लेकर दो शिकायतें सामने आई है। दोनों शिकायतें महिलाओं ने की है। पहली शिकायतकर्ता महिला का आरोप है कि बीजेपी की महिला नेता ने उसके पति के साथ अवैध संबंध बना लिए हैं। दोनों घर में थे तब उन्हें रंगे हाथों पकड़ा है। भाजपा की महिला नेता का कहना है कि सोशल मीडिया पर इस तरह के मैसेज डाल कर उनके पुरुष मित्र की पत्नी उन्हें बदनाम कर रही है।

तिलक नगर थाने के प्रभारी एसआई गुलाब सिंह रावत ने बताया कि सबसे पहले एक महिला ने काफी हंगामा किया और फिर पुलिस को बताया कि भाजपा की शादीशुदा महिला नेता ने उसके पति के साथ अवैध संबंध बना लिए हैं। दोनों आफ्टर मैरिटल अफेयर में है। उसने दोनों को रंगे हाथों पकड़ा है।

भाजपा की महिला नेता का कहना है कि उसने पुरुष मित्र को व्यक्तिगत व्यवहार के आधार पर लोन दिया था। महिला का पति वही वापस करने आया था। इसी दौरान महिला ने षड्यंत्र पूर्वक माहौल बनाते हुए भीड़ इकट्ठा कर ली और सोशल मीडिया पर मैसेज चलवा दिए। 

महिला नेता के पति ने कहा कि मेरी पत्नी तो ऐसी ही है

इस कहानी में नया ट्विस्ट तब आया जब भाजपा की महिला नेता के पति ने बयान दिया। उसने बताया कि उसकी पत्नी की हरकतें ठीक नहीं है। पुलिस ने दोनों पक्षों के आवेदन जमा कर लिए हैं, जांच की बात भी कही है। 

महाकालेश्वर ज्योर्तिंलिंग क्षरण की स्थिति जांचने पहुंचा जीएसआइ दल

उज्जैन, । महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग क्षरण की मौजूदा स्थिति जांचने के लिए भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआइ) का दल रविवार सुबह उज्जैन पहुंचा। जांच दल में चार सदस्य शामिल हैं। बता दें कि ज्योतिर्लिंग क्षरण का मामला सुप्रीम कोर्ट में जाने के बाद जीएसआइ को ज्योतिर्लिंग की जांच करने को कहा गया था। दल पहले भी उज्जैन आ चुका है। हाल ही में कोर्ट के फैसले के बाद एक बार फिर टीम यहां आई है। लॉकडाउन से लेकर अभी तक गर्भगृह में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद रहा है। प्रवेश बंद रहने के दौरान शिवलिंग पर क्या प्रभाव पड़ा है, जीएसआइ इसकी पड़ताल करेगा।

सीबीआरआइ ने की थी स्ट्रक्चर की जांच

सितंबर में केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान (सीबीआरआइ), रुड़की की टीम ने महाकाल मंदिर के स्ट्रक्चर की जांच की थी। दल अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में प्रस्तुत करेगा।

काला तेंदुआ दिखा नहीं, दहशत बरकरार

ग्वालियर, । कैंसर पहाड़िया स्थित न्यू विजय नगर में काला तेंदुआ देखे जाने की खबर जैसे ही फैली, दहशत का माहौल बन गया। शनिवार को भी इलाके रहने वाले लोगों में तेंदुए का खौफ देखा गया। जिस खेल मैदान के पास तेंदुआ देखा गया था, वहां शनिवार को बच्चे खेलने नहीं पहुंचे, बस घर के सामने गली में ही खेलते रहे। वहीं वन क्षेत्र में सुबह घूमने भी न के बराबर लोग ही गए। शनिवार को तेंदुआ देखे जाने वाले न्यू विजय नगर के रहवासियों से चर्चा की। लोगों ने बताया कि उन्ने अपने पालतू स्वान बाहर घुले में नहीं छोड़े। वहीं मवेशियों को रोजाना की तरह वन क्षेत्र में चरने के लिए भी नहीं छोड़ा।

न्यू विजय नगर में कई लोगों ने घर में मवेशी पाले हुए हैं। निवासी डॉ.नरेश त्यागी व कांति त्यागी के घर में भी 2 गाय हैं। कांति त्यागी ने बताया कि वे रोजाना सुबह गंगा व कावेरी (दोनों गायों के नाम) को चरने के लिए वन क्षेत्र में छोड़ देती थीं। मगर तेंदुए की सूचना मिलने के बाद गायों को छोड़ने का मन नहीं किया। डॉ.नरेश त्यागी ने बताया कि वनक्षेत्र में पानी के संसाधन नहीं हैं, इसलिए संभव: पानी की तलाश में तेंदुआ रिहायशी इलाके तक आ गया।

टेरेटरी बढ़ाने निकला होगा तेंदुआ, वापस लौटा..!

ग्वालियर वन मंडल के एसडीओ राजीव कौशल ने बताया कि तेंदुए अपना क्षेत्र (टेरेटरी) बढ़ाने के लिए दूर-दूर तक निकल जाते हैं और वापस लौट जाते हैं। सभी जंगली जानवरों का निश्चित टेरेटरी होता है। भोजन व पानी समेत बेहतरी की तलाश में तेंदुआ एक रात में 60-70 किलोमीटर घूमते हैं। संभवत: अब वह लौट गया है, क्योंकि शुक्रवार रात 11:30 बजे किसी वाहन चालक का फोन आया था। जिसने तेंदुए को तिघरा स्थित एबी रोड को पार करते देखा था। वनकर्मी रातभर सक्रीय रहे, जिन्हें तेंदुए का कोई सुराग नहीं मिला। पेड़ों पर लगाए गए 4 कैमरों में भी तेंदुए की कोई मूवमेंट नहीं दिखी है।