पाक को उल्टी पड़ी नक्शेबाजी, डोभाल ने तो बैठक छोड़ी ही, रूस से भी लगाई फटकार

 नई दिल्ली
चीन का सदाबहार मित्र पाकिस्तान ने SCO देशों की वर्चुअल बैठक में भारत के खिलाफ साजिश की फिर कोशिश की लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सख्ती और रूस की झाड़ के बाद इस्लामाबाद के होश ठिकाने आ गए। दरअसल, पाकिस्तान ने इस बैठक में एक काल्पनिक नक्शा पेश किया और उसमें भारत की जमीन को भी अपना बता दिया।

डोभाल की सख्ती, मीटिंग छोड़ी
पाकिस्तान के इस नक्शे के बाद NSA डोभाल ने काफी सख्ती दिखाई पड़ोसी देश के इस काल्पनिक नक्शे का विरोध करते हुए मीटिंग छोड़कर चले गए। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि NSA डोभाल के नेतृत्व वाला भारतीय प्रतिनिधिमंडल के पाकिस्तान के नक्शे का जोरदार विरोध किया।

रूस ने लगाई पाकिस्तान को झाड़
बैठक की अध्यक्षता कर रहे रूस ने पाकिस्तान को झाड़ भी लगाई और उसे यह नक्शा दिखाने से रोकने की पूरी कोशिश की। रूस ने यह भी उम्मीद जताई कि पाकिस्तान की इस उकसावे की कार्रवाई से भारत का SCO में भागीदारी पर असर नहीं पड़ेगा।

पाकिस्तान ने पिछले महीने जारी किया था नक्शा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पिछले महीने एक नया नक्शा जारी किया था। इस नक्शे में पूरा जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था। बता दें कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अब दो केंद्रशासित प्रदेश हैं। पाकिस्तान ने SCO की बैठक में बैकग्राउंड इमेज के तौर पर इस नक्शे का प्रयोग किया था। बता दें कि रूस ने पिछले सप्ताह SCO के विदेश मंत्रियों की बैठक से पहले ही कहा था कि SCO चार्टर में द्विपक्षीय विवादों को उठाने की मनाही है।

पाक ने जान-बूझकर चली चाल
भारत ने आधिकारिक बयान में कहा कि पाकिस्तान के प्रतिनिधि मोइद युसूफ ने जान-बूझकर नक्शे को प्रमोट किया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘यह मेजबान देश के आग्रह की नाफरमानी थी और इसमें मीटिंग के नियमों की अवहेलना की गई।’ उन्होंने कहा कि मेजबान देश के बात के बाद भारतीय दल ने विरोध जताते हुए बैठक छोड़ दी। बता दें कि युसूफ पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के विशेष सहायक हैं।

मीटिंग में पाक ने उगला जहर
श्रीवास्तव ने कहा कि जैसाकि उम्मीद थी इसके बाद पाकिस्तान ने बैठक में भारत के खिलाफ चालें चलीं और भ्रामक विचार रखे। रूसी फेडरेशन के नैशनल सिक्यॉरिटी काउंसिल निकोलई पैट्रूसेव ने बाद में भारतीय दल और NSA डोभाल के मीटिंग में शामिल होने के लिए धन्यवाद दिया और उम्मीद जताई कि वह आने वाले आयोजनों में डोभाल से मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *