अलविदा रघुवंश बाबू  आरजेडी के आंगन में गिर गया समाजवाद का आखिरी बरगद

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्ली एम्स में आज निधन हो गया. तबीयत खराब होने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था.
नई दिल्ली

रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्ली एम्स में निधनतबीयत बिगड़ने के बाद एम्स में थे भर्तीतीन दिन पहले आरजेडी से दिया था इस्तीफा

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्ली एम्स में आज निधन हो गया. तबीयत खराब होने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था. रघुवंश प्रसाद सिंह एम्स के आइसीयू वार्ड में भर्ती थे. दो दिन पहले उनकी हालत बिगड़ गई थी. बताया जा रहा है कि सांस लेने में परेशानी होने के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. 

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में निधन हो गया. वह वेंटिलेटर पर थे. उनके निधन पर सियासी गलियारे में शोक की लहर है. इसके पहले, आइसीयू से ही उन्‍होंने राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से इस्‍तीफा देने का अपना पत्र जारी किया था.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने निधन पर आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने गहर दुख जताया है. लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया, ‘प्रिय रघुवंश बाबू! ये आपने क्या किया? मैनें परसों ही आपसे कहा था आप कहीं नहीं जा रहे है. लेकिन आप इतनी दूर चले गए. नि:शब्द हूं. दुःखी हूं. बहुत याद आएंगे.’

प्रिय रघुवंश बाबू! ये आपने क्या किया? मैनें परसों ही आपसे कहा था आप कहीं नहीं जा रहे है। लेकिन आप इतनी दूर चले गए। नि:शब्द हूँ। दुःखी हूँ। बहुत याद आएँगे।

— Lalu Prasad Yadav (@laluprasadrjd) 

बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह के इस्तीफा देने से बिहार में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आरजेडी को झटका लगा था. रघुवंश प्रसाद सिंह पिछले 32 वर्षों से लालू प्रसाद यादव के साथ जुड़े हुए थे. उन्होंने दिल्ली एम्स के आईसीयू से अपना इस्तीफा रांची रिम्स में अपना इलाज करा रहे लालू प्रसाद यादव को भेजा था.

कहा जाता है कि रघुवंश प्रसाद सिंह आरजेडी में एक ऐसे नेता थे जो पार्टी अगर गलत ट्रैक पर जा रही होती तो उसे रोकने में पल भर की देरी नहीं करते थे. वैसे तो आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के सामने किसी की मुंह खोलने की हिम्मत नहीं होती थी लेकिन रघुवंश प्रसाद सिंह इन सब से अलग थे और लालू प्रसाद यादव भी उनकी बातों को मानते थे.

ज्योतिरादित्य सिंधिया की गाड़ी पर क्यों मचा है ‘बवाल’, क्या है इसका पुलिस से कनेक्शन

भोपाल
ज्योतिरादित्य सिंधिया को एमपी में कांग्रेस घेरने की कोशिश में जुटी है। वहीं, सिंधिया भी अपनी चुनावी सभाओं में कांग्रेस पर जम कर प्रहार कर रहे हैं। अब कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की गाड़ी को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। कांग्रेस का आरोप है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया जिस गाड़ी से मुरैना में रोड शो कर रहे थे, वह पुलिस की गाड़ी है। हालांकि उस गाड़ी पर कहीं पुलिस नहीं लिखा है।

कांग्रेस यह दावा नंबरों के आधार पर कर रही है। क्योंकि एमपी में हर विभाग के लोगों के अलग-अलग नंबर का अलॉटमेंट होता है। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने एक तस्वीर ट्वीट करते हुए पूछा है कि श्रीअंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी, आप प्रदेश के डीजीपी, एडीजी हैं, आईजी हैं या डीआईजी। डबरा में किस हैसियत से एमपी पुलिस के वाहन में जनसंपर्क कर रहे हैं। कहा जाता है कि आपकी शिक्षा विदेशों में हुई है।

हालांकि कांग्रेस के इस वार पर बीजेपी ने चुप्पी साध ली है। नंबरों के अलॉटमेंट के आधार पर देखें, तो ज्योतिरादित्य सिंधिया जिस गाड़ी पर सवार हैं, वह एमपी पुलिस की ही है। लेकिन गाड़ी किसकी है, ये पता नहीं चल पाया है। लेकिन कांग्रेस इस मुद्दे को लेकर सरकार पर हमलावर है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी इस रैली में कांग्रेस पर जम कर प्रहार किया था।

क्या है एमपी में नंबर प्रणाली
एमपी में MP-01 और MP-02 सरकार के लिए आरक्षित हैं। वहीं, MP-03 पुलिस के लिए आरक्षित है। बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया जिस गाड़ी पर सवार थे, उसका नंबर MP-03A 6271 है। नंबर सीरीज देखने से तो यहीं पता चल रहा है कि गाड़ी पुलिस की है। नियम के अनुसार पुलिस की गाड़ी का इस्तेमाल किसी भी राजनैतिक कार्यक्रम के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

सिंधिया ने भी किया है प्रहार
वहीं, मुरैना में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा है कि कांग्रेस वचन पत्र को धर्मग्रंथ कहते थे, प्रमुख नेता मुरैना में आकर किसान भाइयों से वादा किए की सरकार बनने के 10 दिन के अंदर कर्जमाफ न हुआ तो मुख्यंत्री बदल देंगे, मैं 10 दिन नहीं, 10 महीने देखा कर्जमाफ न हुआ। प्रदेश की जनता के साथ कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने मिलकर गद्दारी की है।

ग्वालियर: ट्रेनों के रिजर्वेशन शुरू होते ही आरक्षण केंद्रों पर जुटी यात्रियों की भीड़

कोरोना अनलॉक-4 में कई नई ट्रेनों के संचालन के बाद अब टिकट बुकिंग भी शुरू हो गई है। ऐसे में टिकट बुकिंग सेंटर पर यात्रियों की भीड़ भी जमा होने लगी है। कुछ ऐसा ही नजारा मध्य प्रदेश के ग्वालियर में देखने को मिला है। जहां आरक्षण केंद्र पर यात्री टिकट बुक करवाने पहुंच रहे हैं।

बेंगलुरू से नई दिल्ली स्पेशल ट्रेन 06527 का संचालन 12 सितंबर से और नई दिल्ली से बेंगलुरू के लिए 14 सितंबर से ट्रेनों का संचालन होगा शुरू। अनलॉक 4 में कई ट्रेनों का संचालन शुरू हो रहा है। जिसमे बुंदेलखंड, जीटी, कर्नाटक और खजुराहो कुरुक्षेत्र एक्सप्रेस आज से पटरी पर उतर रही हैं। इन ट्रेनों में सफर करने के लिए रिज़र्वेशन प्रक्रिया भी शुरू हो गया है। 

सुबह से ही यात्रियों की भीड़ इन ट्रेनों के टिकटों को लेकर रही। इनमें सबसे ज्यादा बुंदेलखंड एक्सप्रेस के यात्रियों की संख्या इलाहाबाद जाने को लेकर रही। हालांकि रिज़र्वेशन शुरू होते ही टिकट खिड़कियों पर यात्रा करने वालों की भीड़ देखने को मिली।

लगभग साढ़े पांच माह से बंद ट्रेनों को लेकर यात्री यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। इसमें इलाहाबाद जाने के लिए रेलवे के अधिकारियों के साथ कर्मचारी और अन्य लोगों की भीड़ ज्यादा रहती है। वहीं पहली बार खजुराहो कुरुक्षेत्र का संचालन शुरू हो रहा है। इसको लेकर भी यात्रियों में उत्साह है। पहले दिन इलाहाबाद के लगभग 30 के आसपास रिजर्वेशन हुए। वहीं अन्य ट्रेनों के भी रिजर्वेशन शुरू हो गए हैं। हालांकि यात्रियों को कोरोना के गाइड लाइन का पालन करना होगा।

12 सितम्बर से बेंगलुरु-नई दिल्ली व 14 सितंबर से नई दिल्ली बैंगलूरू के लिए स्पेशल ट्रेन

बेंगलुरू से नई दिल्ली स्पेशल ट्रेन 06527 का संचालन 12 सितंबर से और नई दिल्ली से बेंगलुरू के लिए 14 सितंबर से ट्रेनों का संचालन शुरू होने जा रहा है। यह ट्रेन बेंगलुरू से शाम 7 बजे चलकर ग्वालियर अगले दिन सुबह 4.55 पर पहुंचेगी, वहीं सुबह 5 बजे ग्वालियर से रवाना होकर नई दिल्ली में सुबह 10.30 बजे पहुंचेगी। नई दिल्ली से रात को 9.35 बजे यह ट्रेन चलकर ग्वालियर रात को 1.45 बजे पहुंचेगी। इस ट्रेन के चलने से ग्वालियर से नई दिल्ली व बैंगलुरू जाने वालों यात्रियों को सहूलियत होगी।

MP News: ‘T’ के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया के दूसरे ट्वीट ने फिर बढ़ाई हलचल

ग्वालियर।
पिछले तीन दिन से ग्वालियर-चंबल संभाग का तूफानी दौरा और शिलान्यास एवं भूमि पूजन कार्यक्रम कर रहे बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार शाम एक के बाद एक ट्वीट (Jyotiraditya Scindia Tweet) कर राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ा दी। एक ट्वीट को तो उन्होंने थोड़ी देर बाद ही डिलीट भी कर दिया लेकिन थोड़ी देर बाद ही उन्होंने दूसरा ट्वीट किया जिससे कयासों का दौर फिर शुरू किया।

शनिवार शाम को सिंधिया उन्होंने दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में केवल ‘T’ लिखा था। ट्वीट सामने आते ही वायरल होने लगा और यूजर्स उनसे सवाल पूछने लगे कि इसका मतलब टाइगर ही है या कुछ और। थोड़ी देर बाद इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया। हालांकि, अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि इसका मतलब क्या था और इसे क्यों डिलीट किया गया।

दूसरे ट्वीट में सिंधिया ने लिखा है कि हम जमीनी कार्यकर्ता हैं और अपनी धरती मां से जुड़कर कार्य करने वालों में से हैं। हमें अपनी माटी, अपनी जनता के उज्ज्वल भविष्य की चिंता है और यदि उसके लिए हमें कुर्सी भी त्याग करनी पड़े तो हम पीछे नहीं हटते।

सिंधिया के इस ट्वीट को कांग्रेस के आरोपों का जवाब माना जा रहा है। कांग्रेस अक्सर ये आरोप लगाती है कि पद और पैसे के लालच में सिंधिया-समर्थक विधायकों ने पार्टी छोड़ी थी। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ इसको लेकर कई बार सिंधिया की नैतिकता पर सवाल उठा चुके हैं। माना जा रहा है कि इस ट्वीट के जरिए सिंधिया ने इन आरोपों का जवाब दिया है।

कारण चाहे जो हो, लेकिन उनके ट्वीट्स ने प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ा दी हैं। लोग अपने-अपने हिसाब से इसके बारे में कयास लगा रहे हैं। अब देखना है कि कांग्रेस इका क्या जवाब देती है।

सुशांत केसः NCB ने ड्रग डीलर KJ को किया गिरफ्तार, अब बड़ी मछलियां भी फंसेंगी!

NCB ने अंकुश अरेन्जा (29) को पवई से दबोचा है, जो KJ से ड्रग्स लेता था. उसके पास से 42 ग्राम चरस (कीमत करीब 1 लाख 12 हजार रुपये) बरामद हुआ है. इस मामले में गोवा से भी गिरफ्तारी हुई है. यहां से क्रिस कोस्टा को गिरफ्तार किया गया है.

मुंबई

NCB की मुंबई यूनिट ने किया गिरफ्तारदादर से 2 ड्रग्स पेडलर्स अरेस्ट किए गएइस मामले में गोवा से भी गिरफ्तारी हुई है

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की मुंबई यूनिट ने सुशांत सिंह मामले में ड्रग डीलर करमजीत सिंह आनंद उर्फ KJ को गिरफ्तार किया है. KJ के पास से गांजा और चरस बरामद किया गया है. इसके अलावा ड्यून एंथोनी फर्नांडिस समेत दो और ड्रग्स पेडलर्स को दादर वेस्ट इलाके से पकड़ा  गया है, जिनके पास से 500 ग्राम गांजा मिला है.

NCB ने अंकुश अरेन्जा (29) को पवई से दबोचा है, जो KJ से ड्रग्स लेता था. उसके पास से 42 ग्राम चरस (कीमत करीब 1 लाख 12 हजार रुपये) बरामद हुआ है. इस मामले में गोवा से भी गिरफ्तारी हुई है. यहां से क्रिस कोस्टा को गिरफ्तार किया है. मुंबई यूनिट के जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े के नेतृत्व में ये कार्रवाई हुई है. आगे की जांच अभी भी जारी है. अब इस मामले में और बड़ी मछलियों के पकड़े जाने की संभावना है. 

बता दें कि ड्रग लेने के आरोप में जेल में बंद रिया चक्रवर्ती का भाई शोविक अगर एक गलती न करता तो NCB को उस पर शिकंजा कसना आसान नहीं होता. दरअसल, जिस वक्त NCB रिया, उसके भाई शोविक, फ्लोर मैनेजर सेमुअल मिरांडा और कुक दीपेश का एकाउंट खंगाल रही थी, उसी वक्त NCB की नजर रिया के कार्ड से हुई एक पेमेंट पर पड़ी. ये पेमेंट एक ड्रग पैडलर को बड के बदले की गई थी.

सूत्रों के मुताबिक, शोविक ने कुछ महीने पहले सेमुअल मिरांडा को एक ड्रग्स पैडलर के पास बड लेने के लिए भेजा था. लेकिन, बदकिस्मती से सेमुअल मिरांडा पैसे ले जाना भूल गया था. वहां पहुंचकर सेमुअल ने शोविक को कॉल किया और पमेंट के लिए बोला, जिसके बाद शोविक ने सेमुअल को रिया के कार्ड से पेमेंट करने के लिए बोला. एक ड्रग पैडलर के साथ रिया के फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन से रिया पर NCB का शिकंजा कस गया.

सोनिया गांधी इलाज के लिए विदेश रवाना हुईं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, मॉनसून सत्र के पहले चरण में नहीं लेंगी हिस्सा

नई दिल्ली

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इलाज के लिए विदेश जा रही हैं। उनके के साथ राहुल गांध भी जाएंगे। हालांकि, राहुल अगले हफ्ते तक भारत वापस लौट आएंगे। पार्टी महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह जानकारी दी।

सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी चिकित्सा जांच के लिए आज विदेश गई हैं। यह चिकित्सा जांच महामारी के कारण टल गई थी। उनके साथ राहुल गांधी भी गए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस मौके पर हम उनकी अच्छी कामना के लिए धन्यवाद देते हैं।’’  बता दें, चिकित्सा जांच के लिए विदेश गई सोनिया गांधी और उनके साथ राहुल गांधी सोमवार से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र के पहले चरम में शामिल नहीं होंगे। 

इससे पहले बीते दिन शुक्रवार को संगठन में सोनिया ने  व्यापक बदलाव को मंजूरी प्रदान की। इस बदलाव में पार्टी के कई बड़े नेताओं को अपने पद से हटा दिया था। इस बदलाव में सबसे बड़ा फायदा राहुल गांधी के करीबी रणदीप सिंह सुरजेवाला को हुआ है। सुरजेवाला अब कांग्रेस अध्यक्ष को सलाह देने वाली उच्च स्तरीय छह सदस्यीय विशेष समिति का हिस्सा हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह फिर AIIMS में भर्ती, 12 दिन पहले ही हुए थे डिस्चार्ज

Amit Shah admitted in AIIMS: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार देर रात दोबारा एम्स में भर्ती हुए हैं। कोरोना से उबरने के बाद से ही उन्हें हेल्थ से जुड़ी समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। 31 अगस्त को ही उन्हें एम्स से डिस्चार्ज किया गया था।

हाइलाइट्स:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह देर रात एम्स में हुए भर्ती31 अगस्त को ही उन्हें एम्स से डिस्चार्ज किया गया थाशाह 2 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, 14 अगस्त को ठीक हुए18 अगस्त को पोस्ट-कोविड ट्रीटमेंट के लिए एम्स में हुए थे भर्ती.

नई दिल्ली
बीते दिनों कोरोना संक्रमण से उबरने के बावजूद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह  को हेल्थ से जुड़ी समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। वह एक बार फिर से दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) में भर्ती हुए हैं। शनिवार देर रात करीब 11 बजे उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया। वह एम्स के कार्डियो न्यूरो टावर में भर्ती हैं। और ज्यादा जानकारी का इंतजार है।

बताया जा रहा है कि कोरोना से ठीक होने के बाद से ही उन्हें सांस से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इससे पहले भी वह कोरोना से उबरने के बाद की देखभाल के लिए एम्स में भर्ती हुए थे और 31 अगस्त को उन्हें छुट्टी मिली थी।

गृह मंत्री अमित शाह पिछले महीने 2 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद वह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए थे। 14 अगस्त को उनका कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया था। हालांकि, उसके 4 दिन बाद ही 18 अगस्त को वह पोस्ट-कोविड केयर के लिए एम्स में भर्ती हुए। उस दौरान उन्होंने अस्पताल से ही मंत्रालय का कामकाज भी संभाला।

घर बैठे एक्टिवेट कर सकेंगे अपना ATM Card, SBI ने शुरू की ये नई सुविधा

नई दिल्ली  एटीएम कार्ड आज के बैंकिंग सिस्टम में एक बहुत ही जरूरत की चीज बन चुकी है. जब भी कोई व्यक्ति बैंक में नया खाता खोलता है, तभी उसको एटीएम कार्ड जारी हो जाता है. एटीएम कार्ड से लोग कैश निकालने के अलावा उसके जरिए प्वाइंट ऑफ सेल मशीन के अलावा ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं

नई दिल्ली एटीएम कार्ड (ATM Card) आज के बैंकिंग सिस्टम में एक बहुत ही जरूरत की चीज बन चुकी है. जब भी कोई व्यक्ति बैंक में नया खाता खोलता है, तभी उसे एटीएम कार्ड जारी हो जाता है. एटीएम कार्ड से लोग कैश निकालने के अलावा उसके जरिए प्वाइंट ऑफ सेल मशीन के अलावा ऑनलाइन पेमेंट कर सकते हैं. अब देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने घर बैठे एटीएम कार्ड को एक्टिवेट करने की सुविधा दे दी है. 

इस तरह से कर सकते हैं एटीएम को एक्टिवेट
आपको बैंक की ब्रॉन्च या फिर एटीएम पर कार्ड को एक्टिवेट करने के लिए नहीं जाना होगा. आपको केवल एसबीआई के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉगिन करके 16 डिजिट का एटीएम नंबर होना चाहिए.

फॉलो करने होंगे ये स्टेप्स

एक बार लॉगिन करने के बाद, आपको ऑनलाइन ईबीआई पर ई-सर्विसेज टैब के तहत एटीएम कार्ड सेवा विकल्प पर जाना होगा.  

टैब में कई विकल्प हैं. आपको एटीएम कार्ड सेवा लिंक पर क्लिक करना होगा और उस टैब को खोलना होगा.  

उस खाते का चयन करें जिसमें से एटीएम कार्ड जारी किया गया था यदि आपके पास केवल एक खाता है, तो यह पूर्व-चयनित होगा.

दिए गए फील्ड में दो बार 16-अंकों का एटीएम कार्ड नंबर दर्ज करें, और एक्टिवेट करें पर क्लिक करें. 

इसके बाद, आपको खाता प्रकार और शाखा स्थान जैसे विवरणों को सत्यापित करने के लिए कहा जाएगा. उसकी पुष्टि करने के बाद एटीएम कार्ड सफलतापूर्वक एक्टिवेट कर दिया गया है.

घर में लाना चाहते हैं बरकत तो आज ही घर से हटाएं ये 4 चीजें, जानिये क्या कहता है वास्तु शास्त्रस्त्र.

बताया जाता है कि घर में बरकत भी ऊर्जा से प्रभावित होती है। जिस घर में नकारात्मक ऊर्जा ज्यादा प्रभावशाली होती है उस घर में धन का अभाव होने लगता है।

Vastu Shastra for Money Gain : वास्तु शास्त्र घर, दुकान या ऑफिस की ऊर्जा में सकारात्मक बदलाव करने की विद्या पर आधारित है। इस शास्त्र में ऐसा माना जाता है कि घर में रखा हर एक सामान हमारे परिवार के सदस्यों और उनके जीवन को प्रभावित करता है। बताया जाता है कि घर में बरकत भी ऊर्जा से प्रभावित होती है। जिस घर में नकारात्मक ऊर्जा  (How to Remove Negative Energy from Home) ज्यादा प्रभावशाली होती है उस घर में धन का अभाव होने लगता है। ऐसे घरों में लोग ज्यादा बीमार पड़ते हैं। इन घरों का सारा धन बीमारी में लग जाता है। इसलिए घर से ऐसी ऊर्जा को बाहर निकालना बहुत जरूरी है।

वास्तु शास्त्र में ऐसा माना जाता है कि घर की ऊर्जा को सकारात्मक (Vastu Shastra for Positivity) बनाए रखना बहुत जरूरी है ताकि घर की ऊर्जा घर में बरकत को खींच कर ला सके। हर घर में ऐसा सामान जरूर होता है जो नकारात्मक ऊर्जा से घर को भर देता है। यह जरूरी है कि नकारात्मक ऊर्जा फैलाने वाले सामान को घर से बाहर निकाला जाए ताकि घर बरकत से भर जाए।

फटे-टूटे जूते-चप्पल फेंके घर से बाहर
अगर आपके घर में फटे हुए और बेकार जूते-चप्पलों का ढेर लगा हुआ है तो इन्हें तुरंत घर से बाहर निकाल दें। वास्तु शास्त्र में ऐसा माना जाता है कि ऐसे जूते-चप्पल घर में नकारात्मक ऊर्जा लेकर आते हैं। इसलिए घर में बस वही जूते-चप्पल रखें जिन्हें घर के लोग पहनते हैं और जो सही हालत में हैं.

खराब फोन से आती नकारात्मकता
स्मार्टफोन की लाइफ बहुत ज्यादा नहीं होती है। ऐसे में घरों में खराब फोन का अंबार लग जाता है। अगर घर में खराब फोन है तो या उसे ठीक करवाएं या फिर फेंक दें। क्योंकि आपके घर में पड़े ये फोन आपकी बुरी किस्मत को न्यौता देते हैं। जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी घर से इन्हें बाहर निकालें।

चरमराता फर्नीचर है दुर्भाग्य को खींचने वाला
घर में चरमराता फर्नीचर रखने से नकारात्मकता आती है। इसलिए घर में सिर्फ वही फर्नीचर रखें जो ठीक हालत में है। वरना ऐसे फर्नीचर की रिपेयरिंग करवाएं। अगर रिपेयर होने की हालत में नहीं है तो ऐसे फर्नीचर को घर से निकालना ही अच्छा है। चरमराते फर्नीचर से निकलने वाली आवाज को अशुभ माना जाता है।

सालों पुरानी दवाइयां को घर से करें बाहर
अक्सर लोगों के घर में दवाइयों का एक बड़ा-सा बॉक्स होता है। इसमें कई सारी ऐसी दवाइयां पड़ी रहती हैं जिनका सालों से कोई इस्तेमाल नहीं हुआ होता है। ऐसी दवाइयों को तुरंत घर से बाहर निकाल देना चाहिए। माना जाता है कि घर में ऐसी दवाइयां रखने से घर में नकारात्मकता आती है।