कांग्रेस और भाजपा नेताओं में कोरोना संक्रमण बढ़ा

मध्यप्रदेश में कोरोना अब सियासत से जुड़े लोगों को तेजी से अपनी चपेट में ले रहा है । मप्र कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और एपेक्स बैंक के पूर्व प्रशासक  अशोक सिंह ,वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी और भाजपा के वरिष्ठ नेता कृष्ण मुरारी मोघे कोरोना संक्रमण के शिकार हो गए है

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक सिंह को कुछ दिनों से बुखार और बदन दर्द की शिकायत थी इसके बाद उन्होंने अपने को कोरेंटइन कर लिया था और बीते सप्ताह से किसी से नही मिले थे । शुक्रवार को उनका सेम्पल लिया गया । शनिवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आयी तो वे तत्काल भोपाल रवाना हो गए और आज सुबह वे चिरायु अस्पताल में भर्ती हो गए

श्री सिंह ने अपने समर्थकों मित्रो और कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे अपना खायाल रखे  ।  मेरा स्वास्थ्य निरंतर ठीक हो रहा है .

उधर कांग्रेस के ही एक वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी को कुछ दिनों से खांसी और गला खराब होने की शिकायत थी । आज उनका कोविड टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद वे भी चिरायु अस्पताल में भर्ती हो गए ।

उधर भाजपा के वरिष्ठ नेता ,पूर्व सांसद और पूर्व महापौर कृष्ण मुरारी मोघे भी संक्रमण की चपेट में आ गए  ।

क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य हैं पूर्व महापौर श्री मोघे इंदौर के बाजार खुलवाने के मामले में बहुत सक्रिय थे  । उन्होंने होम  क्वॉरेंटाइन कर उपचार शुरू कर दिया है

गौरतलब है कि अंचल में उप चुनावो के मद्देनजर चुनावी गतिविधियां शुरू होने के बाद ग्वालियर अंचल ,इंदौर और भोपाल अंचल में नेताओ की सक्रियता बढ़ी तो कोरोना ने नेताओं को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया  ।

लॉकडाउन के बाद पहली बार चली ट्रेन 24 बोगी में 128 यात्रियों को लेकर दौड़ी

इंदौर-जबलपुर एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन के सुबह 9.40 बजे पहुंचे के साथ ही इंदौर रेलवे स्टेशन से लॉकडाउन के बाद ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई। यह ट्रेन शाम 7.30 बजे जबलपुर के लिए प्लेटफार्म-1 से रवाना होगी। अनलॉक के बाद पहली बार सवारियों को लेकर दौड़ी इस 24 बोगी की गाड़ी में सिर्फ 128 सवारियों ने यात्रा की। ट्रेन का इंदौर पहुंचने का समय सुबह 9.55 बजे था, लेकिन ट्रेन 15 मिनट पहले ही यहां पहुुंच गई। ट्रेन से उतरने के साथ ही सभी यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ एक्जिट गेट से बाहर निकाला गया। स्टेशन से यात्रियों के बाहर निकलते ही ट्रेन सहित पूरे परिसर को तत्काल सैनिटाइज किया गया।

इटारसी ने ट्रेन में सवार हुई सोनाली मालवीय ने कहा कि ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यात्रा की गई। व्यवस्थाएं ठीक हैं, बस कुछ जगह सुधार की जरूरत है। अभी तो स्टेशन पर 50 फीसदी के करीब भीड़ दिखी। आने वाले समय में जिंदगी जरूर पटरी पर आ जाएगी। भोपाल से आए मनीष झा से कहा कि ट्रेन में व्यवस्थाएं ठीक थी। अभी भी लोगों में कोरोना को लेकर डर है, इसलिए बहुत कम यात्री थे। पूरी ट्रेन खाली-खाली थी। वहीं करेली से आए आशुतोष शर्मा ने कहा कि सुविधाएं अच्छी थीं। करीब छह महीने बाद इंदौर आया हूं। होशंगाबाद से आई महिला ने कहा कि सभी नियमों को पालन किया। हम सुबह ट्रेन के निकले के एक घंटे पहले ही पहुंच गए थे।

Gwalior Fraud : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के नाम ठगी, सराफा कारोबारी के साथ 1.49 करोड़ की धोखाधड़ी

ग्वालियर  मध्य प्रदेश के ग्वालियर में सराफा के बड़े कारोबारी से उत्तर प्रदेश के जौनपुर निवासी आरोपित ने 1.49 करोड़ रुपये ठग लिए। यह ठगी उसने कारोबारी को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का प्रोजेक्ट दिलाने का झांसा देकर की। ठगी का यह मामला वर्ष 2018 से अभी तक की समयावधि का है। मुरार थाना पुलिस ने धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार, निरालानगर निवासी सराफा कारोबारी विनोद कुमार सोनी के यहां थाटीपुर निवासी यतेंद्र श्रीवास्तव का आना-जाना था। वर्ष 2018 में वह अपने साथ उत्तर प्रदेश के जौनपुर स्थित बाराद्वारिया क्षेत्र निवासी मेंहदी हसन रिजवी पुत्र नाजिर हुसैन को लेकर आया। मेंहदी हसन ने खुद को एनजीओ संचालक बताते हुए जौनपुर में अमन ग्रुप ऑफ इंडिया का डायरेक्टर बताया। साथ ही नीति आयोग में अच्छी पैठ होने की बात कहकर काम और अनुदान दिलाने की बात कही। उसने कारोबारी को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के प्रोजेक्ट आवंटित कराने का भी झांसा दिया। इससे हर महीने करीब एक करोड़ रुपये मुनाफे का लालच दिया।

इसके बाद उसने कई किस्तों में कारोबारी से 1.39 करोड़ रुपये जौनपुर स्थित विभिन्न बैंक खातों में जमा करवाए। 10 लाख रुपये यतेंद्र को भी दिलवाए। कारोबारी ने उनसे मिले प्रमाण-पत्रों के आधार पर मुरार के सिंहपुर रोड पर विनोद कुमार-सौरभ कुमार सीएसआर स्किल ट्रेनिंग सेंटर के नाम से कार्यालय भी शुरू किया और कौशल विकास का काम शुरू किया, लेकिन जब कोई भुगतान नहीं हुआ तो मामले की पड़ताल की। जौनपुर गए तो पता चला कि मेंहदी हसन के पास कुछ नहीं है।

इसके बाद कारोबारी ने फरवरी में मामले की शिकायत पुलिस से की। जांच के बाद पुलिस ने यतेंद्र श्रीवास्तव और मेंहदी हसन रिजवी के खिलाफ शुक्रवार देर रात ठगी का केस दर्ज कर लिया। नीति आयोग के ई-मेल से करता था व्यवहारकारोबारी ने पुलिस को बताया कि आरोपित ने उससे जिस ई-मेल आइडी से संवाद किया, वह नीति आयोग के नाम से जी-मेल पर बनी थी। आयोग के नाम से दस्तावेज व लाइसेंस दिया। कई प्रमाण-पत्र भी दिए, जो बाद में फर्जी निकले। कारोबारी ने ब्याज से रुपये लेकर ठग को दिए थे।

– कारोबारी की शिकायत पर ठगी का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस टीम मामले की जांच कर रही है। – अमित सांघी, पुलिस अधीक्षक, ग्वालियर

कोरोना काल में केंद्र सरकार के इस मंत्रालय ने तोड़ा रिकॉर्ड, किया ये बड़ा काम

नई दिल्ली: कोरोना काल में जब सब कुछ ठप रहा, तब सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय युद्धस्तर पर सड़कों के निर्माण में जुटा रहा. अप्रैल से अगस्त के बीच मंत्रालय ने सड़कों के निर्माण का नया रिकॉर्ड बनाया है. नितिन गडकरी के मंत्रालय ने कोरोना काल में जहां लक्ष्य से दोगुनी सड़कें बनाई हैं, वहीं हाईवे निर्माण कार्य अवॉर्ड करने के मामले में भी मंत्रालय ने तीन साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया.

दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने इस वर्ष अप्रैल से अगस्त के दौरान कुल 2771 किलोमीटर राजमार्ग बनाने का लक्ष्य रखा था. कोरोना काल की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद लक्ष्य से चार सौ किलोमीटर ज्यादा 3181 किलोमीटर हाईवे का निर्माण हुआ.

इसमें राज्य लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने 2104 किलोमीटर, एनएचएआई ने 879 किलोमीटर और एनएचआईडीसीएल ने198 किलोमीटर राजमार्ग का निर्माण किया.

खास बात है कि अगस्त 2019 तक जहां 1367 किलोमीटर नेशनल हाईवे निर्माण अवार्ड हुआ था, वहीं इस बार अगस्त 2020 तक दोगुने से ज्यादा 3300 किलोमीटर लंबाई के राष्ट्रीय राजमार्ग अवार्ड हुआ.

मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि कोरोना महामारी के बावजूद अप्रैल से अगस्त के बीच कुल 31 हजार करोड़ की धनराशि से 744 किलोमीटर हाईवे निर्माण का काम सौंपा गया. यह पिछले तीन वर्षों में सर्वाधिक है.

कंगना रनौत से विवाद पर बोले संजय राउत- अगर वो लड़की महाराष्ट्र से माफी मांगेगी तो मैं सोचूंगा

मुंबई
शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) के तेवर कंगना रनौत (Kangana Ranaut) विवाद में फिलहाल ठंडे पड़ते नहीं दिख रहे हैं। बॉलिवुड अभिनेत्री कंगना रनौत का मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से करने के मामले पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को कहा कि अगर वो लड़की (कंगना रनौत) महाराष्ट्र से माफी मांगेगी (मुंबई को लेकर दिए बयान पर) तो मैं सोचूंगा। साथ ही उन्होंने सवाल किया कि वह मुंबई को मिनी पाकिस्तान कहती है। क्या अहमदाबाद के बारे में भी ऐसा कहने की हिम्मत है?

एक दिन पहले यानी शनिवार को ही शिवसेना सांसद संजय राउत ने कंगना रनौत विवाद में सफाई दी थी कि अभिनेत्री कंगना रनौत से उनकी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है। साथ यह भी कहा कि मुंबई या फिर महाराष्ट्र का अपमान सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा, अब यह विषय खत्म हो जाना चाहिए। पिछले दो-तीन दिनों से शिवसेना सांसद संजय राउत और फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बीच टि्वटर के माध्यम से खूब आरोप-प्रत्योप लगाए गए। यहीं नहीं शिवसेना ने कंगना के खिलाफ प्रदर्शन भी किया। इसके अलावा कंगना को धमकी दी गई कि वह मुंबई आकर दिखाएं। शिवसेना के महिला मोर्चा ने कंगना का मुंह काला करने की धमकी तक दे दी। इस पर कंगना ने भी चुनौती देते हुए ट्वीट किया कि वह 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं।

कंगना बोलीं- आ रही हूं मुंबई

कंगना रनौत ने कुछ दिन पहले कहा था कि उन्हें मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसा लग रहा है। इस पर कई सिलेब्स ने कंगना के विरोध में ट्वीट किया था। वहीं कंगना ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि, मैं देख रही हूं कई लोग मुझे मुंबई वापस न आने की धमकी दे रहे हैं इसलिए मैंने तय किया है कि 9 सितंबर को मुंबई आऊंगी। मैं मुंबई एयरपोर्ट पर पहुंचकर टाइम पोस्ट करूंगी, किसी के बाप में हिम्मत है तो रोक ले। इस पर शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा था कि आने दें देखेंगे। इतना ही नहीं उन्होंने कंगना को मेंटल भी कहा। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि वह पीओके चली जाएं वह अपने खर्च पर उन्हें भेज देंगे।

जिस शहर में आप रहते हैं उसके बारे में गलत कैसे बोल सकते हो’

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा था कि जिस शहर में कंगना रह रही हैं, जिस शहर में आप रहते हैं। जहां कमाते हो। उस शहर और पुलिस के बारे में अनाप-शनाप बाते कर रही हैं। मुंबई पुलिस ने हमले में लोगों को बचाया। कसाब को पकड़ा, कोरोना के संकट काल में 50 से ज्यादा पुलिसवालों ने अपनी जान दी और उस मुंबई पुलिस के बारे में वह ऐसी बातें कर रही हैं।

भारत और ईरान इस देश में शांति के लिए करेंगे काम, चीन को मिला एक और झटका

तेहरान: मॉस्को से वापस लौटते समय अचानक ईरान दौरे पर पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को तेहरान में ईरान के रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर जनरल अमीर हातमी से मुलाकात की. इस दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई.

क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर चर्चा की गई
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि बैठक में क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर भी चर्चा हुई. जिसमें अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता बहाल करने का मुद्दा भी शामिल था. सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई इस बैठक में दोनों नेताओं भारत- ईरान के वर्षों पुराने सांस्कृतिक, भाषाई और सामाजिक रिश्तों को मजबूत करने पर बल दिया. इस दौरान दोनों देशों के संबंधों को अगले स्तर तक ले जाने के तरीकों पर भी चर्चा की गई.

SCO की बैठक से लौटते समय अचानक ईरान पहुंच गए थे राजनाथ

बताते चलें कि रक्षा मंत्री SCO की बैठक में भाग लेने के लिए मॉस्को गए थे. जहां पर चीन के रक्षा मंत्री वेई फांगहे ने उनसे बैठक करने का अनुरोध किया. उस बैठक में राजनाथ सिंह ने चीनी पक्ष को खरी- खरी सुनाई और उसे लद्दाख में पुरानी स्थिति फिर से बहाल करने को कहा. वहां से वापस लौटते समय राजनाथ सिंह शनिवार को अचानक ईरान पहुंच गए थे. अफगानिस्तान में चीन अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है. ऐसे में भारत- ईरान में सहमति बनने के बाद चीन को झटका लगना तय माना जा रहा है. 

चावल घोटाला: ईओडब्ल्यू ने दर्ज की 2 FIR, करप्शन के पॉलिटिकल कनेक्शन की भी होगी जांच

एफआईआर मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल ईओडब्ल्यू (Bhopal EOW) मुख्यालय में दर्ज हुई है. जबलपुर विंग इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

भोपाल  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) के निर्देश के बाद प्रदेश के बहुचर्चित चावल घोटाले (Rice Scam) में ईओडब्ल्यू (EOW) ने बड़ा एक्शन लिया है. ईओडब्ल्यू ने बालाघाट और मंडला जिले में संयुक्त रूप से एक-एक एफआईआर (FIR) दर्ज की है. यह एफआईआर ईओडब्ल्यू के भोपाल (Bhopal) मुख्यालय में दर्ज हुई है. जबलपुर विंग इस पूरे मामले की जांच कर रही है. एफआईआर में 22 मिलर्स और 9 अफसरों को आरोपी बनाया गया है. इसके साथ जांच का दायरा बढ़ाते हुए ईओडब्ल्यू ने 10 दूसरे जिलों की जांच भी शुरू कर दी है. जैसे से जांच बढ़ेगी वैसे-वैसे जिलों की संख्या भी बढ़ती जाएगी.

हाल ही में केंद्र सरकार की एक रिपोर्ट ने मध्य प्रदेश की सियासत में खलबली मचा दी थी. इस रिपोर्ट में जानवरों को दिए जाने वाले चावल को इंसानों को बांटने का खुलासा हुआ था. सरकार ने इस रिपोर्ट के आधार पर एक्शन लिया और ईओडब्ल्यू को पूरे मामले की जांच सौंपी थी. ईओडब्ल्यू ने पहले प्राथमिक जांच दर्ज की और इसके बाद अब बालाघाट और मंडला जिले में अलग-अलग एफ आई आर दर्ज की है. इस एफ आई आर दर्ज की है. जिम्मेदारों को प्रारंभिक तौर पर आरोपी बनाया गया है. आरोपी की संख्या आगे बढ़ेगी. साथ ही इन दोनों जिलों के अलावा भी 10 जिलों में जांच की जा रही है. ईओडब्ल्यू के सूत्रों का कहना है कि प्रदेश भर में सरकारी प्रक्रिया के तहत गरीबों को चावल बांटा गया है. ऐसे में 10 जिलों के अलावा भी अन्य दूसरे जिलों को भी जांच में शामिल किया जाएगा. जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ेगी वैसे-वैसे इसका दायरा भी बढ़ता जाएगा एफ आई आर की संख्या भी बढ़ेगी और आरोपियों की भी.

इन्हें बनाया आरोपी

बालाघाट में 18 मिलर्स, मंडला में 4 मिलर्स और खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के 9 अफसरों को आरोपी गया है. खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक आरके सोनी, तत्कालीन क्वालिटी निरीक्षक नागेश उपाध्याय मुकेश कनेरिया, सीडब्ल्यूसी के क्वालिटी निरीक्षक राकेश सेन एस एल द्विवेदी, बेहर के क्वालिटी निरीक्षक लोचन सिंह टेंभरे, सीडब्ल्यूसी गर्रा के शाखा प्रबंधक विपिन बिसेन, श्वेता वेयर हाउस नेवर गांव के शाखा प्रबंधक उदय राजपूत आदि को आरोपी बनाया है. ईओडब्ल्यू ने 10 जिलों रीवा सतना, सीधी, सिवनी, शहडोल, उमरिया, मंडला, अनूपपुर, कटनी और नरसिंहपुर में भी जांच शुरू की गई है.

Updates: आज आएगा आईपीएल का शेड्यूल, 8 टीमें खेलेंगी 60 मैच

IPL 2020 UAE Schedule, Time Table, Teams, Match Dates Live News Update: यूएई जाने के बाद चेन्नई की टीम के 2 खिलाड़ी और 11 सपोर्ट स्टाफ कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। जिससे टीम की तैयारियों को झटका लगा था। 4 सितंबर से टीम ने अपना अभ्यास शुरू किया।

नई दिल्ली

IPL 2020 UAE Schedule, Time Table, Teams, Match Dates Live News Update: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन का शेड्यूल रविवार (6 सितंबर) को जारी होगा। इसकी जानकारी आईपीएल के चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी है। टूर्नामेंट 19 सितंबर से 10 नवंबर के बीच यूएई में खेला जाना है। मुकाबले दुबई, अबुधाबी और शारजाह में खेले जाएंगे। बृजेश पटेल ने कहा, ‘‘19 सितंबर से UAE में शुरू होने वाले आईपीएल 2020 का शेड्यूल कल (रविवार को) जारी होगा।’’

इससे पहले बीसीसीआई के प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा था कि शेड्यूल 4 सितंबर को आ जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 8 टीमों के बीच 60 मुकाबले खेले जाने हैं। सबकी नजर इस बात पर टिकी है कि क्या चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम पहला मुकाबला खेलेगी। आईपीएल को कोरोना वायरस के कारण टाल दिया गया था। पुरानी शेड्यूल के मुताबिक चेन्नई का मुकाबला मुंबई से पहले मैच में होना था।

यूएई जाने के बाद चेन्नई की टीम के 2 खिलाड़ी और 11 सपोर्ट स्टाफ कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे। जिससे टीम की तैयारियों को झटका लगा था। 4 सितंबर से टीम ने अपना अभ्यास शुरू किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईपीएल गर्वनिंग काउंसिल चेन्नई की जगह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को पहला मैच खेलने का मौका दे सकती है।

सुशांत राजपूत केस: रिया चक्रवर्ती के घर पहुंची NCB की एक टीम, पूछताछ के लिए बुलाया

सुशांत मामले की जांच कर रही NCB की एक टीम आज रिया चंक्रवर्ती के घर पहुंची. इस दौरान उनके साथ मुंबई पुलिस भी नजर आई. रिया को 10 बजे एनसीबी के दफ्तर भी बुलाया गया है. 

मुंबई सुशांत मामले की जांच कर रही NCB की एक टीम आज रिया चंक्रवर्ती के घर पहुंची. इस दौरान उनके साथ मुंबई पुलिस भी नजर आई. प्राप्त जानकारी के अनुसार NCB टीम उनके घर से समन देकर निकली.  रिया को 10 बजे NCB के दफ्तर भी बुलाया गया है. वहीं इससे पहले कोर्ट ने शनिवार को एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती और सुशांत के हाउस मैनेजर रहे सैमुअल मिरांडा को नौ सितंबर तक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की हिरासत में भेज दिया था. एजेंसी ने कोर्ट से कहा था कि शौविक का सामना सुशांत के स्टाफ में शामिल रहे दीपेश सावंत और रिया चक्रवर्ती से कराना जरूरी है. 

शौविक और मिरांडा को शुक्रवार को 10 घंटे की पूछताछ के बाद नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्स्टेंसिस (एनडीपीएस) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत रात में गिरफ्तार किया गया था. एनसीबी ने अदालत से कहा कि अन्य मामले सामने आये हैं जहां परिहार का शौविक और मिरांडा से संपर्क हुआ था। परिहार को मादक पदार्थों की व्यवस्था करने के मामले में एनसीबी पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.