खोलिए ढाबा या बेकरी, ऐसे मिल जाएगा 35 लाख का लोन!

अगर राजकीय खाद्य विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र से किसी भी प्रकार का कोर्स किया है तो आपको सरकार की ओर से स्वरोजगार शुरू करने के लिए 35 लाख रुपये तक लोन मिल सकता है। इससे ढाबा, बेकरी भी खोली जा सकती है। लोन की राशि पर 15 फीसदी की जगह दो फीसदी ब्याज का भुगतान करना पड़ेगा।
13 फीसदी ब्याज का भुगतान खादी ग्रामोद्योग की ओर से किया जाएगा। प्रावधान है कि लोन की राशि का पूरा ब्याज पहले जमा करना पड़ेगा। इसमें से दो फीसदी ब्याज की धनराशि काटकर 13 फीसदी ब्याज सब्सिडी के रूप में लोन लेने वाले के बैंक अकाउंट में वापस की जाएगी।

कोरोन संकट के इस दौर में केंद्र और प्रदेश सरकार युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित कर रही हैं। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की ओर से प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार राजकीय खाद्य विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र से प्रशिक्षित एवं कौशल हासिल कर चुके उद्यमियों को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के तहत लोन मिल सकता है।
यहां करें आवेदन

योजना के अंतर्गत ढाबा, बेकरी या खाद्य प्रसंस्करण की इकाई शुरू करने के लिए 10 लाख और निर्माण के 25 लाख रुपये तक ऋण हासिल किया जा सकता है। योजना के अंतर्गत प्रोजेक्ट कास्ट का 25 से 30 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है। ग्रामीण क्षेत्र की वित्त पोषित इकाइयों को 13 प्रतिशत की दर से तीन साल तक ब्याज वापस दिए जाने की सुविधा है।
राजकीय खाद्य विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र के प्रधानाचार्य पवन कुमार ने बताया कि www.kviconline.gov.in पर (प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के लिए) और cmegp.data-center.co.in पर (मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के लिए) आवेदन करना होगा। यह योजना खादी ग्रामोद्योग द्वारा शुरू की गई है। जिसमें राजकीय खाद्य विज्ञान प्रशिक्षण केंद्र से ट्रेनिंग हासिल कर चुके अभ्यर्थी उद्योग स्थापित कर अनुदान के रूप में लाभ ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *