कोरोना को खत्म करने के लिए नगर पूजा, माता को चढ़ाई मदिरा

उज्जैन। कलेक्टर आशीष सिंह और एसपी मनोज सिंह ने चौबीस खंबा माता मंदिर में माता महामाया व महालया को मदिरा अर्पित की। इसके बाद दल नगर के विभिन्न कोनों पर स्थित 40 से अधिक देवी व भैरव मंदिरों में पूजा के लिए रवाना हुआ।

शहर में 27 किलोमीटर लंबे मार्ग पर मंदिरा की धार लगाने क्रम शुरू हुआ। रात 8 बजे गढ़कालिका क्षेत्र स्थित हांडी फोड़ भैरव मंदिर में नगर पूजा का समापन होगा। बता दें कि नगर की खुशहाली, सुख-समृद्धि तथा रोग निवारण के लिए प्रतिवर्ष शारदीय नवरात्र की महाअष्टमी पर और 12 वर्ष में एक बार सिंहस्थ महापर्व के पहले नगर पूजा का विधान है। ज्ञात इतिहास में पहला अवसर है जब किसी महामारी के निवारण के लिए नगर पूजा की जा रही है।नगर पूजन के दौरान शारीरिक ‌दूरी आदि नियमों का पालन किया गया। पूजन से पहले मंदिर में घंटियां आदि‌ उतरवा दी गई थीं, ताकि संक्रमण न फैले। दल में शामिल सदस्य मास्क आदि भी लगाए हुए थे।

भारत चीन विवाद पर क्या बोले-सेना प्रमुख नरवणे

भारत और चीन सीमा में चारी तनाव को लेकर भारतीय सेना के प्रमुख जनरल एमएम नरवणे का बड़ा बयान आया है। उन्होंने कहा है कि सीमा पर हालात नियंत्रण में हैं। उन्होंने आगे कहा कि दोनों देशों के कमांडर्स के बीच लगातार हुई बैठकों के नतीजतन काफी कुछ डिसएंगेजमेंट हुआ है और बनी हैं और हमारे बीच जो कथित मतभेद थे वो खत्म करने पर काम हुआ है। उन्होंने यह बयान IMA Dehradun में आयोजित पासिंग आउट परेड के बाद मीडिया से बात करते हुए दिया है। इस दौरान उन्होंने नेपाल से रिश्तों पर भी बात की।

सेना प्रमुख ने कहा कि, चीन से बातचीत जारी है और मैं सभी को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि चीन के साथ सीमा पर पूरी स्थिति नियंत्रण में है। हम श्रृंखलाबद्ध तरीके से चीनी अधिकारियों से कमांडर स्तर की बात कर रहे हैं। इसके नतीजतन दोनों देशों के बीच कथित मतभेदों में कमी आई है और उम्मीद है कि इन्हें सुलझा लिया जाएगा।

उन्होंने नेपाल को लेकर कहा कि उससे हमारे मजबूत संबंध हैं और दोनों देश एक दूसरे से भौगोलिक, सांस्कृतिक, एतिहासिक और धार्मिक संबंध रखते हैं। उनके साथ हमारे गहरे संबंध है और भविष्य में भी मजबूत बने रहेंगे।

सेना प्रमुख ने पाकिस्तान को लेकर कहा कि जहां तक हमारे पश्चिमी पड़ोसी की बात है तो जम्मू-कश्मीर में हमें काफी सफलता मिली है। पिछले 10-15 दिनों में हमले 15 आतंकी मारे हैं।

उल्‍लेखनीय है कि लद्दाख के पैंगोग त्सो झील, गलवन घाटी और डेमचोक तीन ऐसे स्थान थे जहां भारतीय और चीनी सेनाएं एक-दूसरे के सामने डटी थीं। बीते दिनों हुई सैन्‍य अधिकारियों के स्‍तर पर हुई बातचीत में भारत ने साफ कर दिया था कि वह अपने जवानों को तब तक इलाके से नहीं हटाएगा जब तक कि चीनी सेना इलाके में पूर्व की स्थिति को बहाल नहीं कर देती। चुशूल सेक्टर के सामने चीन के मोल्डो सैन्य बेस में हुई उक्‍त बैठक में भारत का नेतृत्व लेह स्थित सेना की 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने किया। उनके साथ दो ब्रिगेडियर स्तर के अधिकारी भी शामिल थे।

अचानक से स्वाद और गंध जाना भी कोरोना के लक्षण में शामिल

केंद्र सरकार ने कुछ हेल्थ प्रोफ़ेशनल्स के एक दस्तावेज़ प्रकाशित किए हैं जिसमें कोविड 19 से संक्रमित होने के लक्षण में स्वाद और गंध के जाने को भी शामिल किया गया है. क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल: कोविड- 19 दस्तावेज़ में सात लक्षणों के अलावा स्वाद और गंध के जाने को भी जगह दी गई है.

इसके अलावा जो लक्षण हैं वो हैं- बुखार, खांसी, थकान, सांस लेने में दिक़्क़त, बलग़म, मांसपेशियों का दर्द, जुकाम, गले में खराश और दस्त.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि व्यक्ति से व्यक्ति में संक्रमण नज़दीकी संपर्क के कारण ही होता है. मुख्य रूप से संक्रमित व्यक्ति के कफ और छींक से संक्रमण फैलता है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार छींक और कफ से निकले बारीक कण ज़मीन और दीवारों पर भी घर कर जाते हैं. ऐसे में फर्श या दीवार छूने से संक्रमित होने का ख़तरा रहता है.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विवादित ‘पुलिस चोकहोल्ड’ पर कहा- इस पर प्रतिबंध लगना चाहिए लेकिन…

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यूएस पुलिस द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले चोकहोल्ड मेथड पर बात करते हुए कहा कि इसके इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगना चाहिए. हालांकि उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ खतकनाक परिस्थितियों के बीच इसका इस्तेमाल हो सकता है. एक समाचार चैनल को दिए साक्षात्कार में अमेरिका के राष्ट्रपति ने कहा कि अगर पुलिस कर्मी विपरित परिस्थितियों में फंस जाता है और उसका सामना किसी अपराधी से हो जाता है तो उसे अपनी सुरक्षा करनी होगी. बता दें कि यूएस पुलिस अक्सर अपराधियों को पकड़ने के लिए चोक होल्ड पद्धति का इस्तेमाल करती हैं,जिसके अनुसार शख्स का पीछे से गला पकड़ा जाता है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि चोक होल्ड की पद्धति पर प्रतिबंध लगाना अच्छा होगा. 

बता दें कि पिछले दिनों हुई जॉर्ज फ्लॉयड की मौतके बाद प्रदर्शनकारियों की मांग है कि अधिकारियों द्वारा घुटने टेकने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए. ऐसा करने पर पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की जा रही है. उन्होंने कहा कि वह स्थानीय प्रशासनों से इस पर प्रतिबंध लगाने की मजबूती के साथ मांग करेंगे. उन्होंने कहा कि निश्चित रुप से यह तकनीक कारगर होती है लेकिन इसमें संदिग्ध के मारे जाने की भी आशंका होती है. 

बता दें कि जॉर्ज फ्लॉयड की मौत उस वक्त हुई थी जब पुलिस अधिकारी ने उसकी गर्दन पर घुटना रख दिया था, फ्लॉयड लगातार कहते रहे कि मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं बावजूद उसके पुलिसकर्मी उनकी बात को अनदेखा करता रहा. जिसकी बाद फ्लॉयड की मौत हो गई थी. गौर हो कि फ्लॉयड की मौत से नाराज प्रदर्शनों की वजह से 30-40 शहर आंदोलन की आंच में आ गए थे और सरकार को खासा नुकसान झेलना पड़ा. मिडवेस्टर्न सिटी चोकहोल्ड पर प्रतिबंध लगाने पर राजी हो गई है. 

साल 2014 में भी ऐसी ही एक घटना में अफ्रीकन अमेरिकन की मौत हो गई थी. जब पुलिसकर्मी ने उसकी गर्दन पर अपना घुटना रखकर उसे काबू में करने की कोशिश की थी. पुलिस की बर्बरता पर पूछे गए सवाल में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि दयालु होना जरूरी है लेकिन कानून का कठोरता से लागू करवाना भी जरूरी होता है. कई बार ज्यादा दयालु होने की वजह से कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. 

शराब दुकानों की नीलामी प्रक्रिया शुरू, 1844 दुकानों का होगा ठेका

भोपाल। मध्यप्रदेश में शराब दुकानों की फिर से नीलामी की प्रक्रिया आज से शुरु होगी। चालू वित्तीय वर्ष की शेष अवधि के लिए नीलामी की जाएगी। बीस जिलों में सभी दुकानों और 9 जिलों में आंशिक दुकानों के लिए ई-टेंडरिंग होगी। क्लोज बिड और ऑक्शन 17 जून को होगा। कुल 48 एकल समूहों की 1,844 देशी और विदेशी शराब दुकानों का ठेका होगा। आबकारी आयुक्त कार्यालय ने ई-टेंडरिंग का प्लान जारी किया है। गौरतलब है कि हाईकोर्ट के अंतरिम आदेश के बाद प्रदेश की 67 फीसदी शराब की दुकानों ने सरेंडर कर दिया था। राजधानी भोपाल में करीब 70 दिन बाद शराब की दुकानें खुलीं तो शराब के शौकीनों की लंबी-लंबी कतारें लग गईं थी। एक अनुमान के मुताबिक, सरकार को मई में 33 फीसदी दुकानों से 150 करोड़ रुपए की कमाई हुई है। प्रदेश में शराब की देसी 2,544 और विदेशी शराब की 1,061 दुकानें हैं। भोपाल के साथ ही ग्वालियर, जबलपुर, इंदौर, मंदसौर, नीमच, रतलाम, उज्जैन, देवास, छिंदवाड़ा, कटनी और रीवा के ठेकेदार पहले ही कोर्ट के आदेश के अनुसार निर्णय लेने की बात कह चुके थे। ऐसे में शनिवार तक प्रमुख शहरों के सभी ठेकेदारों ने शॉप सरकार को सौंप दीं। उन्होंने आबकारी विभाग को शपथ पत्रों के साथ इसकी जानकारी भी दे दी है। हाईकोर्ट ने ठेकेदारों को स्थिति स्पष्ट करने के लिए तीन दिन का मौका दिया था साथ में यह भी कहा था कि यदि शराब ठेकदार दुकान नहीं खोलने का निर्णय लेते हैं तो सरकार उनके किलाफ़ कोई कड़ी कार्रवाई नहीं करेगी। इसके बाद भोपाल समेत सभी प्रमुख शहरों के सभी ठेकेदारों ने अपनी दुकानें सरेंडर कर दी। इसके बाद शराब दुकानों का संचालन शुरू कर दिया गया था, आज से नीलामी की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

तालाब में डूबने से चार बच्चों की मौत,नहर में मिले लापता दो युवकों के शव

उज्जैन । : ग्राम रूदाहेड़ा में शुक्रवार शाम चार बच्चों की डूबने से मौत हो गई। चारों तालाब में नहाने गए थे। पुलिस ने मर्ग कायम किया है। झारड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम रूदाहेड़ा निवासी 16 वर्षीय कुलदीप पुत्र रतनलाल, 14 वर्षीय अखिलेश पुत्र बालाराम, 15 वर्षीय राजेश पुत्र बाबूलाल और 11 वर्षीय आनंद पुत्र रामलाल शुक्रवार शाम करीब 5 बजे तालाब में नहाने गए थे।

चारों शाम 7 बजे तक घर नहीं लौटे तो इनके परिवार वालों को चिंता हुई। स्वजन इन्हें ढूंढने तालाब के यहां पहुंचे। यहां किनारे पर कपड़े पड़े मिले। डूबने की आशंका होने पर स्वजन तलाश के लिए तालाब में कूदे, जहां चारों के शव मिले।

गांव पिपरीमान स्थित नहर में शुक्रवार को लापता दो युवकों के शव मिले। पहले शव की पहचान 34 वर्षीय कमल पुत्र बाबू निवासी टोंकी के रूप में हुई है। दूसरे मृतक का नाम 32 वर्षीय गोपीचंद पुत्र कालू निवासी रतवा है। कमल व गोपीचंद मजूदरी करते थे और गुरुवार से लापता थे। दोनों को साथ भी देखा गया था। दोनों परिवार के लोग इनकी तलाश कर रहे थे।

कोरोना के एक दिन में 11 हजार से ज्यादा मामले, 386 मौतें; अब देश में 3.08 लाख संक्रमित, 8884 की जान गई


दिल्ली
भारत में कोरोना के केस तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 11,468 मामले सामने आए हैं। यह पहली बार है, जब देश में एक दिन में मरीजों की संख्या में 11 हजार से ज्यादा का इजाफा हुआ है। इसी के साथ भारत में अब कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 3 लाख 8 हजार 993 पहुंच गई है। पिछले एक दिन में 386 लोगों की जान भी गई है, जिससे कुल मृतकों का आंकडा 8884 पहुंच गया है।

हालांकि, इन लगातार बढ़ते आंकड़ों पर महामारी विशेषज्ञों का कहना है कि अब संक्रमितों की संख्या देखने का कोई मतलब नहीं है। बल्कि यह देखना होगा कि इससे मौतों का आंकड़ा क्या रहता है। बता दें कि 11 मई को जहां 87 लोगों की मौत हुई थी, वहीं एक हफ्ते बाद यानी 18 मई तक मृतकों का आंकड़ा 157 पहुंच गया था। इसके बाद कुछ समय तक 140 से 160 मौत प्रतिदिन की रेंज में बना रहा। हालांकि, 31 मई को 265 और फिर 12 जून को 396 मौतें हुईं। यानी मृतकों की संख्या में भी लगातार इजाफा हुआ है। लेकिन मृतकों की संख्या जहां पहले 7 दिन में दोगुनी हो रही थी, वहीं अब इसकी रफ्तार काफी कम हुई है।

महामारी विशेषज्ञों के मुताबिक, भारत का डेथ रेट अभी 2.86 फीसदी है। यानी 100 संक्रमितों में से 2-3 लोगों की जान जा रही है। यह दर अभी भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी कम है। गौरतलब है कि पिछले जहां शुरुआती हफ्तों में मरीजों के दोगुने होने में 3.4 दिन लग रहे थे, वहीं अब इसमें 17.4 दिन लग रहे हैं। भारत में रिकवरी रेट भी तेजी से सुधरा है और अब 49.47 फीसदी मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं।

क्या आप भी कोरोना वायरस से संक्रमित तो नहीं हैं, इन आसान तरीकों से खुद पता करें ऐसे

नई दिल्ली। मुंबई और दिल्ली ही नहीं अब तो छोटे शहरों और गांवों में भी कोरोना वायरस पहुंच गया है। कुछ लोगों में कोरोना के लक्षण जल्दी दिखाई दे जाते हैं और वो समय से अस्पताल पहुंच कर अपना इलाज करवा लेते हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनको कोरोना वायरस जकड़ तो लेता है लेकिन उनमें लक्षण अंत तक दिखाई नहीं देते। इसी कारण न केवल वो खुद के लिए खतरा बन जाते हैं बल्कि अनजाने में वो समाज के अन्य लोगों को भी अनजाने में कोरोना बांटते फिरते हैं। इसलिए यह कहना मुश्किल है कि अगर आप स्वस्थ्य दिखाई दे रहे हैं तो कल कोरोना नहीं हो सकता। आपको कोरोना ने जकड़ लिया है या नहीं इसको जानने के बहुत आसान तरीके हैं।

ध्यान रहे अगर आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है तो आप जरा सी एलर्जी भी बर्दाश्त नहीं कर पायेंगे और आप कोरोना की जकड में आ जायेंगे। हालांकि अक्सर ब्लड रिपोर्ट से पता किया जाता है कि व्यक्ति की इम्यूनिटी कैसी है कैसी है, लेकिन इम्यून सिस्टम के कमजोर पड़ने पर हमारा शरीर भी कई तरह के संकेत देने लगता है। अक्सर सर्दी-जुकाम की शिकायत, अक्सर खांसी या गला खराब होना, लगातार थकान, आलस होना, लंबे समय तक किसी घाव का न भरना आदि कमजोर इम्युनिटी के लक्षण हैं।

इम्यून सिस्टम की वजह से स्किन रैशेज यानी शरीर पर चकत्ते आने जैसी समस्या भी हो सकती है। बार-बार मसूड़ों में सूजन, मुंह में छाले, यूटीआई, डायरिया वगैरह भी कमजोर इम्यूनिटी के लक्षण हैं। नींद न आना, डिप्रेशन और डार्क सर्कल भी कमजोर प्रतिरोधक क्षमता की निशानी है, और आपको कोरोना का हमला हो सकता है।

हमलोगों में से कुछ लोग मौसम में जरा सा बदलाव होने पर बीमार हो जाते हैं। शरीर के तापमान पर होने वाले असर के कारण ऐसा होता है। मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए सामान्य अवस्था में शरीर का तापमान 36.3 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। अगर शरीर का अंदर का तापमान नियमित है तो सर्दी जुकाम और कोरोना आप को प्रभावित नहीं कर सकता।

अगर आपके शरीर का तापमान कम है तो योग, व्यायाम कर के आप अपने शरीर का तापमान सही रख सकते हैं और इससे आपकी इम्यूनिटी बनी रहेगी। वहअदरक, दालचीनी, लौंग के सेवन से शरीर के आंतरिक तापमान को सामान्य किया जासकता है।

कोरोना काल में अधिकतर लोगों को विटामिन डी का महत्व समझ में आया है। विटामिन डी हमारी इम्यूनिटी को मजबूत करता है, लेकिन ज्यादातर लोगों में इसकी कमी होती है। इसका सबसे आसान स्रोत सूरज की रोशनी है, जिससे हम वंचित रहते हैं। पहले जाड़े के मौसम में लोग जिस तरह धूप सेंकते थे, अब नहीं हो पाता। इसलिए विटामिन की गोली की जरूरत पड़ती है।

पेटीएम यूज कर रहे हैं तो पढ़े इस खबर को जो आपके आएगी काम

अगर आप भी कोरोनाकाल में कैशलेस हो चुके हैं व पेटीएम (Paytm) का यूज कर रहे हैं तो ये समाचार आपके लिए है। पेटीएम यूजर्स के लिए फाउंडर ने चेतावनी जारी करते हुए

बोला कि ग्राहकों को पैसे दोगुने करने जैसी फर्जी ऑफर्स से अलर्ट रहना चहिए। विजय शेखर ने ट्विटर पर पोस्ट के जरिए ग्राहकों से ऐसे स्कैम से बचने की अपील की। ट्विटर पर शर्मा औनलाइन फ्रॉड के शिकार हुए एक उपभोक्ता के सवाल का जवाब दे रहे थे। पोस्ट में शर्मा ने यूजर्स को एक नए स्कैम के बारे में बताया जिसमें पेटीएम यूजर्स को पैसा डबल करने का झांसा दिया जाता है। अपने पोस्ट में शर्मा ने एक स्क्रीनशॉट भी शेयर किया जो उन्हें इस फ्रॉड का शिकार बने किसी उपभोक्ता ने भेजा था।

टेलिग्राम से हो रहा फ्रॉड
शर्मा ने ट्विटर पर जो स्क्रीनशॉट शेयर किया उससे पता चलता है कि टेलिग्राम के एक ग्रुप के जरिए यूजर्स से पैसा पेटीएम करने को बोला जाता है। यूजर्स को झांसा दिया जाता है कि जितना पैसा वो पेटीएम के जरिए भेजेंगे उसका दोगुना अमाउंट उन्हें वापस किया जाएगा।

पेटीएम के नाम पर कई हुई हैं ठगी
पेटीएम केवाईसी के नाम पर ठगी का मुद्दा सामने आया है। कॉल पर हो रहे औनलाइन वेरिफिकेशन के दौरान ठग ने मोबाइल पर लिंक भेजा। इस पर क्लिक करते ही खाते से 17 हजार रुपये कट गए।
इससे पहले पिछले वर्ष नवंबर में भी पेटीएम से ठगी का मुद्दा सामने आया था। तब भी पेटीएम फाउंडर ने लोगों को पेटीएम से जुड़ी फर्जी कॉल, एसएमएस से अलर्ट रहने की अपील की थी। जालसाज फर्जी कॉल व SMS के जरिए पेटीएम KYC के नाम पर ठगी करते थे।