कोराना प्रकरण में डिप्टी कलेक्टर पर कार्यवाही की जाए – धैर्यवर्धन

शिवपुरी जायज एवम् जरूरतमंद लोगों को पास नहीं दिए और कोराना कैरियर को जान बूझकर देवबंद यूपी से शिवपुरी के ग्रीन जोन में न्यौत दिया ।
छोटे कर्मचारियों के सिर पर बात टालने के बजाय इसके लिए नियुक्त ई पास अधिकारी डिप्टी कलेक्टर को निलंबित किया जाना चाहिए ।

भाजपा नेता धैर्यवर्धन शर्मा ने प़ेस नोट जारी करके बताया कि शिवपुरी जिले में पास जारी करने का मापदंड क्या है समझ से बाहर है.
जो लोग बाहर के जिलों से शिवपुरी में आ रहे स्वास्थ विभाग का रवैया भी उनके प्रति ढीला ढाला है केवल खाना पूर्ति की जा रही है. इसके कारण शहर की जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

राज्य सरकार ने परिवहन चेकपोस्ट को पुनः चालू किया, राजस्व के साथ-साथ कोरोना महामारी की भी चिंता।

ग्वालियर
सरकार द्वारा कोरोना महामारी के दौरान दी जा रही रियासतों को लेकर लोग काफी खुश नजर आ रहे हैं विभिन्न क्षेत्रों में दी गई रियायतो  के बाद अब सरकार को सरकारी राजस्व की चिंता सताने लगी है लंबे समय से परिवहन चेक पोस्ट पर बंद की गई कार्यवाही को आज पुनः चालू कर दिया गया है शासन स्तर पर निकाले गए, एक आदेश के अनुसार प्रदेश के समस्त परिवहन चेकपोस्ट  पर पूर्व की तरह निकलने वाले वाहनों से राजस्व के रूप में राशि वसूली की जाएगी ।क्योंकि परिवहन विभाग मध्य प्रदेश में राजस्व देने वाला सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण विभाग है गत वर्ष विपरीत परिस्थितियों के बाद भी विभाग द्वारा अपने तय राजस्व से अधिक राशि सरकारी खजाने में जमा कराई थी।   इन सब के पीछे सरकार की मंशा राजस्व के साथ-साथ ऐसे वाहनों पर भी कार्यवाही करना है जो गैरकानूनी तरीके से एक राज्य से दूसरे राज्य तक लोगों को अवैध रूप से ले जा रहे हैं इससे महामारी बढ़ने का खतरा भी हो रहा है इस आदेश के बाद इस तरीके की गतिविधियों पर अंकुश लगने की संभावना है और इससे कोरोना महामारी का ग्राफ भी नीचे जाएगा।

पति,पत्नी और बेटे की सड़क दुर्घटना में मौत

ग्वालियर । अज्ञात वाहन द्वारा एक बाइक सवार को इतनी जोर से टक्कर मारी की बाइक पर सवार तीनो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए । आसपास के लोग जब तक उन्हें उठाकर इलाज के लिए ले जा पाते तब तक तीनो ने दम तोड़ दिया । मृतक पति,पत्नी और उनका बेटा बताया गया है ।

घटना घाटीगाँव थाना इलाके के सिरसा गाँव के पास की है । ग्रामीणों के अनुसार एक बाइक पर सवार होकर जा रहे तीन लोगो को अज्ञात वाहन टककर मारकर भाग गया जिनमे एक महिला,एक पुरुष और एक बच्चा शामिल है की मौके पर ही मौत हो गई ।

    बाद में जांच पड़ताल के बाद पता चला कि मृतक महाराजपुरा थाना इलाके के निवासी थे । इनमें 25 साल का देवेंद्र गुर्जर उसकी पत्नी 22 साल की कांता और चार साल का बेटा सत्येंद्र शामिल थे । ये लोग बाइक से शिवपुरी जिले के सतनबाड़ा जा रहे थे । वहां रिश्तेदारी में गमी हो गई थी जहां ये लोग फेरा करने के लिए जा रहे थे कि एबी रोड पर तेज़ गति से आ रहे अज्ञात वाहन ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया जिससे तीनो की जीवनलीला समाप्त हो गई ।

बिहार के नवोदय स्कूल में फंसे बच्चो की सांसद की पहल पर होगी वापिसी

ग्वालियर। नवोदय विद्यालय पिछोर में बिहार के लगभग 24 बच्चे पढ़ रहे हैं तथा बिहार में भी मध्य प्रदेश के लगभग 24 बच्चे पढ़ रहे हैं । जिसके चलते बच्चों के अभिभावकों द्वारा सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर से बिहार के बच्चों को बिहार भेजने एवं मध्यप्रदेश के बच्चों को मध्यप्रदेश में बुलाने का आग्रह किया था। जिसको लेकर सांसद श्री शेजवलकर द्वारा ग्वालियर कलेक्टर श्री कौशलेंद्र विक्रम सिंह से व्यवस्था करने को लेकर चर्चा की । जिस पर कलेक्टर श्री कौशलेंद्र विक्रम सिंह द्वारा नवोदय विद्यालय पिछोर में पढ़ने वाले बिहार के 24 बच्चों को बिहार भेजने तथा वहां से मध्यप्रदेश के बच्चों को वापस बुलाने के लिए बस की व्यवस्था की। यह बस आज प्रातः बिहार के बच्चों को लेकर बिहार के लिए रवाना हो गई तथा वहां से यह बस मध्यप्रदेश के बच्चों को लेकर वापस आएगी।

Kaun Banega Crorepati: केबीसी में जाना चाहते हैं? जानें- कब शुरू होगा रजिस्ट्रेशन और कैसे होगा सलेक्शन

नई दिल्ली, टीवी पर प्रसारित होने वाले फेमस क्विज शो कौन बनेगा करोड़पति का 12वां सीजन जल्द ही शुरू होने वाला है। इस बार का सीजन भी सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ही होस्ट करेंगे और सोनी टीवी ने इस शो का प्रोमो भी जारी कर दिया है। इस प्रोमो में अमिताभ बच्चन ने नए शो का ऐलान कर दिया है, जो कि जल्द ही आने वाला है। साथ ही रजिस्ट्रेशन को लेकर अहम जानकारी भी दी है, जो शो में जाने के इच्छुक कंटेस्टेंट्स के लिए उपयोगी साबित होगी।  

सोनी टीवी ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा है- ‘हर चीज़ को ब्रैक लग सकता है पर सपनों को ब्रैक नहीं लग सकता है। आपके सपनों को उड़ान देने फिर आ रहे हैं अमिताभ बच्चन लेकर केबीसी 12। रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे 9 मई रात 9 बजे से सिर्फ सोनी टीवी पर।

कब से शुरू होगी प्रक्रिया

केबीसी के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 9 मई रात 9 बजे से शुरू होने वाली है। 9 मई को रजिस्ट्रेशन को लेकर आगे की जानकारी शेयर की जाएगी। बताया जा रहा है कि यह प्रक्रिया 22 मई तक चलेगी। खबरें आ रही हैं कि पहले सोनी टीवी पर सवाल पूछे जाएंगे और इस बार रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया एसएमएस या सोनीलिव के जरिए ऑनलाइन ही होगी। इसके बाद लोगों से संपर्क किया जाएगा, लेकिन कोरोना वायरस के डर की वजह से आगे की प्रक्रिया भी ऑनलाइन माध्यम से ही की जाएगी।

कैसे होगा सलेक्शन

पहले सवालों के जवाबों के आधार पर उम्मीदवारों को चयन होगा और इसके बाद सामान्य ज्ञान की ऑनलाइन परीक्षा भी हो सकती है। इसके बाद जो इंटरव्यू होगा, वो भी वीडियो कॉलिंग के माध्यम से करवाया जाएगा। इस बार सबसे खास बात यह है कि प्रोमो रिकॉर्डिंग से लेकर प्रतिभागियों के चुनाव तक पूरी प्रोसेस घर बैठे डिजिटल माध्यम से होगी। प्रोमो भी घर पर ही शूट किया गया है और आगे की प्रक्रिया भी ऑनलाइन ही होगी।

किसान क्रेडिट कार्ड से कर्ज रिजर्व बैंक ने दी सुविधा.

दिल्ली क्या आपने भी किसान क्रेडिट कार्ड से लोन ले रखा है या फिर लेने वाले हैं? यदि हां तो फिर आरबीआई की ओर से दी गई यह जानकारी आपके लिए भी बेहद अहम है। भारतीय रिजर्व बैंक ने किसान क्रेडिट कार्ड पर लिए गए कर्ज में से 10 फीसदी रकम को घरेलू खर्च में इस्तेमाल करने की अनुमति दी है। आरबीआई ने अपनी वेबसाइट पर मौजूद financial education for farmers सेक्शन में यह एडवाइजरी जारी की है।

हालांकि आरबीआई ने किसानों को यह भी हिदायत दी है कि इससे ज्यादा रकम का इस्तेमाल वे घरेलू खर्चों में न करें क्योंकि ऐसा करने से उनकी ऋण अदायगी प्रभावित होगी। बता दें कि किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा अन्नदाताओं को फसलों की बुवाई के लिए दी जाती है और इस अल्पकालिक ऋण को वर्ष के अंत में जमा करना होता है।

किसान क्रेडिट कार्ड पर 1.60 लाख रुपये का लोन फिलहाल बिना किसी गारंटी के मिल रहा है। इसके अलावा 3 लाख रुपये तक का लोन गारंटर के साथ मिलता है। किसान क्रेडिट कार्ड पर लिए गए लोन पर बैंकों की ओर से 4 फीसदी सालाना का ब्याज लिया जाता है, लेकिन समय पर अदा किए जाने पर ब्याज में 1 फीसदी की छूट मिलती है। किसान क्रेडिट कार्ड धारकों को डेबिट कार्ड भी दिया जाता है, जिसके जरिए वे अपने केसीसी अकाउंट से कैश निकाल सकते हैं। यही नहीं किसी भी पॉइंट ऑफ सेल मशीन पर इसके जरिए पेमेंट भी की जा सकती है।

किसान क्रेडिट कार्ड एक तरह से चालू खाता है, जिससे किसान कभी भी अपनी जरूरत के लिए रकम निकाल सकते हैं और तय अवधि में उसे जमा करना होता है। 24 फरवरी को ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना के एक साल पूरे होने के मौके पर सरकार ने सभी लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा दिए जाने का ऐलान किया था। पीएम किसान स्कीम का लाभ लेने वाले किसान सिर्फ एक फॉर्म भरकर ही इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं। फिलहाल देश में 9 करोड़ किसान पीएम किसान योजना का लाभ ले रहे हैं।

शिवराज ने रि-लांच की संबल योजना

संबल योजना के तहत सरकार ने’सुपर 5000′ नाम से एक योजना शुरू की, 5 हजार छात्रों को मिलेंगे 30-30 हजार रुपए

दूसरे राज्यों में फंसे 1 लाख 5 हजार मजदूरों के खाते में सरकार ने 1-1 हजार रुपए की राशि भेजी

भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार ने कल से संबल योजना काे रिलांच कर दिया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहानने इस योजना को लांच करते हुएयह योजना गरीबों को उनके जन्म के पहले और मृत्यु के बाद तक फायदा पहुंचाती है। सीएम चौहान ने कहा किजब हम महामारी से जूझ रहे हैं, ऐसे मेंलोगोंकी जिंदगी में सहारा देने वाली संबल योजना को हम फिर से शुरू कर रहे हैं।

संबल योजना के तहत प्रदेश सरकार 12वीं कक्षा में अधिकतम अंक लाने वाले 5000 छात्रों को 30 हज़ार रुपये का पुरस्कार देगी। सरकार ने ‘सुपर 5000’ नाम से एक योजना कीशुरुआत की है जो कि संबल परिवार के बच्चों की मदद करेगा।यह फैसला मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जन कल्याण संबल योजना के तहत मंगलवार को लिया गया।कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने योजना पर रोक लगा दी थी।यह योजना कम आय वाले परिवारों को मदद करने के लिए शुरू की गई थी।

फिर से शुरू की संबल योजना
सीएम शिवराज नेसंबल योजना की शुरुआत करते हुए कहा, “जब हम एक महामारी से जूझ रहे हैं, ऐसे मेंलोगोंकी जिंदगी का सहारा बनने वाली संबल योजना को हम फिर से शुरू कर रहे हैं, जब संबल योजना कीपात्र कोई गरीब महिलाकिसी शिशु को जन्म देगी तो जन्म देने से पहले 4 हजार और जन्म देने के बाद 12 हजार रुपए उनके खाते में भेजे जाएंगे।

1 लाख श्रमिकों के खाते में 10 करोड़ 50 लाख ट्रांसफर

इधर, मध्यप्रेदश से बाहर फंसे 1 लाख 5 हज़ार श्रमिकों के खाते में सरकार ने मंगलवार को10 करोड़ 50 लाख ट्रांसफर कर दिए। प्रत्येक मजदूर के खाते में 1 हज़ार रुपए भेजे गए हैं। इसके पहले भी भी 700 से ज्यादा श्रमिकों के खाते में भेजे गए थे 1-1 हजार रुपये।

सरकार ने मजदूरों के खाते में रुपए भेजे।

अब नाई से बाल कटाते समय ध्यान रखें ये बातें, ‘कोरोना संक्रमण’ का हो सकता है खतरा

भोपाल। पूरी दुनिया इस समय कोरोना से लड़ रही है। बात मध्यप्रदेश की करें तो यहां पर बीते दिनों खरगोन जिले में 9 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से हड़कंप मच गया था। इनमें से 6 केस एक ही गांव के थे। बता दें कि गांव के एक नाई ने यह संक्रमण फैलाया था। दरअसल, खरगोन के बड़गांव में एक नाई ने एक ही संक्रमित कपड़े से कई लोगों की कटिंग और शेविंग कर दी। एक ही कपड़े का इस्तेमाल होने से कोरोना का संक्रमण लोगों मे फैलता रहा। इसीलिए आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिनको आने वाले समय में आपको ध्यान में रखना होआने वाले दिनों में आपको ध्यान रखना होगा कि आप जिस सैलून में बाल कटाने या शेविंग बनवाने जा रहे हैं वहां पर सोशल डिस्टेस्टिंग की पूरी तरह से पालन हो।
विशेष ध्यान रखने वाली बात ये है कि नाई आपके बाल काटने व शेविंग में जिन चीजों का यूज कर रहा उनकी साफ-सफाई की पूरी तरह से ध्यान रखा जाएं।
*दाढ़ी बनवाने के दौरान चेक कर लें कि ब्लेड नई हो।
*जो भी आपको बाल काट रहा हो ध्यान दें कि उसने अपने मुंह में मास्क लगा रखा हो, साथ ही हाथों में गल्व्स पहनें हो।
*कोशिश करें कि बाल कटवाने के लिए कंधे पर डालने वाला कपड़ा अपना ले कर जाएं।
*कोशिश करें कि शेविंग घर पर खुद ही करें।

Summer Special: खीरा और तरबूज को फ्रिज में रखने वाले लोग न करें ये बेवकूफी, इन 5 चीजों को फ्रिज रखने से बचें

लॉकडाउन में विस्तार के साथ, लोगों में घबराहट की एक नई लहर पैदा हो गई है। लोगों ने एक बार फिर से भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं का अधिक से अधिक स्टॉक कर लिया है। लेकिन, यह एक बुरा विचार है। वहीं गर्मियों में ऐसे भी लोगों की आदत होती है कि वो हर चीजो फ्रिज में उठा कर रख देते हैं, ये सोचकर की ठंडे वातावरण में ये खराब नहीं होगें और कुछ दिनों और चल जाएगें। पर आपको ये बात जाननी चाहिए कि आपको अपने फ्रिज के अंदर कौन सी चीजें रखनी हैं और कौन सी नहीं। आपमें से कई लोगों को इस बारे में नहीं पता है, तो आइए आज हम आपको इसके बारे में बताते हैं।

किन चीजों को फ्रिज में स्टोर नहीं करना चाहिए?

खीरा

बहुत से लोगों ने बहुतायत में डेयरी उत्पाद खरीदे हैं और उन्हें फ्रीजर में रखते हैं। इसी तरह बहुत से लोग गर्मियों में लगभग हर चीज को फ्रिज में डाल देते हैं। ऐसा ही हम सब खीरे के साथ भी करते हैं।गर्मी के मौसम में लोग ठंडा खीरा खाना पसंद करते हैं। वहीं इसे कुछ दिनों तक चलाने के लिए फ्रिज में डालकर रख लेते हैं। लेकिन आपको इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि ये फ्रिज में दो या तीन दिन भी टिक नहीं पाते। ऐसा इसलिए क्योंकि फ्रिज में रखने से खीरे का प्राकृतिक पानी सूख जाता है। इसके अलावा इथाईलीन गैस छोड़ने वाले केले और अन्य सब्दियों और फलों के बीच ये खराब हो जाता है। इसलिए खीरे को भूल कर भी फ्रिज में न रखें। कोशिश करें कि पहले तो उन्हें कम मात्रा में खरीदें और फिर उन्हें बाहर उन्हें गीले सूती तौलिय में लपेट कर रखें। ध्यान रखें कि तौलिया सूखने से पहले उसे फिर से आप पानी छिड़क दें।
तरबूज और खरबूज

ज्यादातर लोगों को तरबूज ठंडा करके खाना पसंद है। इसके लिए वो तरबूज को खरीद कर लाते ही उसे फ्रिज में डाल देते हैं। जबकि खरीज के लाने के बाद तरबूज को हमें पानी में डालकर रखना चाहिए। काटने के बाद तो तरबूज और खरबूजे को फ्रिज में रखना सही लेकिन उससे पहले ऐसा ना करें। दरअसल इन पानी के किनारे उपजे फलों में भारी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो फ्रिज में रखने पर खराब हो सकते हैं। अगर आपको इसे खाना है तो इसे लाकर काटे और खाने से बस आधा से एक घंटे पहले ही फ्रिज में डालें और निकाल कर खा लें। ये न करें कि आप उसे लाकर फ्रिज में डाल दें और दो-चार दिन पड़े रहने दें। इसके अलावा अगर आप इसे कुछ घंटों के लिए स्टोर भी कर रहे हैं, तो इन काट कर एक बंद कंटेनर में रखकर फ्रिज के बाहरी डोर में रखें। ऐसा ही कुछ खरबूजे के साथ भी करें। इसे भी खाने से कुछ देर पहले ही फ्रिज में ठंडा करने के लिए रखें और फिर इसे खाकर खत्म करें।

टमाटर

अधिकतर लोग टमाटर को फ्रिज में रखने की गलती करते हैं। उन्हें लगता है कि एक दिन 2 केजी टमाटर खरीद के फ्रिज में रख लो और इसे चलाते रहो। पर ये एक भूल है। साइंस की भाषा में समझिए कि टमाटर धूप में उगने वाला फल है और वैज्ञानिक दृष्टि से टमाटर सब्जी नहीं, बल्कि फल है और इसे उगने के लिए ढेर सारे पानी और धूप की जरूरत पड़ती है। वहीं मौसम ठंडा होने पर ये ठीक से उग नहीं पाता। तो सोचिए इसे फ्रिज में रख कर इसके असली प्रकृति के खिलाफ जा रहे हैं, जो कि सही नहीं है। इसी तरह फ्रिज में रखने पर ये जल्द ही गल जाएंगे और इसका स्वाद और पौष्टिक गुण भी खत्म हो जाएंगे।

सेब, आड़ू और चेरी

सेब को अगर फ्रिज में रखना ही चाहते हैं तो कागज में लपेट कर नीचे फल सब्जी के लिए बने शेल्फ में ही रखें। बीज वाले फल जैसे आड़ू, आलूबुखारा और चेरी को भी फ्रिज में ना रखें। ऐसा इसलिए क्योंकि कम तापमान में इनमें मौजूद एंजाइम सक्रिय हो जाते हैं और फल जल्दी पक जाता है। इसके अलावा फ्रिज इसका स्वाद खराब होने लगता है और ये आपको कड़वा स्वाद वाला लग सकता है। इसलिए इन फलों को कागज में लपेट कर ही फ्रिज में रखें।

नींबू और संतरे

सिट्रिक एसिड वाले फल जैसे कि नींबू और संतरे फ्रिज की ठंडक को बर्दाश्त नहीं कर पाते। इनके छिलके पर दाग पड़ने लगते हैं और स्वाद पर भी असर होता है।। फ्रिज में रखने से इन फलों का रस सूखने लगता है। वहीं अंगूर को भी अगर आप खुला करके फ्रिज में रख दें तो वो बहुत खट्टे और सूखे हो जाते हैं। इसलिए ध्यान रखें कि नींबू और संतरे को फ्रिज में न रखें। या खाने से कुछ घंटे पहले ही रखें और निकाल कर खा लें।