3 मई के बाद मध्य प्रदेश के किन-किन जिलों में मिलेगी छूट, यहां देखिए लिस्ट

भोपाल. मध्यप्रदेश में 4 मई से कई जिलों में ढील दी जाने की संभावना। वहीं, रेड जोन में आने वाले जिलों में किसी प्रकार की कोई ढील अभी नहीं दी जाएगी। मध्यप्रदेश में कुल 52 जिले हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी सूची के अनुसार, ग्रीन जोन वाले इलाके में लॉकडाउन के बाद लोगों को ज्यादा आजादी मिलेगी। उसके बाद ऑरेंज जोन में।
दरअसल, केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से जारी गाइडलाइन के अनुसार मध्यप्रदेश की सरकार ने लॉकडाउन के बाद ढील देने की तैयारी शुरू कर दी है। ग्रीन जोन में आने वाले जिलों में अब जरूरी सामानों के सभी दुकानें खुलेंगे। हालांकि पब्लिक ट्रांसपोर्ट और शॉपिंग मॉल्स नहीं खुलेंगे। ग्रीन जोन में वहीं जिले शामिल हैं, जहां अभी तक कोरोना के केस नहीं मिले हैं।
ग्रीन जोन में शामिल जिले

सिंगरौली, दतिया, गुना, झाबुआ, निवाड़ी, पन्ना, सतना, सीहोर, सिवनी, सीधी, उमरिया, रीवा, अशोकनगर, राजगढ़, अनूपपुर, बालाघाट, भिंड, छतरपुर, दमोह, कटनी, मंडला, नरसिंहपुर और नीमच शामिल है। सरकारी प्लान के हिसाब से यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सभी आर्थिक गतिविधियों को इजाजत दी जाएगी। सरकारी और निजी संस्थाओं के ऑफिस खुलेंगे।
ऑरेंज जोन में शामिल जिले
वहीं, ऑरेंज जोन में मुरैना, विदिशा, बुरहानपुर, हरदा, बैतूल, श्योपुर, डिंडोरी, खरगोन, रायसेन, होशंगाबाद, रतलाम, आगर-मालवा, मंदसौर, सागर, शाजापुर, छिंदवाड़ा, अलीराजपुर, टीकमगढ़ और शहडोल है। यहां कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जगहों पर आर्थिक गतिविधियों को मंजूर दी जाएगी। कंटेनमेंट जोन कोई गतिविधि नहीं होगी। दफ्तरों में 30 फीसदी कर्मचारी ही मौजूद रहेंगे।
रेड जोन में शामिल जिले
वहीं, रेड जोन में ग्वालियर, इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, धार, बड़वानी, खंडवा और देवास शामिल है। यहां किसी प्रकार की कोई छूट नहीं मिलेगी। पहले की तरह ही लॉकडाउन जारी रहेगा।
सभी जगहों पर प्रतिबंध
वहीं, 3 मई के बाद भी सभी जोन के जिलों में होटल, हवाई, रेल, सलून, मॉल, सिनेमा हॉल और शॉपिंग कंप्लेक्स बंद रहेंगे। धार्मिक स्थल भी पूरी तरह से बंद रहेंगे। कोई कार्यक्रम और सभाओं का आयोजन नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *