बीमारी के बहाने गए वहां से लाये दुल्हनें और एक कोरोना संक्रमित महिला

मुरैना । दो युवकों ने बीमारी का इलाज कराने के नाम पर पास बनवाया । आगरा गए तो वहां शादी कर ली । दुल्हनों सहित लौटते में अपनी गाड़ी में एक महिला और उसके पति को भी बिठा लिया । महिला निकली कोरोना पीड़ित तो पांच लोगों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया मुकद्दमा।

घटना मुरैना के कोरोना पीड़ित के पहुंचने की है । मुरैना कुछ दिनों पहले  कोरोना मुक्त हो चुका था कि एक महिला अचानक पॉजिटिव निकल पड़ी । दरअसल लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि एक युवक अपनी पत्नी के साथ आगरा से लौटा है । महिला का नाम विमलेश राठौर है ।  पुलिस और प्रशासन की टीम ने तत्काल कार्यवाही कर उस परिवार को कोरेन्टीन कराया और महिला का सेम्पल लिया । जांच रिपोर्ट आई तो प्रशासन के हाथ पांव फूल गए । महिला पॉजिटिव थी । पहला सवाल तो चेकिंग व्यवस्था पर है कि सीमा पर इतनी कड़ी चेकिंग के बावजूद यह शहर में आ कैसे गए । इन्हें रोका क्यों नही गया?

उधर पॉजिटिव आने के बाद जब इस महिला की ट्रेवल हिस्ट्री तलाशी गई और संपर्क में आये लोगो की सूची बनी तो बड़ा ही चौंकाने वाला तथ्य प्रकाश में आया । यह लोग एक पास वाली गाड़ी से आगरा से आये थे इसलिए सीमा पर कोई दिक्कत नही हुई ।

    पता चला कि यह पास एक मुस्लिम युवक ने यह कहकर बनवाया था कि उसे अपने भाई के इलाज के लिए आगरा ले जाना है । वे दोनों एक गाड़ी किराए से ले गए । दरअसल उंन्होने झूठ बोलकर पास बनवाया था । वे आगरा अपनी पूर्व निर्धारित शादी करने गए थे । लॉक डाउन में रोक के चलते वे दोनों बारात की जगह अकेले ही गए । वहां उन्होंने गुपचुप शादी की और  दुल्हनों के साथ लौट रहे थे तो वही यह राठौर दंपत्ति भी मिल गया। राठौर भी अपनी पत्नी विमलेश की विदा कराने आगरा आया था लेकिन साधन न होने से फंस गया था लौट नही पा रहा था इसलिए उन्हें भी अपने वाहन से  मुरैना ले चलने का आग्रह किया । सभी लोग आराम से मुरैना आ गए । इनमे से महिला पॉजिटिव निकल गयी । अब सबके सेम्पलिंग कराई गई हैं ।

यह तथ्य प्रकाश में आने के बाद पुलिस ने दोनों मुस्लिम भाइयों सहित पांच लोगों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किए है । इनमे कोरोना पीड़ित महिला के पति आनंद राठौर,गाड़ी का मालिक शामिल है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *