(मजदूर दिवस के पूर्व, छतीसगढ़िया श्रमिक) ”संतुष्टि और गुड टाइम” ”ultimate satisfaction.” THE BEST photo of the ”CORONA PAIN”

लॉकडाउन की घोषणा के बाद तमाम मजदूर अपने घरों को पैदल ही निकल पड़े। इसी क्रम में NH 8 पर दिल्ली से छत्तीसगढ़ जा रहे इस परिवार की गुरुग्राम के फोर्टीज अस्पताल की आई सर्जन डॉ शिबल भरतिया की इनसे भेंट हुई। शिबल ने अपनी वाल पर लिखा है –

शिबल ने पूछा- क्या आपको कुछ बिस्कुट और पानी की बॉटल चाहिए। मां ने कहा- नहीं, हमारे पास काफी है। पिता ने भी दोहराया- है दीदी, काफी है। किसी और को दे देना। सफेद कपड़े पहने छोटी लड़की सपना मुस्कराकर बोली-बिस्कुट है क्या? शिबल और उनकी साथी ग्रश्मी कार से उतरे और बच्ची और उसके भाई को बिस्कुट दिए। राजन को भी बिस्कुट चाहिए थे। बाकी ने मना कर दिया।

जब भी शिष्टता, आत्म सम्मान और इस दुनिया की सुंदरता को मैं याद करुंगी इस युवा मां की छवि मेरे सामने होगी -सिर पर सरलता से रखी अपनी सारी जमापूंजी, उम्मीद और प्रार्थना, यह भाव उसे सुरक्षित अपने घर तक ले जाएगा। वह दिल्ली से मध्यप्रदेश के रायपुर के पास अपने गांव (800 किमी) के लिए चारों बच्चों के साथ एक बहुत लंबी पदयात्रा पर निकली है।
वह कभी जितना जरूरत है उससे ज्यादा नहीं लेगी। और यह सब करके वह मुस्कराएगी और अपने बच्चों को हमेशा सही करना सिखाएगी। उनके सिर पर रखे एक थैले पर ‘गुड टाइम’ और दूसरे थैले पर ‘संतुष्टि’ लिखा था।

इस तस्वीर और वाकये को देखते-पढ़ते मुझे अपने एक मित्र की बात याद आई। उनका मानना है कि छत्तीसगढ़ के लोग खासकर मेहनतकश लोग गरीबी के बावजूद संतुष्ट और प्रसन्नचित्त दिखते हैं। बतौर छत्तीसगढ़ी मैं भी यही मानता हूँ कि यहां के लोगों की मूल भावना ऐसी ही है जो शिबल ने लिखी या मेरे मित्र कहते हैं। तेजी से होते सामाजिक, आर्थिक परिवर्तनों ने यहां भी इस सरलता और सहजता का क्षय किया है। शिबल का निष्कर्ष और तस्वीर से उभर रहा भाव ही छत्तीसगढ़ की आत्मा है।

…”संतुष्टि” की इस उच्चतम अवस्था पाने को तो देवता भी तरसते हैं और मुनि -साधु जन्म जन्म तप करते हैं
( मुझे पता नहीं-छतीसगढ़िया, मज़दूर किस गांव के हैं और वे अपने घर पहुंचे या नहीं यह पोस्ट में नहीं लिखा था, पर था वह इस छोटे राज्य का स्वाभिमान,विवशता और सम्भवना और संतुष्टि का भाव।)
-राजेश वाजपेयी ने मुझे यह भेजा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *