कोरोना अपडेट / पीथमपुर के 96 उद्योग आज से शुरू होंगे; 91 नए मरीज, आंकड़ा 1176 पर, 350 निगेटिव

इंदौर. मप्र इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ने पीथमपुर की 96 बड़ी व मध्यम इंडस्ट्री को उत्पादन शुरू करने की मंजूरी दे दी। इससे पहले 110 इंडस्ट्री को मंजूरी दी गई थी। यानी रविवार से 206 इंडस्ट्री में काम शुरू हो जाएगा। इंदौर शहर के औद्योगिक क्षेत्रों को शुरू करने पर भी विचार शुरू हो गया है। हालांकि ये 3 मई के बाद ही खुल सकेंगे। इस राहतभरी खबर के बीच 91 नए पॉजिटिव मिले हैं। शनिवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक अब शहर में 1176 संक्रमित हो चुके हैं। नए संक्रमितों में एमजीएम की एक एसोसिएट प्रोफेसर और रेसिडेंसी एरिया का एक कर्मचारी व एमवाय के तीन मेल नर्स भी हैं। इनमें से दो की ड्यूटी चेस्ट वार्ड और एक की ड्यूटी टीबी अस्पताल में थी। 11 मार्च से जिला जेल में बंद कैदी सद्दाम पॉजिटिव निकला है। वह चंदननगर में पुलिस पर पत्थरबाजी का आरोपी है। इधर, अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ने की आशंका है, पुडुचेरी में 606 सैंपल की रिपोर्ट दो-तीन दिन में आएगी, जबकि 500 सैंपल अहमदाबाद की सुप्रा लैब भेजे हैं। उनकी रिपोर्ट रविवार रात मिल जाएगी।
संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने बताया कि 500 और सैंपल इस लैब को भेज रहे हैं। इस तरह 1600 सैंपलों की रिपोर्ट आएगी। हालांकि ये सभी संदेही मरीज क्वारेंटाइन में हैं। इसी बीच मेडिकल कॉलेज की लैब में 400 सैंपल की जांच होने के साथ ही टीबी अस्पताल की सीबी नेट मशीन से कार्टेज पद्धति से जांच शुरू हो गई है। ऐसा करने वाला इंदौर मप्र का पहला शहर है। इस तकनीक से 22 सैंपल जांचे गए। अब और कॉर्टेज की व्यवस्था की जा रही है, ताकि हर दिन 110 सैंपल जांचे जा सकें।

नई मशीन के लिए किट की व्यवस्था कर रहे
यश टेक्नोलॉजी ने बेंगलुरु से मंगवाकर 60 लाख की हाईटेक पीसीआर मशीन प्रशासन को दी है। इससे एक दिन में 800 टेस्ट हो सकेंगे। त्रिपाठी ने बताया कि इसके लिए किट की व्यवस्था कर रहे हैं।
उद्योगपतियों से मांगे एआईएमपी ने सुझाव
उद्योगों को पुन: शुरू करने को लेकर एसो. ऑफ इंडस्ट्री मप्र (एआईएमपी) ने उद्योगपतियों को वॉट्सएप, ई-मेल पर एक फॉर्म भेजा है, जिसमें पूछा है कि वे किस तरह की इंडस्ट्री चलाते हैं, श्रमिकों को लेकर उनके पास क्या व्यवस्था है और वह क्या चाहते हैं। जवाब मिलने के बाद इन्हें सरकार को भेजेंगे, ताकि उद्योग शुरू किए जा सकें।

फूड, स्टील और ऑटो इंडस्ट्री को मिली मंजूरी
फूड में पराग, डाबर, स्टील सेक्टर में टाटा स्टील, मान एल्युमिनियम, ऑटो सेक्टर में वीई कमर्शियल, सुरिन, मदरसन सूमि, एग्रो इंडस्ट्री की शक्ति पंप, पैकेजिंग में पॉलीमर पैकेजिंग, प्रिंट पाइंट फार्मा पैकेजिंग, टेक्सटाइल में एजीएम टेक्सटाइल, इंजीनियरिंग में माहले, जश इंजीनियरिंग आदि को मंजूरी दी गई है।

250 डॉक्टरों का खानसामा संदिग्ध, किचन बंद किया
एक माह से मेडिकल कॉलेज के 250 जूनियर डॉक्टर्स के लिए खाने की व्यवस्था संभाल रहे लायंस क्लब ने अचानक किचन बंद कर दिया। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि यहां के खानसामा की सुबह तबीयत बिगड़ी। उसे तुरंत एमवाय की ओपीडी में दिखवाया गया और जांच के लिए सैंपल लिया गया।

इसके बाद एहतियात के तौर पर काम रोक दिया गया। लायंस क्लब के सहयोग से कोविड-19 के मरीजों की तीमारदारी में लगे जूनियर डॉक्टरों और अन्य स्टॉफ के लिए खाना बनवाया जा रहा था। क्लब अन्य सदस्य खाना पैक कर डॉक्टर्स तक पहुंचाते थे। एक महीने से यह व्यवस्था चल रही है। सुबह खाना बनाने वाले कर्मचारी ने सिरदर्द की शिकायत की। जिसके बाद उसका परीक्षण कर जांच के लिए सेंपल भेजा गया। लायंस क्लब ने इसकी सूचना एमजीएम मेडिकल कॉलेज प्रशासन को दी। साथ ही एक-दो दिन किसी अन्य माध्यम से खाने की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। लायंस क्लब के सतीश भल्ला बताते है कि डॉक्टर्स की सुरक्षा में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरत सकते। सुबह आते ही जब कर्मचारी ने सिरदर्द की बात कही। हमने काम रोक दिया। रविवार तक जांच रिपोर्ट भी आ जायेगी। सोमवार से दोबारा काम शुरू कर देंगे। किचन को सेनितटाययज़ भिनकार्रवा दिया गया है।

मुस्लिम समाज ने दिखाई सूझबूझ… रमजान के पहले दिन घर-मस्जिद में दूरी के साथ इबादत

शनिवार से शुरू हुए रमजान माह में मुस्लिम समाजजनों ने घरों में ही इबादत की। मस्जिदो में नमाज के वक्त 4 से 5 लोग ही मौजूद रहे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए रोजा इफ्तारी भी की। समाज का हर व्यक्ति ऐसी ही सूझबूझ दिखाए तो कोरोना से जंग आसान होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *