गृह मंत्रालय ने जारी किया निर्देश, अब लॉकडाउन में मोबाइल रिचार्ज के साथ किताबों की भी दुकानें रहेंगी खुली

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह लॉकडाउन तीन मई तक है.

नई दिल्लीः केंद्रीय गृह मंत्रालय(Ministry of Home Affairs) ने मंगलवार को वर्तमान लॉकडाउन(Lockdown) के दौरान वरिष्ठ नागरिकों को सहायकों की सेवाओं तथा प्रीपेड मोबाइल फोन की रिचार्ज सुविधा के अलावा स्कूली किताबों, बिजली के पंखों की दुकानों को खुलने की अनुमति दी. गृह मंत्रालय ने यह भी कहा कि लॉकडाउन के दौरान शहरी क्षेत्रों में ब्रेड फैक्टरी, आटा मिल अपना कामकाज फिर चालू कर सकते हैं..
गृह मंत्रालय ने एक आदेश में कहा कि अब तक जारी दिशानिर्देशों के जरिए विशिष्ट सेवाओं और गतिविधियों की छूट के संबंध में स्थिति स्पष्ट किये जाने की मांग के बाद यह निर्णय लिया गया है. विद्यार्थियों के लिए स्कूली किताबों, बिजली के पंखों की दुकानों को लॉकडाउन के दौरान खुले रहने की इजाजत दी गयी है. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह लॉकडाउन तीन मई तक है..

ANI

@ANI
Ministry of Home Affairs (MHA) issues order to include additional agricultural and forestry items, shops of educational books for students, shops of electric fans and movement of Indian seafarers in lockdown guidelines, gives SoP on sign-on/sign-off for Indian seafarers.

691
10:10 PM – Apr 21, 2020
Twitter Ads info and privacy
205 people are talking about this
मंत्रालय ने अपने आदेश में कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के घरों में रह रहे उनके सहायकों के अलावा, उनकी देखभाल करने वालों के अतिरिक्त प्रीपेड मोबाइल रिचार्ज करने वालों को लॉकडाउन के दौरान अपनी सेवाएं मुहैया कराने की अनुमति होगी..
लॉकडाउन के दौरान शहरी क्षेत्रों में ब्रेड फैक्टरी, दूध प्रसंस्करण इकाइयों, आटा, दाल मिलों को काम करने दिया जाएगा. आयात एवं निर्यात की सुविधाएं जैसे पैक हाउस, निरीक्षण और बीजों एवं बागवानी उपजों के लिए परिष्करण सुविधा, कृषि एवं बागवानी से जुड़े अनुसंधान संस्थानों को भी छूट दी गयी है. वानिकी और संबंधित गतिविधियों को भी छूट प्रदान की गयी है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *