टाटा कंसल्टेंसी ने किया 40,000 स्नातकों को नौकरी देने का ऐलान

कोरोना महामारी को लेकर किए गए लॉकडाउन में एक ओर जहां लाखों लोगों की नौकरी खतरे में पड़ गयी है, वहीं आइटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने 40,000 स्नातकों को नौकरी देने की घोषणा की है. हालांकि स्नातकों के लिए नौकरी की ये पेशकश लॉकडाउन के पहले ही की जा चुकी थी. इस बारे में टीसीएस के प्रबंध निदेशक और सीइओ राजेश गोपीनाथ ने कहा है कि हमने नये लोगों को नौकरी की जो भी पेशकश की है, कंपनी द्वारा उसका सम्मान किया जायेगा.

नौकरी को लेकर किए गए इस ऐलान के बाद बीते शुक्रवार कंपनी के शेयर्स में 7.9 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली. मुंबई स्थित टीसीएस का चौथी तिमाही में समेकित राजस्व 5.1 प्रतिशत बढ़कर 39,946 करोड़ हो गया. चौथी तिमाही के परिणामों के बारे में बताते हुए कंपनी ने यह भी कहा कि मुश्किल के इस दौर में कर्मचारियों में किसी तरह की छंटनी नहीं की जाएगी. न ही कर्मचारियों के वेतन में किसी प्रकार की कटौती होगी.

हालांकि लॉकडाउन के प्रभाव के कारण कंपनी ने इस वर्ष कर्मचारियों को अप्रेजल न देने का फैसला किया है. मोतीलाल ओसवाल से जुड़े एक विश्लेषक ने बताया है कि कोरोना का यह संकट निकट भविष्य में डिमांड, सप्लाइ, प्राइसिंग से लेकर वर्किंग कैपिटल तक के मामले में चुनौतीपूर्ण रहनेवाला है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि टीसीएस मजबूती के साथ इन चुनौतियों का सामना करने में सक्षम रहेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *