प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल 10 A.M.बजे करेंगे देश को संबोधित

नई दिल्ली | आखिर जिसका सबको इंतजार था उस सवाल का जवाब कल मिलने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल खुद सुबह 10 बजे देश को संबोधित करनेवाले हैं। कल ही 21 दिन का लॉकडाउन भी खत्म हो रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री खुद आगे का प्लान बता सकते हैं कि लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं। वैसे ताजा हालात देखते हुए लॉकडाउन दो हफ्ते बढ़ने के पूरे चांस हैं। हालांकि, कुछ नई छूट मिल सकती हैं।
इससे पहले आज मोदी के संबोधन की बात कही जा रही थी। लेकिन फिर सरकारी सूत्रों ने खुद इसे खारिज किया था। देशभर में पहले ही कोरोना वायरस लॉकडाउन बढ़ने की चर्चा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बात की थी। उस मीटिंग में यह बात निकलकर आई थी कि लॉकडाउन को कम से कम दो हफ्ते यानी इस पूरे महीने के लिए बढ़ाया जाना चाहिए। अब हो सकता है कि मोदी खुद कल इस बात की घोषणा कर दें।
बेजान हुई अर्थव्यवस्था को चलाने का जिम्मा
21 दिन के लॉकडाउन की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक असर हुआ है। लोगों के पास काम धंधा नहीं है। ऐसे में इसबार सरकार कृषि के साथ-साथ कारखानों और माल के ट्रांसपोर्ट को छूट दे सकती है। बंदिशें खासकर ऐसे इलाकों तक सीमित रह सकती हैं जहां कोरोना के के ज्यादा हैं, मतलब हॉस्पॉट इलाकों में।
इन्हें छूट मुश्किल
मेट्रो शहरों को बढ़े लॉकडाउन में छूट मिलना मुश्किल है। दरअसल दिल्ली, मुंबई, इंदौर, गुड़गांव, भोपाल, हैदराबाद, अहमदाबाद, जयपुर, बेंगलुरु में कोरोना के केस लगातार सामने आ रहे हैं। इसलिए यहां कोई नई छूट मिलना मुश्किल है।
6 राज्य कर चुके हैं लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा
6 गैर बीजेपी राज्य (दिल्ली, महाराष्ट्र, तेलंगाना, वेस्ट बंगाल, पंजाब और ओडिशा) पहले ही लॉकडाउन को पूरे अप्रैल तक लागू रखने की बात कह चुके हैं। बीजेपी शासित राज्य भी इसपर राजी है, उन्हें केंद्र के फैसले का इंतजार है।
किसानी के साथ-साथ कारखानों को छूट संभव
21 दिन के लॉकडाउन में खेती से जुड़े कामों को छूट थी। लेकिन कारखाने बंद थे, जिससे लोगों के रोजगार छिन गए। इसबार लॉकडाउन 2.0 में सरकार छोटे और मध्यम उद्योगों को खोल सकती है। कारखाना मालिकों से कहा जाएगा कि मजदूरों को अंदर ही रोका जाए, खाने-पीने और रहने का इंतजाम वहीं हो। (NBT)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *