✳🎵क्या कुंडली में शनि और राहु से पीड़ित हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया…?⭐


🔯
ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्यप़देश की राजनीति में एक बहुत बड़ा नाम है, लेकिन देखने में आ रहा कि विगत दो साल से ज्योतिरादित्य सिंधिया को राजनीतिक क्षेत्र में उनकी मेहनत का फल नहीं मिलता है सफल होने के बाद भी उनको असफलता का स्वाद चखना पड़ता है.  जब एक सफल आदमी को वक्त द्वारा असफल बना कर हाशिये पर धकेल दिया जाता है तो इसको भाग्य का खेल ही कहेंगे. और जब भाग्य की बात आती है तो फिर ऐसे व्यक्ति के सितारों की चर्चा करना जरुरी हो जाता है कि एक व्यक्ति बार बार भाग्य के द्वारा क्यों प़ताड़ित किया जा रहा है.
अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया की कुंडली पर नजर डाली जाये तो इस समय  इनकी कुंडली में शनि की महादशा में राहु का अंतर चल रहा है जो कि जुलाई 2021 तक चलेगा.  जब से शनि की महादशा में राहु की अंतरदशा सितंबर 2018 से  शुरु हुई  उसी समय से इनको राजनीति में अपमान के घूंट पीना पड़ रहा है . पहला झटका तब लगा जब  दिसंबर 2018 में इनके प़त्याशी को कोलारस विधानसभा उपचुनाव में इनके खास सिपहासलाहकार रहे वीरेंद़ रघुवंशी ने  इनके उम्मीदवार को हराया.दूसरा झटका मध्यप़देश के विधानसभा चुनाव में अथक मेहनत और वादे के मुताबिक इनको मुख्यमंत्री न बनाया जाना फिर 2019 में स्वयं श्री सिंधिया इनके ही एक कार्यकर्ता से लोकसभा चुनाव में पराजित हो गये.
अभी हाल ही में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दल बदल कर भाजपा की सरकार बनबा दी, बदले में इनको राज्यसभा में जाना था लेकिन कोरोना रुपी शनि ने घर के अंदर बंद कर दिया.
जब तक कमलनाथ सरकार रही ग्वालियर चंबल संभाग में प़शासनिक क्षेत्र के सर्वे सर्वा रहे लेकिन शिवराज सिंह के सत्ता में रहते अब ऐसा दिखाई नहीं दे रहा कि इनकी हैसियत पहले जैसा प़भाव पा सकेगी.
यह सब हमको  तो सितारों का खेल लगता है जो बार बार ज्योतिरादित्य सिंधिया को हांशिये पर डाल देता है,  और अगर ज्योतिषियों की मानें तो इनको 2021 के मध्य तक ऐसे ही हालातों से गुजरना पड़ेगा. लेकिन यह तो कहना ही पड़ेगा जब मनुष्य का भाग्य साथ न दे तो सारे प़यास विफल हो जाते हैं.

– क्या कहता है ज्योतिष.

वैदिक ज्योतिष के अनुसार मेष राशि में स्थित होने पर शनि को नीच का शनि कहा जाता है जिसका साधारण शब्दों में अर्थ यह होता है कि मेष राशि में स्थित होने पर शनि अन्य सभी राशियों की तुलना में सबसे बलहीन हो जाते हैं।

शनि में राहु की अन्तर्दशा –

शनि महादशा में राहु की अन्तर्दशा में स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होती है यानी यह अंतर्दशा रोग लाती है। सरकार और शत्रु से परेशानी होती है। संपत्ति एवं यश की हानि होती है। हर काम में बाधा आती है।
‌🌻🌻🌻🌻🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🔯🌻🌻🌻🌻

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *