इंदिरा गृह ज्योति योजना के 62 लाख विद्युत उपभोक्ता संकट मे

🔹
➖डा.भूपेन्द्र विकल➖
इंदौर ।कांग्रेस की कमलनाथ सरकार की महत्वपूर्ण इंदिरा गृह ज्योति योजना के 62 लाख विद्युत उपभोक्ताओं की सस्ती विद्युत पर भी कोरोना वायरस संक्रमण के कारण संकट आ गया है ।
इस कोरोना वायरस की वजह से मीटर रीडिंग नहीं हो रही है ।
कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने इंदिरा गृह ज्योति योजना की पात्रता सीमा तय की थी ।इसके मुताबिक यदि 27 दिन की रीडिंग हुई तो 135 विधुत यूनिट और 35 दिन में रीडिंग हुई तो विद्युत यूनिट की खपत 175 यूनिट के अंदर होना चाहिए। इससे अधिक खपत होने पर इंदिरा ज्योति योजना के तहत विधुत बिल मे लाभ नहीं मिल पाएगा।
कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मौजूदा हालात में मीटर रीडिंग म.प्र.मध्य श्रेत्र वितरण कंपनी लिमिटेड नहीं करा पा रही है ।
लगभग दो महीने की एक साथ मीटर रीडिंग होगी। इसलिए विद्युत उपभोक्ता संकट में आ जाएगा ।

62 लाख विद्युत उपभोक्ता को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।विधुत बिल भी अधिक भुगतान करना पडेगा।
62 लाख विधुत उपभोक्ता के हित मे भाजपा की शिवराज सरकार को अलग से राहत देने की घोषणा करनी चाहिए। जिससे उपभोक्ता विधुत बिल मे आने बाली अधिक राशि के संकट से मुक्त हो सके।

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के आला अधिकारियों का कहना है कि कोरोना संक्रमण के कारण संपूर्ण प्रदेश के प्रत्येक जिले और गांव में मीटर रीडिंग नहीं हो पा रही है ।इसके कारण मीटर रीडिंग एक साथ होगी और बिल भी का भुगतान भी एक साथ ही उपभोक्ता को करना होगा।
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *