खुश खबरी :ग्वालियर में नहीं बढ़ा कोई कोरोना पीड़ित ,सभी रिपोर्ट्स आई निगेटिव

ग्वालियर / नोवेल कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिये ग्वालियर जिले में सभी उपाय किए जा रहे हैं। ग्वालियर जिले से जो सेम्पल जांच हेतु भेजे जा रहे हैं उनमें सभी निगेटिव प्राप्त हो रहे हैं। गुरूवार को भी 10 सेम्पलों की जांच प्राप्त हुई है, सभी रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। जिले से अब तक 118 सेम्पल भेजे जा चुके हैं जिनमें से 20 प्रकरणों की जांच रिपोर्ट आना प्रतिक्षित है। इसके साथ ही 2 प्रकरणों को छोड़कर सभी रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई हैं।

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि ग्वालियर जिले में 2 अप्रैल को 234 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। अब तक जिले में 909 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। जिले में गुरूवार को 263 लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। स्क्रीनिंग की कुल संख्या 2 हजार 566 हो गई है। इसी प्रकार वीडियो कॉल के माध्यम से लोगों को नियमित रूप से चिकित्सीय परामर्श दिया जा रहा है। अब तक 435 से अधिक लोगों ने वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श प्राप्त किया है। कंट्रोल रूम में 24 घंटे चिकित्सक उपस्थित रहकर आने वाले वीडियो कॉल के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श प्रदान कर रहे हैं।

होम क्वारंटाइन के लिये स्थान चिन्हित किए गए

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने यह भी बताया कि ग्वालियर जिले में होम क्वारंटाइन एवं आईसोलेशन के लिये भी स्थान चिन्हित किए गए हैं। गुरूवार को पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन, नगर निगम आयुक्त श्री संदीप माकिन, अपर कलेक्टर श्री अनूप कुमार सिंह के साथ साडा क्षेत्र के नर्सिंग कॉलेज, स्कूलों का भी निरीक्षण कर होम क्वारंटाइन सेंटर एवं आईसोलेशन वार्ड के लिये स्थान नियत किए गए हैं। इन स्थानों पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें भी सुनिश्चित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं।

कलेक्टर श्री सिंह ने अधिकारियों के साथ साडा क्षेत्र के रामकृष्ण नर्सिंग कॉलेज, खालसा कॉलेज, सारथी इंटरनेशनल स्कूल, डिवाइन इंटरनेशनल कॉलेज के साथ ही विमानतल के समीप स्थित श्रम विभाग के हॉस्टल का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान सभी केन्द्रों को भविष्य के लिये आईसोलेशन वार्ड एवं क्वारंटाइन सेंटर के रूप में तैयार करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों एवं संस्था के प्रबंधकों को दिए गए। कलेक्टर ने सभी सेंटरों पर ठहरने के लिये पलंग, भोजन, पानी एवं सुरक्षा के लिये भी प्रबंध करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। नगर निगम की ओर से सभी चिन्हित स्थलों पर फायर ब्रिगेड के माध्यम से सेनेटाइजेशन करने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

जिले की सीमा नाकों का भी निरीक्षण

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन ने भिण्ड से ग्वालियर मार्ग पर वायुसेना स्टेशन से आगे स्थापित किए गए नाके का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधिकारियों एवं अन्य तैनात अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि आने-जाने वालों पर कड़ी निगरानी रखी जाए। विशेष परिस्थिति में निकलने वाले लोगों के नाम, पते एवं मोबाइल नम्बर भी रजिस्टर में अंकित किए जाएं।

पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन ने भी पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि बिना किसी विशेष परिस्थिति के कोई भी व्यक्ति शहर में प्रवेश नहीं करना चाहिए। पैदल अथवा वाहन पर निकलने वाले सभी लोगों को रोककर पूछताछ की जाए और अनावश्यक भ्रमण करने वालों को तत्काल घर भेजने की कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाए।

पड़ोसी – पड़ोसी का रखे ध्यान

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने जिले के आम नागरिकों से कहा है कि नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए पड़ोसी – पड़ोसी का ध्यान रखे। इस संकट की घड़ी में सभी के सहयोग की अपेक्षा है। जिले के आम नागरिक अनावश्यक रूप से घर के बाहर न निकलें। अपने घर के पास रहने वाले पड़ोसी का भी ध्यान रखा जाए। पड़ोसी को किसी भी प्रकार की आवश्यकता हो तो उसे सहयोग किया जाए। इसके साथ ही पड़ोसी को भी घर में ही रहने की सलाह दें और स्वयं भी घर में ही रहें।

कलेक्टर ने यह भी अपील की है कि अगर आपके पड़ोस में कोई बाहर से आकर रहने लगा है तो उसकी सूचना भी कंट्रोल रूम के माध्यम से दें ताकि उसकी चिकित्सा जांच कराई जा सके। जिले के लोग आपसी समन्वय और सदभाव के साथ कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम हेतु सकारात्मक सहयोग प्रदान करते हुए जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए प्रतिबंधात्मक आदेशों का पालन करे। प्रशासन द्वारा आम जनों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए आवश्यक वस्तुओं की सेवायें प्रदान की जा रही हैं। इसके साथ ही होम डिलेवरी के माध्यम से भी आम लोगों को उनके घरों तक सामान पहुँचाने की व्यवस्था की गई है।

कलेक्टर श्री सिंह ने यह भी कहा कि जरूरतमंदों को भोजन वितरण का कार्य भी जन सहयोग के माध्यम से जिले भर में किया जा रहा है। अनेक सामाजिक, धार्मिक संगठनों और गणमान्य नागरिकों के सहयोग से भोजन पैकेट वितरण के साथ-साथ खाद्य सामग्री के पैकेट वितरण का कार्य भी निरंतर किया जा रहा है। उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से निरंतर खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा है। कंट्रोल रूम के माध्यम से आम लोगों की शिकायतों और स्वास्थ्य संबंधी सभी प्रकार की सुविधाओं को प्रदान करने का कार्य निरंतर किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *