मध्यप़देश:उपचुनावों की तैयारी में जुटी कांग़ेस

प्रदेश में सरकार में हुए उलटफेर के बाद अब ग्वालियर चंबल संभाग में कांग्रेस के संगठन में हेरफेर हो सकती है। ग्वालियर चंबल संभाग में संगठन में कांग्रेस हाईकमान ऐसे नेताओं का कमान देने का सोच रही है, जो सिंधिया को व उनके समर्थकों का ढंग से विरोध कर सकें और सिंधिया के जाने से हुई संगठन को क्षति को पूरा कर सकें। इसके लिए वे ऐसे भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं पर नजर रखे हुए हैं जो सिंधिया के आने के बाद नाखुश हैं और उन्हें संगठन में तवज्जो या टिकट नहीं मिलेगा।
उल्लेखनीय है कि ज्योतिरिादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद प्रदेश की सरकार भी गिर गई है। क्योंकि चंबल ग्वालियर संभाग में सिंधिया का प्रभाव अधिक है। इसलिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस क्षेत्र में ऐसे नेताओं व कार्यकर्ताओं की तलाश कर रहे हैं जो सिंधिया समर्थकों व उनके विधायकों को टक्कर दे सकें। साथ ही संगठन को पुर्नगठित कर सकें।
संगठन में इसलिए होगा बदलावः कांग्रेस से जुड़े लोग बताते हैं कि पहले तो संगठन में बदलाव होगा। क्योंकि संगठन में सभी पदों पर वे नेता व पदाधिकारी हैं जिनकी पहले आस्था सिंधिया में थी। हालांकि वे यू टर्न लेकर वापस कांग्रेस में आ गए हैं। लेकिन संगठन के वरिष्ठ नेताओं को फिलहाल इन पर अधिक विश्वास नहीं है। इसलिए संगठन की कमान भी किसी दूसरे तेज तर्रार नेताओं को दी जाएगी और पदाधिकारी भी उसी तरह से बनाए जाएंगे।
भाजपा के नेताओं पर भी नजरः कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की नजर भाजपा के उन नेताओं पर है, जो सिंधिया के आने से उनसे या उनके समर्थकों से अधिक प्रभावित होंगे। खासतौर से विधानसभा में टिकट वितरण में। इसलिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ऐसे नेताओं पर नजर रखे हुए हैं और हो सकता है कि विधानसभा चुनाव में इन नेताओं को कांग्रेस में शामिल कर कांग्रेस से भाजपा में आए पूर्व विधायकों के सामने मैदान में उतार सके। बताया जाता है कि कुछ नेताओं के साथ तो कांग्रेस संगठन के वरिष्ठ नेताओं की एक दौर की बैठक भी हो चुकी है। ये बैठक ग्वालियर में होना बताया जा रहा है। इन बैठकों का असर आगामी दिनों में दिखाई देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *