सीएम हाउस का हाल / दिग्विजय और संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह सीएम हाउस पर संभाले हैं मोर्चा, बना रहे सत्ता का गणित

भोपाल. राज्यपाल लालडी टंडन द्वारा 16 मार्च को फ्लोर टेस्ट की डेड लाइन तय किए जाने के बाद भोपाल में मुख्यमंत्री निवास पर बैठकों का दौर जारी है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह और संसदीय कार्यमंत्री डॉ. गोविंद सिंह सोमवार सुबह से विधानसभा की कार्यवाही और नियमों के एक-एक बिंदु पर गहनता से विचार कर रहे हैं। दिग्विजय शनिवार देर रात तक सीएम हाउस में हुई बैठकों में शामिल रहे थे।

जयपुर से विधायकों के लौटने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ कैबिनेट मीटिंग के लिए वल्लभ भवन पहुंचे। उनका यहां से विधायकों से मिलने के लिए मैरियट होटल जाने का कार्यक्रम था, लेकिन उनका काफिला बीच रास्ते से ही वापस सीएम हाउस के लिए लौट गया। बताया जा रहा है कि दिग्विजय सिंह के मैसेज के बाद वे जयपुर से लौटे विधायकों से मिलने नहीं गए। मुख्यमंत्री के सीएम हाउस पहुंचने के बाद मैरियट होटल में रुके उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी कमलनाथ ने सीएम हाउस बुला लिया। हरीश रावत ने सीएम हाउस रवाना होने से पहले मीडिया से कहा कि भाजपा लोकतंत्र की हत्या कर रहा है।

कांग्रेस विधायक दल की आज शाम होगी बैठक
कांग्रेस ने रविवार शाम को विधायक दल की बैठक बुलाई है। इसमें सत्र में विपक्ष द्वारा सरकार को घेरे जाने के खिलाफ रणनीति तैयार की जाएगी। इधर, विधायक दल के मुख्य सचेतक और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने पूरे सत्र के लिए व्हिप जारी किया है। इससे अब कांग्रेस विधायकों को सत्र के दौरान पूरे समय उपस्थित रहना अनिवार्य होगा।

बेंगलुरु में विधायकों को बंधक बनाया गया
कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने कहा कि बेंगलुरु में विधायकों को बंधक बनाकर रखा गया है। भाजपा बार-बार एक ही बात कह रही है कि विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है, यह बात उन्होंने टीवी पर कही है। विधानसभा स्पीकर ने सभी विधायकों को सामने आकर अपनी बात रखने को कहा है, लेकिन भाजपा उन्हें आने नहीं दे रही। उन्होंने कहा कि सरकार अल्पमत में नहीं है। बंधकों की पीठ के पीछे बंदूक रखवाकर कुछ भी बुलवा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *