कोरोना का रौद्र रूप, चीन में 121 और मौत के साथ आंकड़ा 1500 के पार, जापान में पहली मौत

चीन से शुरू हुआ कोरोना अब दुनिया के कई देशों में कहर बरपा रहा है. कोरोना से जापान में पहली मौत हुई है. जापान के स्वास्थ्य मंत्री ने पुष्टि की है कि वहां एक 80 साल की महिला की कोरोना वायरस से मौत हुई है. जबकि चीन में मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. कोरोना से चीन में मृतकों की संख्या 1300 के पार पहुंच गई है.

कोरोना (COVID-19) दुनिया के दूसरे देशों में भी रौद्र रूप लेता जा रहा है. जापान में कोरोना से पहली मौत की पुष्टि हुई है. समाचार एजेंसी पीटीआई ने वहां के स्वास्थ्य मंत्री कात्सुनोबू कातो के हवाले से बताया कि एक 80 साल की महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसकी मौत हो गई है. मौत के बाद कोरोना जांच रिपोर्ट में पता चला कि रिपोर्ट पॉजिटिव है. वह महिला टोकियो की सीमा की रहने वाली थी. इससे पहले चीन के बाहर हांगकांग और फिलीपींस में एक-एक मौत हो चुकी है.

जापानी क्रूज पर 218 कोरोना से संक्रमित, 2 भारतीय भी

उधर, जापान के योकोहामा तट पर खड़े डायमंड प्रिंसेस क्रूज पर कोरोना के 28 नए मामलों की पुष्टि हुई है. इस तरह क्रूज पर कोरोना के कुल 218 मामले सामने आ चुके हैं. साथ ही क्रूज पर तैनात कुछ अधिकारी भी इससे संक्रमित हो गए हैं. बता दें कि इस क्रूज पर कुल 3711 लोग एक सप्ताह से फंसे हुए हैं. इस क्रूज पर हांगकांग से सवार हुए एक शख्स में सबसे पहले कोरोना वायरस के लक्षण सामने आए थे. क्रूज में कुल 138 भारतीय नागरिक भी मौजूद हैं. दो भारतीयों में कोरोना की जांच पॉजिटिव आई है. भारतीय एंबेसी जापान प्रशासन के साथ संपर्क में है.

चीन में कोरोना से अबतक 1367 लोगों की मौत

चीन में बढ़ते मौत के आंकड़ों से पूरी दुनिया में दहशत है. वहां 31 प्रांतों में कोरोना ने पैर पसार लिए हैं. इनमें सबसे ज्यादा हुबेई प्रांत का वुहान शहर प्रभावित है. कोरोना वायरस यहीं से शुरू हुआ था. चीन में कोरोना से अबतक 1367 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कन्फर्म केस की संख्या 60 हजार के पार पहुंच चुकी है. गुरुवार को अबतक की एक दिन में सबसे ज्यादा 254 मौतें हुईं. उधर, कोरोना वायरस का असर बार्सिलोना में होने वाली मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस (MWC 2020) पर भी पड़ा है. 24 से 27 फरवरी तक होने वाले इस आयोजन को रद्द कर दिया गया है.

भारत में कोरोना से निपटने की क्या है तैयारी?

कोरोना वायरस के खतरे को लेकर केंद्र सरकार बहुत सतर्क है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर एक उच्च स्तरीय मंत्री समूह (GOM) बनाया गया है. यह समूह देश में नोवेल कोरोना वायरस के प्रबंधन के लिए उठाए जाने वाले कदमों और तैयारियों पर निगरानी रखेगा और वक्त-वक्त पर स्थिति की समीक्षा करेगा. नोवेल कोरोना वायरस को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने COVID-19 का नाम दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *